सर्वेश्वरदयाल सक्सेना होने के मायने

[caption id="attachment_18094" align="alignleft" width="94"]सर्वेश्वर जीसर्वेश्वर जी[/caption]: जयंती (15 सितंबर, 1927) एवं पुण्यतिथि (23 सितंबर, 1983) पर विशेष : सर्वेश्वर दयाल सक्सेना का समूचा व्यक्तित्व एक आम आदमी की कथा है। एक साधारण परिवार में जन्म लेकर अपनी संघर्षशीलता से असाधारण बन जाने की कथा इसी सर्वेश्वर परिघटना में छिपी है। वे आम आदमी से लगते थे पर उनके मन में बड़ा बनने का सपना बचपन से पल रहा था। वे हमेशा संघर्षों की भूमि पर चलते रहे, पर न झुके न टूटे न समझौते किए।