हरियाणा में होगी देशी-विदेशी फिल्‍मों की धूम

: एक अक्‍टूबर से शुरू होगा तीसरा अन्‍तर्राष्‍ट्रीय फिल्‍म महोत्‍सव : कई नामी-गिरामी फिल्‍मी हस्तियां रहेंगी मौजूद : डीएवी गर्ल्‍स कॉलेज, यमुनानगर में 1 अक्‍टूबर से आयोजित तीसरे हरियाणा अंतर्राष्‍ट्रीय फिल्‍म समारोह में भारतीय फिल्‍म जगत की कई बड़ी हस्तियां शिरकत करेंगी। समारोह के निदेशक अजित राय ने बताया कि इसमें भारत और विदेशों की लगभग 50 फिल्‍में दिखाई जायेंगी। उन्‍होंने कहा कि इस फेस्टिवल का उद्घाटन दादा साहेब फाल्‍के अवार्ड से सम्‍मानित सुप्रसिद्ध फिल्‍मकार अडूर गोपालकृष्‍णन करेंगे।

जिस ओम पुरी को आप नहीं जानते

आलोक तोमरओम पुरी पंद्रह नवंबर को दिल्ली आ रहे हैं। फोन करके उन्होंने बताया कि उनकी पत्नी के ठहरने का इंतजाम रेडीसन होटल में हैं मगर वे मेरे पास ठहरेंगे। तो क्या वे अपनी पत्नी नंदिता का सामना नहीं करना चाहते? उनके बारे में लिखी गई नंदिता की किताब का विमोचन एक भव्य समारोह में होगा और केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री कपिल सिब्बल उसके कुछ पन्नों का पाठ भी करेंगे। कपिल सिब्बल की आवाज बहुत कड़क हैं और उस आवाज में नंदिता की शानदार अंग्रेजी सुनना कम कमाल का नहीं होगा। वहां ओम पुरी भी मंच पर रहेंगे और पूरी उम्मीद है कि कपिल सिब्बल उनके स्त्री प्रसंगों वाले अध्यायों का पाठ नहीं करेंगे। वैसे कपिल सिब्बल खुद भी काफी रसिया हैं मगर फैसला नंदिता को करना है। नंदिता कह रही हैं कि वे खाना खाने घर आएंगी। उनका स्वागत है मगर अपन भी पति-पत्नी के बीच आतिशबाजी देखने के लिए तैयार हैं। आखिर ओम पुरी मामूली आदमी नहीं है। बहुत छोटे से गांव से निकल कर लंदन में सर बनने तक और हॉलीवुड के सितारों की बराबरी करने तक ओम पुरी ने एक लंबा सफर किया है। उनकी जिंदगी में स्त्री प्रसंग से ज्यादा बहुत कुछ है। एक बार जब मुंबई में उनके त्रिशूल अपार्टमेंट गया तो दरवाजा खोलते ही उन्होंने फिर से लिफ्ट में बिठाया और नीचे पार्किंग में ले गए। उन्होंने मारुति-1000 मॉडल की गाड़ी खरीदी थी।

नंदिता की पत्रकारिता पर ओम पुरी का गुस्सा

[caption id="attachment_16246" align="alignleft"]आलोक तोमरआलोक तोमर[/caption]नंदिता पुरी से मेरी और ओमपुरी की मुलाकात एक साथ, एक ही दिन कोलकाता में ‘सिटी ऑफ ज्वॉय’ की शूटिंग के दौरान एक भीड़ भरी रोड पर हुई थी। ओमपुरी रिक्शा वाला बने थे मगर ठहरे पांच सितारा होटल ‘ग्रांड’ में थे। उस जमाने की सबसे लंबी कारों में से एक कोंटेसा में ओमपुरी और मैं जब होटल पहुंचे तो नंदिता इंतजार कर रहीं थीं। वे उस समय बांग्ला दैनिक ‘आजकल’ में काम करती थीं और ओमपुरी का एक लंबा इंटरव्यू उन्होंने कई किश्तों में लिया था। जाते-जाते नंदिता ने ये भी कहा था कि आप पर किताब लिखनी है। ओमपुरी ने चलते अंदाज में कह दिया था कि उसका भी वक्त आएगा। उन दिनों ओमपुरी हमारे दोस्त अन्नू कपूर की बहन सीमा कपूर के एकतरफा प्यार में गले तक डूबे हुए थे और सच यह है कि सीमा उन्हें भाव नहीं दे रही थी। सीमा उस समय दिल्ली में मेरे साथ ही रहती थी और एक दिन रात दस बजे के आस पास ओमपुरी ने कोलकाता से फोन किया, सीमा कुछ लिख रही थी और ओमपुरी ने परम निवेदन की मुद्रा में कहा कि तुम्हारी तो दोस्त हैं, मैं बहुत प्यार करता हूं, शादी की सेटिंग करवा दो ना यार…।