मिडडे में छपी पत्रकार अकेला की दास्तान

मुंबई से प्रकाशित मिडडे अखबार ने पत्रकार ताराकांत द्विवेदी उर्फ अकेला की दास्तान प्रकाशित की है. अकेला ने कहा है कि अगर उनके साथ पुलिस ऐसा बर्ताव कर सकती है तो आम आदमियों की क्या दशा-दुर्दशा ये पुलिस बनाती होगी, सोचा जा सकता है. स्टोरी में अकेला ने पूरा किस्सा बताया है, पढ़िए…

टाइम्‍स ऑफ इंडिया ने बांबे हाई कोर्ट से मांगी माफी

माफी : फ्रंट पेज पर प्रकाशित किया एपोलॉजी :  खबर लिखने वाले सिटी एडिटर को भेजा अहमदाबाद : टाइम्‍स ऑफ इंडिया, मुंबई ने अखबार तथा इंटरनेट पर पब्लिश की गई एक खबर के लिए बांबे हाई कोर्ट से माफी मांगा है. इस माफीनामा को अखबार ने अपने फ्रंट पेज पर छापा है. टीओआई ने माफी मांगते हुए कहा है कि भ्रष्‍टाचार से संबंधित जिस स्‍टोरी को हमने अपने अंकों में छापा था वह सही नहीं थी. इसके कवर करने वाले रिपोर्टर ने आवश्‍यक चीजों की जांच पड़ताल नहीं की और ना ही बांबे हाई कोर्ट के रजिस्‍ट्रार जनरल से इस संबंध में जानकारी प्राप्‍त की.