आई-नेक्‍स्‍ट ने गलती की है या मानसिक उत्‍पीड़न!

आईनेक्‍स्‍टअभिषेक त्रिपाठी व अचलेन्द्र कटियार को आई-नेक्‍स्‍ट को बॉय बोले काफी दिन व्यतीत हो चुके हैं, लेकिन आई-नेक्‍स्‍ट प्रबंधन यह मानने के लिये तैयार नहीं है। अचलेन्द्र कटियार ने आज समाज व अभिषेक त्रिपाठी ने जनसंदेश, कानपुर ज्वाइन कर लिया है। अभिषेक व अचलेन्द्र को मनाने की काफी कोशिश आई-नेक्‍स्‍ट प्रबन्धन द्वारा की गयी, जिसमें उन्‍हें सफलता नहीं मिली। अब आई-नेक्‍स्‍ट द्वारा दूसरे तरीके के हथकंडे अपनाए जाने लगे हैं।

अचलेन्द्र को जहां डराने-धमकाने का काम हो रहा है, वहीं अभिषेक त्रिपाठी के विरुद्ध साजिश हो रही है, जिसका प्रत्य‍क्ष उदाहरण आज के आई-नेक्स्ट अखवार में दिखाई दे रहा है। अभिषेक को आई-नेक्‍स्‍ट छोड़े एक सप्ताह से अधिक हो गया है, जिससे संबंधित खबर भड़ास पर भी आ चुकी है। आज के आई-नेक्स्ट अखबार में एक खबर ”अभिषेक त्रिपाठी” के नाम से प्रकाशित की गई है। यानी यह खबर बाईलाइन लगाई गई है (खबर साथ में सलग्‍न है)। अब इसको आई-नेक्स्ट अखबार की गलती माना जाए अथवा जानबूझ कर किया जा रहा मानसिक उत्‍पीड़न।

आईनेक्‍स्‍ट

एक पत्रकार द्वारा भेजे गए पत्र पर आधारित.

अपने मोबाइल पर भड़ास की खबरें पाएं. इसके लिए Telegram एप्प इंस्टाल कर यहां क्लिक करें : https://t.me/BhadasMedia

Comments on “आई-नेक्‍स्‍ट ने गलती की है या मानसिक उत्‍पीड़न!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *