अमरकांत को ‘इन्हीं हथियारों से’ के लिए व्यास सम्मान

प्रख्यात हिंदी साहित्यकार अमरकांत को प्रतिष्ठित व्यास सम्मान के लिए चुना गया है। उन्हें उनकी चर्चित कृति ‘इन्हीं हथियारों से’ के लिए यह सम्मान दिया जाएगा। अमरकांत को इसी पुस्तक के लिए 2007 में साहित्य अकादमी पुरस्कार से भी नवाजा जा चुका है।

स्वतंत्रता आंदोलन की पृष्ठभूमि पर रचित यह उपन्यास बलिया जिले की ग्रामीण पृष्ठभूमि पर आधारित है। अमरकांत (85) पूर्वी उत्तर प्रदेश के बलिया जिले के भगदलपुर गांव में पैदा हुए हैं। व्यास सम्मान की स्थापना केके बिड़ला फाउंडेशन द्वारा की गई है।

Comments on “अमरकांत को ‘इन्हीं हथियारों से’ के लिए व्यास सम्मान

  • उमेश चतुर्वेदी says:

    भगदलपुर नहीं, भगमलपुर में अमरकांत का जन्म हुआ था। यह नगरा के पास है।

    Reply
  • govindmathur says:

    Amar Kant Ji ko Vyas Samman ke liye chayanit karna Vivek purn nirnya hai. Is se Vyas samman ki pratishtha hi badegi. Amar Kant ji ko badhai.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *