Shekhar, this is not fair…

The war has started. It’s between ‘The Hindu’ and ‘The Indian Express’ newspapers, this time. While I am strongly questioning the retiring age of M.K.Razdan, CEO & Editor-in-Chief of news agency Press Trust of India, a similar sword now hangs before another top gun in the Indian media. The Indian Express published a bottom story, throwing this serious question before N.Ram, the Editor-in-Chief of The Hindu and Group Publications and Director of Kasturi & Sons Ltd., with his photo captioned “No retirement age: N.Ram”.

राम भड़के तो एक्सप्रेस वाले पीछे पड़े

एक्सप्रेस समूह वाले तो एन. राम और ‘दी हिंदू’ अखबार के पीछे पड़ गए लगते हैं. कुछ लोग कह रहे हैं कि देश में अंग्रेजी में दो ही सर्वाधिक प्रतिष्ठित अखबार हैं, एक ‘दी हिंदू’ और दूसरा ‘दी इंडियन एक्सप्रेस’. इन अखबारों के जो सर्वाधिक चर्चित दो नाम हैं वे हैं- इंडियन एक्सप्रेस के एडिटर इन चीफ शेखर गुप्ता और ‘दी हिंदू’ के एडिटर इन चीफ एन. राम. शेखर गुप्ता और एन. राम में अगर तुलना की जाए तो कई मामलों में एन. राम लोकप्रियता में बाजी मारते दिखते हैं. दिल्ली में न रहने के बावजूद, चेन्नई से दी हिंदू की कमान संभाले एन. राम की खरी-खरी लंबे समय तक पाठकों तक पहुंच रही है. वे सिर्फ अखबार के एडिटर इन चीफ ही नहीं हैं बल्कि पब्लिशर व डायरेक्टर भी हैं.

‘द हिंदू’ में घमासान, कौन होगा नया एन. राम!

[caption id="attachment_17176" align="alignleft" width="99"]एन. रामएन. राम[/caption]पब्लिशर व ग्रुप एडिटर इन चीफ के रिटायर होने की संभावना देख उनकी कुर्सी के लिए परिजनों में जंग : इंडियन एक्सप्रेस में आज प्रकाशित खबर से देश के सर्वाधिक पुराने व सर्वाधिक प्रतिष्ठित अखबारों में से एक ‘द हिंदू’ को संचालित करने वाली कंपनी ”कस्तूरी एंड संस लिमिटेड” के कर्ताधर्ताओं में अखबार पर नियंत्रण को लेकर ‘महाभारत’ होने की जानकारी मिली है. अंग्रेजी दैनिक ‘द हिंदू’ व अंग्रेजी बिजनेस डेली ‘द हिंदू बिजनेस लाइन’ के पब्लिशर व ग्रुप एडिटर इन चीफ एन. राम अपनी बढ़ती उम्र के कारण रिटायर होने वाले हैं. यह संभावना देख उनके परिजन एन. राम की कुर्सी हथियाने के लिए दांव-पेंच चल रहे हैं. पूरी स्टोरी ये है…