वे बोले- ऐसे लिखेंगे तो काम नहीं चलेगा

पत्रकारिता की पढ़ाई पूरी करने के बाद नौकरी की समस्या आन पड़ी थी। संपर्क और संबंध इतने अच्छे नहीं थे कि इसके आसानी से हासिल होने की कोई गुंजाईश रहती। सो, फक्कड़ की तरह भटकते रहने के दौरान डेटलाइन इंडिया का नाम सुना। उसके संचालक आलोक तोमर हैं, यह भी पहली बार जाना। मुलाकात से पहले मन में कई तरह के सवाल थे। पहला सवाल तो यह था कि जिस व्यक्ति के बारे में इतना सब कुछ जानता हूं उससे कितनी विनम्र बातचीत हो पाएगी और अगर गड़बड़ी हुई तो यह संभावना भी जाती रहेगी।

ईशमधु और विभूति सम्मानित होंगे

ईशमधु तलवारराजस्थान के वरिष्ठ पत्रकार ईशमधु तलवार को कोलकाता में ‘बेस्ट जर्नलिस्ट आफ द ईयर’ से सम्मानित किया जाएगा। अवसर होगा ‘प्रशाद पत्रिका’ के 42वें वार्षिकोत्सव का। ‘प्रशाद पत्रिका’ के संपादक हिमांशु चटर्जी ने बताया कि विशेष रूप से गठित की गई एक समिति ने तलवार के नाम की सिफारिश की है। सम्मान समारोह 24 जुलाई 09 को शाम चार बजे कोलकाता के मोउलाली युवा केन्द्र में आयोजित किया जाएगा।

बहादुरी के लिए विभूति रस्तोगी सम्मानित

bibhuti rastogiपत्रकार विभूति रस्तोगी की बहादुरी के चलते उन्हें सम्मानित किया गया। आनंद विहार के पास रात में कुछ बदमाश एक युवा व्यापारी को खींचकर सड़क के नीचे नाले के पास ले जाते हैं और उसे लूटने के बाद जान से मारने की कोशिश करते हैं। इस पूरे घटनाक्रम के दौरान सड़क पर आने-जाने वालों ने रुककर मदद करने में कोई रुचि नहीं दिखाई। विभूति ने यह सब देखा तो तुरंत सक्रिय हुए और पुलिस के साथ मिलकर व्यापारी को बचाने में कामयाबी हासिल की। विभूति रस्तोगी दैनिक जागरण, दिल्ली में रिपोर्टर हैं।