जागरण ने छायाकार के पिटने की खबर नहीं छापी, पर समझौते की छाप दी

बदायूं। दैनिक जागरण, बदायूं में तैनात शातिर ब्यूरो चीफ मेधावृत मिश्रा बेशर्मी की सभी हदें पार करते जा रहे हैं, जिसका उदाहरण आज प्रकाशित खबर कही जा सकती है। अपने छायाकार कुलदीप शर्मा को वकीलों द्वारा पीटने की खबर जागरण ने नहीं छापी, पर आज समझौते की खबर छापी गयी है, जिसको लेकर पत्रकारों के साथ आम जनता में भी तरह-तरह की चर्चायें की जा रही हैं।

उल्लेखनीय है कि 17 सितंबर को न्यायालय में वकीलों व एक वरिष्ठ पत्रकार के साथ विवाद हो गया था, जिसमें गिरफ्तार व्यक्ति की जमानत कराने वाले वकील को साथी वकील 19 सितंबर को बुरी तरह से पीट रहे थे, तभी जागरण के छायाकार कुलदीप शर्मा तत्काल मौके पर पहुंच गये और तस्वीरें उतारने लगे, जिस पर वकीलों ने कुलदीप को बुरी तरह मारा पीटा। घटना के बाद पत्रकारों ने एसएसपी से मिल कर थाना सिविल लाइंस में मुकदमा दर्ज करा दिया था। घटना से संबधित कोई जागरण ने प्रकाशित नहीं की, जबकि अन्य अखबारों ने छायाकार के पिटने की खबर छापी।

इससे भी बड़े आश्चर्य व दु:ख की बात यह है कि समझौते करने के बाद ब्यूरो चीफ मेधावृत मिश्रा ने आज जागरण में खबर छापी है, जो बेशर्मी की पराकाष्ठा कही जा सकती है। जागरण के ब्यूरो चीफ के इस कृत्य को लेकर पत्रकारों में गहरा आक्रोश व्याप्त है, क्योंकि मुकदमा लिखाने में मदद करने वाले पत्रकारों को समझौते के दौरान बुलाया भी नहीं गया।

बीपी गौतम

पत्रकार, बदायूं

अपने मोबाइल पर भड़ास की खबरें पाएं. इसके लिए Telegram एप्प इंस्टाल कर यहां क्लिक करें : https://t.me/BhadasMedia

Comments on “जागरण ने छायाकार के पिटने की खबर नहीं छापी, पर समझौते की छाप दी

  • अमित बैजनाथ गर्ग, जयपुर. says:

    क्या कल को जागरण के मालिकों के पीटने की खबर भी नहीं छपेगा दैनिक जागरण..! वाह रे मीडिया…!

    Reply
  • Rajendra Sharma says:

    Patrkar ka matlab hi tyag hai. Press phototgraphar sahab ke pitne ka dukh hai par yahi balidan aur tyag hai sansthanon ke liye ki chup raho. jaaan ki baazi lagakar khabar lao. marne par kai bar kah diya jayega ki hamara patrkar nahin tha

    Reply
  • beh din dur nahi hai jab jagran ka beyuro chif medhvrat mishra shikhah bibhag betan ki ricavry karega yeh mishra to farji kagjo k share teacher bna hai yeh apni kartuten chipane ko akwar ka shara leta raha hai.
    ek bar is beyoro chif ne apne baap ko swatanrta senani bnanae ki farji tarike se puri koshish ki or apne baap ko swatantrata senanani ka tamga nahi diwa paya ………….

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *