इलाहाबाद में गोली मारकर प्रधान पति की हत्‍या

इलाहाबाद। गंगापार के नवाबगंज में अपराध थमने का नाम नहीं ले रहा है। कछार के अकबरपुर उर्फ गंगागंज में दो मार्च को दिनदहाड़े ताबडतोड़ गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया गया। कत्ल के पीछे पुरानी चुनावी रंजिश बताई जा रही है। मृतक के भाई नौशाद ने थाने में एफआईआर दर्ज कराई है। इसमें उसी गांव के ही तीन लोगों को नामजद कराया गया है। पुलिस अफसरों ने मौके पर पहुंचकर लोगों से पूछताछ की। देर शाम तक किसी भी आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया जा सका है।

इब्ने अहमद की पत्नी मेहनाज बानो वर्तमान में अकबरपुर उर्फ गंगागंज की प्रधान है। इसके पहले खुद इब्ने अहमद भी ग्रामप्रधान चुना गया था। इब्ने अहमद पर जानलेवा हमला उस समय किया गया जब वह मनरेगा के तहत ग्रामपंचायत के मजरे गंगागंज में खडंजा मार्ग और नाली का निर्माण करा रहा था। दोपहर करीब एक बजे इब्ने अहमद गांव के ही दशाराम पटेल के दरवाजे पर बैठा था तभी तीन युवक वहां आए और रायफल-तमंचा निकाल कर इब्ने पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। फायरिंग होते ही वहां भगदड़ मच गई। घटना को अंजाम देने के बाद हमलावर हवा में फायरिंग करते हुए मौके से भाग निकलने में कामयाब रहे।
 
उधर, फायरिंग की आवाज सुनकर मौके पर ग्रामीण आ जुटे। इब्ने ने घटनास्थल पर ही दम तोड़ दिया। उसके गले के पीछे और पेट के हिस्से में गोली लगी थी। घटना की सूचना पाकर परिजन भी मौके पर आ गए। पुलिस को जानकारी दी गई। नवाबगंज पुलिस ने लाश का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। वारदात स्थल पर सोरांव के सीओ राहुल मिश्र, एसपी गंगापार शफीक अहमद कई थाने की फोर्स लेकर मौके पर पहुंचे। मृतक इब्ने अहमद चार भाइयों में दूसरे नंबर पर था। इब्ने के तीन बेटे और तीन बेटियां हैं। इस घटना में उसी गांव के सउद फैसल, शेरे और राशिद को नामजद किया गया है। नवाबगंज एसओ आदित्य कुमार सिंह ने बताया कि घटना की जांच की जा रही है।

इलाहाबाद से शिवाशंकर पांडेय की रिपोर्ट।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *