एसएसपी ने प्रेस फोटोग्राफरों को भाड़े का टट्टू कहा

आदरणीय यशवंतजी,  मैं आपका ध्यान शनिवार को मुजफ्फरनगर के खतौली कोतवाली में निरीक्षण के लिए आए एसएसपी से जुड़ी घटना की तरफ दिलाना चाहता हूं। एसएसपी प्रवीण कुमार कोतवाली के निरीक्षण पर आए थे। जिस्म फरोशी के एक मामले को लेकर भारतीय किसान यूनियन के नगर अध्यक्ष शाकेब अली बांके मोहल्ला जैन नगर के लोगों के साथ एसएसपी से मिलने के लिए कोतवाली पहुंचे।

एसएसपी ने इन लोगों की बात सुनने के बाद कोतवाल को कार्रवाई का निर्देश दिया। इस पर वापस लौटते समय बांके और अन्य लोगों ने एसएसपी जिंदाबाद के नारे लगा दिए। नारे लगने से अपराधों में लगातार हो रही बढ़ोतरी से परेशान कप्तान का मूड खराब कर दिया तथा उन्होंने शाकेब अली को बुलाकर उसकी जमकर क्लास ली। थाने में कवरेज के लिए खडे़ मीडिया कर्मियों ने इसकी फोटो ले ली। जिससे एसएसपी पूरी तरह बौखला गए तथा उन्होंने पद की गरिमा के विपरीत प्रेस फोटोग्राफरों को भाडे़ का टटटू बता दिया।

जिस समय यह घटना घटी उस समय दैनिक जागरण के संवाददाता बसंत गौतम, अमर उजाला के प्रेस फोटोग्राफर शाहिद अंसारी, हिंदुस्तान के सचिन गुप्ता, सच्चाई अभी तक के संवाददाता सैनी आदि मौजूद थे। एसएसपी की लैंग्वेज से ये सभी मीडिया कर्मी सन्न रह गए। लेकिन किसी की भी हिम्मत एसएसपी द्वारा कहे गए अपशब्दों का विरोध करने की नहीं पड़ी।

दरअसल खतौली में बहुत से संवाददाता प्रशासन के मुखबिर और दलाल बने हुए है तथा ऐसे लोगों के कारण पूरी मीडिया की किरकिरी होती है। शनिवार को घटी घटना के बाद किसी भी मीडिया संगठन ने इसका विरोध तक करने की हिम्मत नहीं की। अखबारों ने भी मीडिया को भाडे़ का टट्टू बताने की एसएसपी की बयानबाजी को लेकर समाचार तक प्रकाशित करना गंवारा नहीं समझा। धन्य हैं खतौली के संवाददाता और कहां तक गिरोगे दोस्तों?

कपिल पाराशर

खतौली

Comments on “एसएसपी ने प्रेस फोटोग्राफरों को भाड़े का टट्टू कहा

  • shailu parashar says:

    khatoli hi nahi sir up k jadatar jilyo m a hi hal h qki verojgari ki bajah se log patkarta ka rasta sirf esi liye apna rahe h ki brastachar k madhyam se polis ki dalali mukhbari chaplusi kar roji roti kama rahe h lalitpur m to tadad itni bad chuki h aise patkaro ki aj 10 ghar chhodkar a patkar bane huwe h esliye nahi ki a desh k liye likhna chahte h esiliye qki a bas apni roji roti kamana chahte h dalali se or sipahiyo ko to baap bana k seer par chada rakha h to ab aisha to hoga hi na ab himat nahi h es brastachar pata nahi q badnam karne chale aate h aise log patkarta ko jo ek ssp kya ab sipahi bhi bolenge kuchh din bad………………..

    Reply
  • amit yadav says:

    jila star per patrkarita ab hoti hi kahan hai ? blackmailing ka dhanda chalya jata hai patrkarita k naam pe.

    Reply
  • vinod mahajan says:

    dost ab adat dal lo koi bi apko ye bolai to usko thankyoun jarur boal dia karo jisai baki pas baithai dalalo or adhikari ko sharam jarur ayegi or mai chahunga ki aap abhi bhi inko thx jarur bolna or yad rakhana ye shabd jo apko bolai gayai hao wo apkai liye ni apkai sansthan ke maliko kai liye hai

    Reply
  • Deepak Mishra says:

    Dear Yaswant Ji
    Muzaffarnagar K Khatauli Kotwali K Nirikshar me SSP Parveen Kumar Ne Jo Kaha Ussey Lagta Hai Ki Unka Mansik Santulan Bigad Gaya Hai.
    Photographer Patrakaro se Is Tarah Koi Baat Karta Hai Kya . Issey Pehley Bhi Yah SSP Parveen Kumar Kai Zilo me Apna Pagal Pan Dikha Chuka Hai.
    Kabhi Wakeelo Ko Pareshan Karta Kabhi Patrakaro Ko.
    Sala Guskhor Hai Ek Number Ka.
    Choota Hai::;

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *