जागरण के रिपोर्टर के साथ पत्रकारों ने मारपीट की

देवरिया में दैनिक जागरण के पत्रकार राज नारायण मिश्रा से दूसरे अखबारों से जुड़े पत्रकारों ने मारपीट की. मामला जागरण द्वारा कई विभागों के खिलाफ अभियान चलाए जाने को लेकर था, जिससे स्‍थानीय पत्रकार खफा थे. इस मामले में जागरण से जुड़े एक पत्रकार को काम करने से रोक दिया गया है. राज नारायण ने इस मामले में पुलिस में कोई मुकदमा दर्ज नहीं कराया है.

तीन महीने पहले राजनारायण का तबादला गोरखपुर से देवरिया के लिए किया गया है. उन्‍हें देवरिया के रुद्रपुर तहसील का प्रभारी बनाया गया है. वहां पिछले दिनों जागरण ने गैस की कालाबाजारी एवं स्‍कूल ना जाने वाले अध्‍यापकों को लेकर अभियान छेड़ा था. जिससे अन्‍य अखबारों के पत्रकारों को काफी नुकसान हुआ था. गैस की कालाबाजारी की खबर छपने के बाद पूर्ति निरीक्षक के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज हुआ था. इसे लेकर यहां के स्‍थानीय पत्रकार राज नारायण से काफी खफा थे.

इस संदर्भ में राज नारायण मिश्रा ने बताया कि कल वो बैठे हुए थे तो सुरेंद्र देव मिश्रा, नंद किशोर, संजय साही पहुंचे तथा बातचीत करते हुए अचानक हाथापाई पर उतर आए. सभी ने शराब पी रखी थी. मुझसे गाली ग्‍लौज भी किया गया. चूंकि मेरे खबरों से इन लोगों को काफी नुकसान हो रहा था, लिहाजा इन लोगों ने मुझे नुकसान पहुंचाने से ज्‍यादा बेइज्‍जत करने के इरादे से मारपीट की. उन्‍होंने बताया कि इसके पीछे मेरा एक सहयोगी रमेश शुक्‍ला भी शामिल था,‍ जिसकी जानकारी होने के बाद प्रबंधन ने उसे काम करने से रोक दिया है. राज नारायण ने बताया कि मुझे बाहरी समझकर मुझे डराने की कोशिश की जा रही है.

अपने मोबाइल पर भड़ास की खबरें पाएं. इसके लिए Telegram एप्प इंस्टाल कर यहां क्लिक करें : https://t.me/BhadasMedia

Comments on “जागरण के रिपोर्टर के साथ पत्रकारों ने मारपीट की

  • vishav vijay tripathi says:

    ye janb wahi reporter hai jo Nepal me aayasi karte pakde gaye the. gadhhe par baitha kar inka welcome kiya gaya tha. Sahara se gaban ke aarop me nikale gaye. sayed rudrapur me bhi koi karamat kiye ho.

    Reply
  • Nilambuj mishra says:

    lagta hai reporter saheb kuch jaydi aage niklne ki kosis kar rahe the. do bar aage jane ki kosis me pitne ke bad fir kismat daga de gayi.

    Reply
  • Nilambuj mishra says:

    kitni jagho se badnam ho kar to aap dusri Kasi me sudh hone gaye the] par lagta hai Shiv ji ke gad aapse khus nahi hue. aur aapka tan dhone ke sath man bhi dho diya.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.