प्रकाश जावड़ेकर से कोई अपेक्षा करना ज्यादती

[caption id="attachment_15488" align="alignleft"]प्रकाश जावड़ेकरप्रकाश जावड़ेकर[/caption]प्रेस काउंसिल के सदस्य मनोनीत हुए भाजपा प्रवक्ता : भाजपा नेता प्रकाश जावड़ेकर भारतीय प्रेस परिषद (प्रेस काउंसिल आफ इंडिया) के सदस्य बनाए गए हैं। उनका मनोनयन उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी ने किया। प्रकाश जनवरी 2011 तक प्रेस काउंसिल के सदस्य रहेंगे। 1978 में प्रिंट मीडिया की निगरानी के लिए गठित प्रेस काउंसिल आफ इंडिया अब तक दिखाने का दांत ही साबित हुआ है। एक्शन का अधिकार न होने से पीसीआई के निर्देशों, सलाहों को बड़े अखबार मानते नहीं। इसके चलते धीरे-धीरे पूरी मीडिया से ही प्रेस काउंसिल के नाम से कोई अच्छा-बुरा असर पड़ना बंद हो गया। हाल-फिलहाल, पैसे लेकर खबर प्रकाशित करने के मुद्दे पर पीसीआई के चेयरमैन जीएन रे ने जांच समिति बनाकर दोषी अखबारों के खिलाफ कार्रवाई की बात कही है। इससे मीडिया के पतन से विचलित बुद्धिजीवियों में एक उम्मीद जगी है। लेकिन पीसीआई द्वारा कोई कार्रवाई वाकई हो पाएगी, यह कह पाना मुश्किल है। प्रकाश जावड़ेकर, जो कि भाजपा के प्रवक्ता भी हैं, पीसीआई में जाकर कोई क्रांति कर पाएंगे, इस संस्था को धारदार बनाने में मदद कर पाएंगे, कम ही उम्मीद है। वजह है उनका मीडिया को मिलाकर चलने वाला स्वभाव, जो कि आमतौर पर पार्टी प्रवक्ताओं का होता है।