विनोद शर्मा के मीडिया हाउस से दूर रहें स्वाभिमानी पत्रकार!

: ”नो वन किल्ड जेसिका” के बहाने एक टिप्पणी : मीडिया के गले में पट्टा डाल घुमाने पर आमादा मनु का बाप : हरियाणा के एक कांग्रेसी मंत्री के पुत्र द्वारा की गई जेसिका की हत्या पर आधारित फिल्म ‘नो वन किल्ड जेसिका’ राजनेताओं द्वारा सत्ता व पैसे की ताकत के खुले दुरूपयोग की कहानी है। इस फिल्म में रानी मुखर्जी एक पत्रकार की भूमिका में हैं और स्टिंग के जरिए जेसिका कांड में न्यायालय द्वारा बेकसूर ठहराए गए अपराधी मनु शर्मा को एक बार फिर सलाखों के पीछे पहुंचा देती हैं। ‘नो वन किल्ड जेसिका’ हमारे सिस्टम पर करारा तमाचा है।

मनु को जेल की रोटी से मुक्ति नहीं

[caption id="attachment_17307" align="alignleft"]मनु शर्मा : मायूसी में बदल गई ये मुस्कराहटमनु शर्मा : मायूसी में बदल गई ये मुस्कराहट[/caption]काम न आया पैसा और पावर : मीडिया हाउस खोलना भी हुआ बेकार : पैसा, पावर, प्रभुता सब कुछ है उनके पास. पर ये सब उनके किसी काम न आया. लोकतंत्र की ताकत ने उन्हें उनकी औकात बता दी. मीडिया की ताकत ने उनके गुरुर को तोड़ डाला. बात हो रही है मनु शर्मा एंड फेमिली की. दारू खत्म होने की बात कह देने पर मॉडल जेसिका लाल के माथे पर गोली मार देने वाले मनु शर्मा की उम्र कैद की सजा को सुप्रीम कोर्ट ने भी कायम रखने का फैसला सुना दिया है. अब जेल काटने के अलावा मनु शर्मा के पास कोई विकल्प नहीं रह गया है.

समस्याएं और भी हैं, मनु एंड फेमिली के सिवा

श्वेता रश्मिधीरज जी ने मीडिया और सरकार को आड़े हाथो लेते हुए काफी कुछ लिखा है पर वो जल्दबाजी में एक गलती कर गए. मनु शर्मा उर्फ सिद्धार्थ वशिष्ठ के मामले में मनु को पैरोल मिली, यह बात सही है पर सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को कब फटकार लगाई, यह बात धीरज ही बता सकते हैं? कोर्ट में अभी तक पैरोल को लेकर कोई पत्र नहीं दाखिल किया गया है. किसी भी जुर्म में दोषी व्यक्ति, जिसको कोर्ट ने सजा सुना रखी है, उसके पैरोल पर विचार करने का अधिकार राज्य सरकार के पास सुरक्षित होता है और इसी अधिकार के तहत मनु को दिल्ली सरकार के द्वारा पैरोल पर बाहर जाने की इजाजत मिली. हाई कोर्ट ने सरकार से तिहाड़ में बंद बंदियों की विचाराधीन पैरोल याचिका की सूचना मांगी थी, न कि खास तौर सिर्फ मनु शर्मा की.

मनु शर्मा का पैरोल और मीडिया

मनु शर्मापैरोल नियमों के उल्लंघन मामले में दोबारा विवादों में आए जेसिका लाल हत्याकाण्ड के मुख्य अभियुक्त मनु शर्मा ने मंगलवार 10 नवंबर को खुद ही तिहाड़ जेल में आत्मसमर्पण कर दिया। मनु शर्मा दो माह के पैरोल पर था। पैरोल की अवधि 22 नवम्बर तक थी लेकिन पैरोल शर्तों के उल्लंघन की हो रही चौतरफा आलोचना को देखते हुए वह खुद ही जेल वापस लौट गया। मीडिया इसे अपनी बड़ी जीत मान रहा है। लेकिन इस विवाद के कई अनदेखे पहलू हैं जिन पर ध्यान दिया जाए तो पता चलेगा कि क्या यह वास्तव में मीडिया की जीत है या फिर कुछ और? दरअसल मनु को 23 सितंबर को ही पैरोल पर जाने की इजाजत मिल गई थी। उस वक्त किसी अदने से अखबार या टीवी चैनल में इसकी कोई छोटी-मोटी खबर तक नहीं आई। जैसा कि मीडिया रिपोर्ट भी बता रहे हैं, मनु हरियाणा विधानसभा चुनाव में खुलेआम अपने पिता का प्रचार करता घूम रहा था। तो क्या उस वक्त किसी अखबार या टीवी के रिपोर्टर को वह नजर नहीं आया? मनु हरियाणा के धनाढ्य राजनेता विनोद शर्मा का बेटा है और एक नवोदित मीडिया समूह का मालिक भी। आम आदमी के मन में यह सवाल उभर सकता है कि क्या उस समय यह खबर ‘मैनेज’ कर दी गई थी? मीडिया को इसका जवाब देना होगा।

पैरोल पर रिहा मनु शर्मा को मीडिया ने फिर ‘पकड़ा’

मनु शर्मान्यूज चैनल ‘इंडिया न्यूज’, हिंदी दैनिक ‘आज समाज’ और हिंदी मैग्जीन ‘इंडिया न्यूज’ को संचालित करने वाली कंपनियों के चेयरमैन और कांग्रेसी नेता विनोद शर्मा के पुत्र मनु शर्मा के बारे में खबर आ रही है कि वे दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित की सिफारिश और उप राज्यपाल तेजिंदर खन्ना की संस्तुति के बाद तिहाड़ जेल से पैरोल पर रिहा हो गए हैं। पहले वे एक महीने के लिए रिहा हुए थे लेकिन शीला दीक्षित की सिफारिश पर उप राज्यपाल ने उनके पैरोल अवधि को एक महीने और (22 नवंबर तक) बढ़ा दिया है। आज तक न्यूज चैनल की खबर पर भरोसा करें तो मनु शर्मा को पैरोल पर रिहा मां शक्ति रानी के बीमार होने के चलते उनकी देखभाल के उद्देश्य से किया गया लेकिन मनु शुक्रवार की देर रात दिल्ली के एक पांच सितारा होटल में मौज-मस्ती करते पाए गए।

चार चैनल, 12 एडिशन लाएंगे : कार्तिक शर्मा

[caption id="attachment_15864" align="alignleft"]कार्तिक शर्मा, प्रबंध निदेशक, इंडिया न्यूजकार्तिक शर्मा, प्रबंध निदेशक, इंडिया न्यूज[/caption]‘इंडिया न्यूज हरियाणा’ लांच : ‘इंडिया न्यूज’ का नया रीजनल न्यूज चैनल ‘इंडिया न्यूज हरियाणा’ कल लांच कर दिया गया। हरियाणा में हो रहे विधानसभा चुनाव के मौके का इस्तेमाल नए न्यूज चैनल को घर-घर में लोकप्रिय बनाने के लिए किया जा रहा है। इसी कारण चैनल को आनन-फानन में लांच कराया गया। इसी सितंबर माह में चैनल लांच कराने की घोषणा हुई और सितंबर बीतते-बीतते चैनल को आन एयर करा दिया गया। ग्रुप के प्रबंध निदेशक कार्तिक शर्मा की निगरानी में सीईओ हरीश गुप्ता और चैनल हेड अमित आर्या की सक्रियता के कारण ‘इंडिया न्यूज हरियाणा’  महीने भर के भीतर लांच हो सका। इस मौके पर भड़ास4मीडिया ने  न्यूज चैनल ‘इंडिया न्यूज’, हिंदी मैग्जीन ‘इंडिया न्यूज’ और दैनिक हिंदी अखबार ‘आज समाज’ के प्रबंध निदेशक कार्तिक शर्मा से समूह की आगे की योजनाओं को लेकर बातचीत की। कार्तिक शर्मा ने जो कुछ कहा, वह इस प्रकार है-