चैनल मालिक राडिया से बोलता है- मैडम पैसे भिजवा दो, सेलरी के दिन आ गए हैं

न्यूज एक्स को लेकर अब किसी को शक नहीं कि इस चैनल का पूरा कंट्रोल राडिया के हाथों में था. तभी तो जहांगीर पोचा, जो न्यूज एक्स के मालिक हैं, सेलरी के दिन नजदीक आने पर पैसे की गुहार राडिया के यहां लगाते हैं. सेलरी के दिन नजदीक आ जाने और अभी तक चैनल के एकाउंट में पैसे न आने को जहांगीर पोचा एक बड़ा संकट मानते हैं. वो राडिया से बोलते हैं- ही, लिसेन, वी हैव अ बिग प्राब्लम हियर.  आवर सेलरी आर ड्यू बट मनी हैज नॉट कम इन येट.

राडिया पूछती है कि कब सेलरी ड्यू है. तब पोचा कहते हैं- पहली को. राडिया बोलती है- हां तो हो जाएगा फर्स्ट को. मैंने बजट तो भेज दिया है. पूरी बातचीत सुनिए….

There seems to be an error with the player !

Comments on “चैनल मालिक राडिया से बोलता है- मैडम पैसे भिजवा दो, सेलरी के दिन आ गए हैं

  • कमल शर्मा says:

    इन सीधे सीधे चोरों का बायकॉट होना चाहिए और साथ में जेल। चोरवाडे का इससे बड़ा कोई नमूना नहीं हो सकता।

    Reply
  • Vasu Manchanda says:

    yeh radia media ke samne kyoun nahi aati……Tapes media tak pahunch rahi hai….Per media us tak kyon nahi pahunch pa raha…….har jagah per media pahunch jata hai….Us tak kyoun nahi pahunch pa raha media….kya media us tak pahunch payega kabhi….yaan fir sirf tapes hi samne aati rahengi

    Reply
  • चंदन सिंह says:

    9X में नीरा राडिया का पैसा लगा हुआ है….तो कौन सी आफत आ गई भाई साहब..कौन सा चैनल इमानदारी के पैसों से चलता है कोई बताएगा…आजतक हो या स्टार न्यूज, सबके आंगन में दलाली की फसल उगी है…एक पत्रकार होने के नाते अच्छी तरह जानता हूं किस तरह आला पत्रकार सेटिंग के जरिए अपनी दुकान चलाते हैं…

    Reply
  • The truth will never come out as the renowned media professionals themselves are deeply involved and have been making loads of money. Lets wait and watch…

    Reply
  • आज के परिवेश में ये मान लेना की पत्रकारिता ही नही कोई भी बिजनेस ईमानदारी के पैसे से चल रहा है बहुत मुश्किल है. न्यूज़ चॅनेल तो दो नंबर के पैसे को एक नंबर बनाने का एक ज़रिया बन कर रह गया है. चंदन जी के वक्तव्य से मैं पूरी तरह सहमत हूँ. चॅनेल वाले सच को जनता के सामने रखने के बजाय पॉंजीपतियों और भ्रस्त नेताओं और अधिकारियों के दलाली करके अपना उल्लू सीधा करने में लगे हैं और पहली पंक्ति के नये पत्रकार इस चक्की में पिसता जा रहे हैं. नीरा रादिया-नीरा रादिया जप कर मीडीया क्या साबित करना चाहता है. इस हम्माम में सब नंगे हैं. जो पकरा गया वो चोर है नही तो सब सिकंदर हैं.

    विवेक दयाल

    Reply
  • it shows that how media is selling their credibility. it is very shame full for us and what they do who want come in media field. neelesh

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *