आर्यन और मौर्य टीवी में वरिष्‍ठों को लेकर कयासों का दौर

पटना की मीडिया में अफवाहों और कयासों का दौर तेजी से हावी है. दो चैनलों को लेकर तरह-तरह की चर्चाएं उड़ रही हैं. हालांकि आधिकारिक रूप से इन बातों को नकारा जा चुका है, पर माना जा रहा है कि कहीं आग है तभी इस तरह का धुंआ उड़ रहा है. पहली चर्चा आर्यन टीवी से है. यहां कंसल्टिंग एडिटर के रूप में आए राकेश शुक्‍ला को लेकर कयासों का दौर जारी है. फिलहाल वो पटना से बाहर हैं. इसलिए उनके जाने की चर्चाएं की जा रही हैं.

कहा यह भी जा रहा है कि वो आर्यन टीवी के ब्‍यूरो आफिसों को चुस्‍त दुरुस्‍त करने में जुटे हुए हैं, इसलिए पटना से बाहर हैं. पर कार्यालय के अंदर उनको लेकर तरह-तरह की चर्चाएं हैं. कहा जा रहा है कि आर्यन का स्‍तर उनके कद के अनुरूप नहीं है, लिहाजा वो खुद अब यहां रहना नहीं चाहते हैं. वे जल्‍द ही इस संस्‍थान से विदाई ले लेंगे, कोई कह रहा है कि वो इस संस्‍थान से विदा हो चुके हैं, पर आधिकारिक बात का जहां तक सवाल है तो खबर है कि वो अभी भी जुड़े हुए हैं. यह अफवाह ऐसे लोगों द्वारा फैलाई जा रही है जो नहीं चाहते कि वो यहां रुकें.

अब दूसरी खबर मौर्य टीवी से जुड़ी है. यहां भी चर्चा है कि चैनल को हेड कर रहे राजेश कुमार को भी जाने को कह दिया गया है. राजेश अब दूसरे चैनलों में अपना डेरा डंडा जमाने की कोशिश में जुटे हुए हैं. कहा जा रहा है कि वे आर्यन के साथ जुड़ सकते हैं क्‍योंकि राकेश शुक्‍ला की विदाई की खबरें वहां तैर रही हैं. मौर्य से अनुरंजन के जुड़ने की चर्चा काफी तेज है. अनुरंजन भी सीएनईबी से इस्‍तीफा देने के बाद खाली हैं. इस लिए इन कयासों को बल मिल रहा है. पर सभी मामलों में आधिकारिक तौर पर बात की जाए तो सभी ऐसी किसी भी कयासबाजी को नकारा है. दोनों चैनलों में यथास्थिति बनी हुइ है यानी न कोई आने वाला है और न कोई जाने वाला है.

पर माना जा रहा है कि अगर इस तरह की बातें हवा में उड़ रही हैं तो कुछ प्रतिशत सच्‍चाई तो होगी ही, भले ही वो अभी सामने न आए पर आगे ऐसा देखने को मिल सकता है. वैसे भी पिछले कुछ महीनों में पटना की मीडिया में जितनी हलचल देखने को मिली है, उससे इन आशंकाओं को बल मिलता है. अब देखना है कि यहां उड़ने वाला कयासों के धुंए के पीछे आग भी जल रही है या फिर यह बस गर्द-गुब्‍बार ही है.

एक पत्रकार द्वारा भेजा गया पत्र.

अपने मोबाइल पर भड़ास की खबरें पाएं. इसके लिए Telegram एप्प इंस्टाल कर यहां क्लिक करें : https://t.me/BhadasMedia

Comments on “आर्यन और मौर्य टीवी में वरिष्‍ठों को लेकर कयासों का दौर

  • इधर खबर है की धनबाद से आर्यन से जुड़े नितेश मिश्रा भी अब आर्यन को छोड़ मोर्य चैनेल का दमन थाम लिया है वे आर्यन में लगातार हो रoहे फेर बदल ओर साही समय से पैसे नही मिलने के कारन आर्यन को अलबिदा कह दिया है ओर अब पूरी तरह से मोर्य चैनेल से जुड़ गया है जिससे अभी धनबाद से आर्यन में कोई भी खबर नही जा रही है

    Reply
  • C Kumar Jha

    Bhadas4media ke marfat mein Aryan Channel ke head post ke liye apply kar raha hoon.Kewal main hi Aryan News ko chala sakti hoon.

    Main sabse pehle yahan se nikamo kee fhoj ko bahar ka rasta dikhunga. Phir channel apne aap raste par aa jayega. maine Sadhna & Sahara ko Bihar ka No. 1 channel banaya hai. Usi tarah Aryan ko bhi no. 1 channel ko taaj dikhunga.

    C K Ja

    Deputy Channel Head

    Reply
  • आर्यन का कोई माँ बाप है ही नहीं. चैनल हेड ऐसे बदलते हैं मानो कोई गंजी जांघिया बदल रहा हो . मालिक अनिल सिंह फरारी जीवन जीते है . जिसको जो मन आता है करता है . चैनल को चाहिए चन्दन झा और अमरजीत को आगे करना ताकि माहौल अनुकूल हो सके . अनिल सिंह यदि नीतीश के स्वजातीय नहीं होते तो अब तक जेल पहुँच जाते . चैनल तो बिना विजन के चल रहा है . चन्दन झा के सिवा बिहार में चैनल के पास कोई चेहरा तक नहीं और टुट पुन्जिये लोग हाथों में माईक लेकर कैमरे के आगे अधकचरा ज्ञान परोसते रहते हैं .फ़ालतू की ख़बरें और विवेक अनुपम के अलावा कोई एंकर तक नहीं . आगे राम ही राखे

    Reply
  • आर्यन का कोई माँ बाप है ही नहीं. चैनल हेड ऐसे बदलते हैं मानो कोई गंजी जांघिया बदल रहा हो . मालिक अनिल सिंह फरारी जीवन जीते है . जिसको जो मन आता है करता है . चैनल को चाहिए चन्दन झा और अमरजीत को आगे करना ताकि माहौल अनुकूल हो सके . अनिल सिंह यदि नीतीश के स्वजातीय नहीं होते तो अब तक जेल पहुँच जाते . चैनल तो बिना विजन के चल रहा है . चन्दन झा के सिवा बिहार में चैनल के पास कोई चेहरा तक नहीं और टुट पुन्जिये लोग हाथों में माईक लेकर कैमरे के आगे अधकचरा ज्ञान परोसते रहते हैं .फ़ालतू की ख़बरें और विवेक अनुपम के अलावा कोई एंकर तक नहीं है जिसकी प्रस्तुति अच्छी हो

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *