गंगा का कटान रोकने में पत्रकार भी गटक गए लाखों

कांशीरामनगर में गंगा के तटीय क्षेत्र पचलाना के निकट गंगा के कटान को रोकने के लिए गंगा के किनारे स्टट बनाकर बालू की बोरी भरकर लगाए जाने का काम सिंचाई विभाग द्वारा किया जा रहा है। इसके लिये जिलाधिकारी सेल्वाकुमारी जे ने शासन से 1 करोड़ 75 लाख रुपये की धनराशि स्वीकृत कराई। सिंचाई विभाग के अधिकारी पूरे दिन में हजारों रुपये की चपत शासन की धनराशि को लगा रहे हैं।

यहां पर बच्चों से बोरियों के भरने के पैसे देकर कार्य कराया जा रहा है। जो सस्ते में कराया जा रहा है। इसके अलावा बच्चों से कार्य कराना नियम विरूद्ध है। यहां पर कार्य करते समय कई जनपद के कई पत्रकार भी पहुंच गये। सिंचाई विभाग के अधिकारियों ने उन्हें भी लाखों रुपये देकर शांत कर दिया। यहां पर शासन की धनराशि को चपत लगाए जाने का घिनौना खेल अभी भी जारी है। पचलाना के ग्रामीणों का कहना है कि सिंचाई विभाग के अधिकारी सुबह 8 बजे से देर रात्रि तक यहां पर कार्य करवाते हुए देखे जा रहे हैं। इसकी भनक अभी तक जिला प्रशासन तक नहीं पहुंच पाई है। बताया जाता है कि गंगा में बोरी डालने पर डूब जाती है वह दिखाई नहीं देती इसका फायदा अधिकारी अधिक से अधिक उठा रहे है।

Comments on “गंगा का कटान रोकने में पत्रकार भी गटक गए लाखों

  • हाँ यह सत्य है लेकिन सभी पत्रकारों पर दोषा रोपण करना बेमानी होगा, क्योंकि पांचो उंगलिया बराबर नहीं होती ………….कांशीराम नगर में पत्रकारिता का स्तर गिराने में कुछ ज़ाहिल और गैर जिम्मेदार लोग जो पत्रकारिता की परिभाषा तक नहीं जानते उनके हाथ किसी चेंनेल की माइक आईडी मानो बन्दर के हाथ में नारियल ..जो कभी बहन जी के चैंनल के नाम पर पैसा वसूल करता है तो कोई अधिकारीयों का महिमा मंडन कर पैसे बटोरता है ……..अब इस बारे में यही कहा जा सकता है की यदि बिल्ली को दूध की रखवाली पर बैठाया जाएगा तो मैदान सफाचट ही नज़र आएगा ना………………………….. ,

    Reply
  • narendra paliwal, kasganj says:

    काशीराम नगर २०१० में गंगा ने इतना रौद्र रूप धारण किया की जनपद के हजारों लोग गंगा के कहर से कराह उठे… मैंने तो भसावली और ढेलासराय गाँवों को गंगा के बहाब में बहते देखा है.. हजारों लोग बेखर हुए, सैकड़ों लोगों की जान गयी… इस आपदा की घड़ी में समाजसेवियों ने जो बन सका वो इन बाढ़ पीड़ितों को सहारा दिया… ऐसी स्तिथि को रोकने के लिए सरकार ने अगर पैसा मुहैया कराया और उसका भी बन्दर बाँट हो जाए तो पीड़ित लोगों के साथ अन्याय होगा.. आपकी खबर से जनपद के सभी पत्रकारों पर दाग लग रहा है यह उचित नहीं है… अगर आपकी खबर में सच्चाई है तो नाम ओपन कीजिएगा अन्यथा ऐसी खबर को भड़ास में जगह नहीं मिलनी चाहिए….

    Reply
  • Boby Thakut says:

    ftlus Hkh ;g [kcj Hksth gS og lgh Hksth gSA QthZ i=dkj gh bl rjg dh gjdrksa esa yxs gq, gSaA tuin esa dqN ,sls gh i=dkj gS] tks cnek’k fdLe ds gSa] i=dkfjrk dk >kalk nsdj yksxksa dks Bxh dk f’kdkj dj jgs gSaA bl rjg ds QthZ i=dkjksa dh tkap djkdj tsy Hkst nsuk pkfg,A

    ckWch Bkdqj

    Reply
  • pushpendra soni beuru chife kalptaru express kanshi ram nagar says:

    …sharmnak ,ganga ka katan hi nahi yahan to media ke naam par chand farji patrakar loot khasot machaye huae hai ,subeh hote hi suited booted, cemra bagal main dabakar kathit phatrakar bibhagoon ke chakkar lagate hai sham tak murga daru ka intjaam kar hee leten hai unki yahi patrakarita hai

    Reply
  • Boby Thakur, Buero Chief Akinchan Bharat says:

    Jisne bhi ye khabar bheji hai bilkul right hai. Farji Patrakar hi is tarah ki harkato me lage hue hai. Janpad me kuch aise hi patrakar hai, jo badmas kism ke hai. Patrakartita ka rutba dikhakar logo ko dhagi ka shikar bana rahe hai. Is tarah ke farji patrakaro ki janch karakar jail bhej dena chahiye.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *