जीएनएन के स्ट्रिंगर्स की दशहरा सूनी, दीवाली काली

चिटफंडियों के मीडिया मार्केट में उतर आने के बाद से पत्रकारों और पत्रकारिता का हाल बुरा हो गया है. शुरुआत में तो ये कंपनियां तमाम लुभावन वादा करके अच्‍छे संस्‍थानों, अच्‍छी जगहों पर काम करने वाले पत्रकारों को अपने साथ जोड़ लेती हैं, फिर कुछ महीने बाद जब उल्‍टे-सीधे कामों में मीडिया हाउस खोलने का कोई रिस्‍पांस नहीं मिलता है तो फिर शुरू हो जाता है सेलरी न देने का खेल. ऐसा ही हाल जीएनएन न्‍यूज का है. जीएनएन से जुड़े स्ट्रिंगगरों का दशहरा तो सूना बीता ही अब लग रहा है उनकी दीवाली भी काली हो जाएगी.

अपने लांचिंग के पहले से ही यह न्‍यूज चैनल दुनिया जहान की खबरों की बजाय अपने खबरों के लिए ही काफी चर्चित हो चुका है. भड़ास को भेजे गए मेल में इस न्‍यूज चैनल के छत्‍तीसगढ़ के स्ट्रिंगर ने सूचना दी है कि उन लोगों का तीन महीने का बकाया कंपनी नहीं दे रही है. जून में इस चैनल की लांचिंग हुई थी. तभी से स्ट्रिंगरों का बकाया नहीं दिया गया है. जब भड़ास की तरफ से छानबीन की गई तो इस चैनल से जुड़े ज्‍यादातर स्ट्रिंगरों ने यही बताया कि कंपनी पैसे नहीं बल्कि आश्‍वासन दे रही है, जिनके लिंक सीनियरों से ठीक हैं उनको तो कुछ मिल जाता है, पर जिनका कोई माई-बाप इस चैनल में नहीं है वो अपना मेहनताना पाने के लिए तरस रहे हैं.

जीएनएन न्‍यूज के हेड ऑफिस में भी अंदरूनी घमासान मचा हुआ है. यहां भी सेलरी लेट-लतीफ मिल रही है. अगस्‍त महीने की सेलरी 28 सितम्‍बर को मिली है, जबकि सितम्‍बर की सेलरी अब तक नहीं आई है. सीनियर लोग की आपसी पॉलिटिक्‍स में जूनियर पिस रहे हैं. कई जूनियर पहली नौकरी होने के बावजूद यहां काम से इस्‍तीफा देने में ही भलाई समझी, जिन जूनियरों ने इस्‍तीफा दिया है उनमें रोहित कुमार, सिद्धार्थ यादव, विपुल समेत कई अन्‍य शामिल हैं. न्‍यूज रूम का माहौल जूनियरों के काम करने लायक नहीं रह गया है. खबर है कि पिछले एक सप्‍ताह में एंकर शिखा सिंह एवं स्‍वयंका सिंह ने भी इस्‍तीफा दे दिया है. सूत्रों का कहना है कि माहौल से तंग कुछ और लोग जल्‍द ही इस्‍तीफा दे सकते हैं.

सेलरी के संबंध में जब हेड अमिताभ भट्टाचार्य से बात की गई तो उन्‍होंने कहा कि ऐसी बात नहीं है. यह सूचना गलत है. सभी स्ट्रिंगरों को उनकी सेलरी भेजी जा रही है. दीपावली का गिफ्ट भी भेजा जा रहा है. सब कुछ ठीकठाक चल रहा है. कहीं कोई दिक्‍कत नहीं है.

Comments on “जीएनएन के स्ट्रिंगर्स की दशहरा सूनी, दीवाली काली

  • nitin_input head,gnn news says:

    यशवंत तुम पागल हो गए हो…इसलिए गलत छापते हो….जीएनएन में सब सही शलामत है…हिमांशू और बलेंद्र जो कभी जी न्यूज में था ही नहीं….इन दोनो को बजाज जल्द निकालने वाला है….इसके जाने के बाद चैनल स्टार न्यूज के टक्कर का हो जाएगा….एक बात और चैनल चिटभंडिये का नहीं है….अगली बार गलत छापे तो मै तुम्हे कोर्ट तक ले जाउगा…..

    Reply
  • GNN me kaam karne wale stringer bhaiyo mei.. aap se nivedan karna chahta hun ki.. aap log is TUCHCHE CHANNEL se jaldi kinara kar le… nahi to aapka peisa aur samay barbaad ho..Ye Channel ke log khud bhookhe-nange hei aapko kya denge…

    Reply
  • अखिल कुमार पटनायक says:

    यसवंत जी यह सहारा वाले कहीं पगला तो नहीं गए है न | जैसे अलीगढ में सहारा के दो दो लोगो दिख रहा है , एइसे ही उडिषा के राजधानी भुबनेश्वर में देखने को मिला है | आशा भोसले के प्रोग्राम के दिन सहारा के एक स्ट्रिन्गेर बता रहा था तो दूसरा स्टाफर दोनों में कहा सुनी हुई | यह सब उडिषा के सारे मिडिया वाले देख कर ह्ष रहे थे | मेनेजमेंट है या अंदर की मेनेज है |
    अखिल कुमार पटनायक

    Reply
  • Stringer Of GNN NEWS says:

    यह खबर सत्य है । मैं इसकी पुष्टी करता हूं क्योंकि मैं इसी चैनल में स्ट्रींगर हूं । और तीन महीने से सिर्फ आश्वासन मिल रहा है ना कि पैसा । अब ऐसे में क्या करें ?

    Reply
  • suna hai ki gnn main logon par shoot na ho to is par wo kahi aram se aankh band kar baith jate hain to bina warning diye unse jabardasti istifa dilwa diya jata hai ya suspend kar diya jata hai ho bhi kyu na in logon ko to bahana chahiye selary kam karne ke liye staff ghatane ka.

    Reply
  • sumit joshi says:

    sahi keh rhe ho….stinger ka ye haal hai…aur office walo ka aur bhi bura…news room mai channel ke malik ke kuch pille ghumte rehte hai…jinmai se ek hai….gurjodh……..bus office ki ladkiyo se nain mattka karta rehta hai……sare anpadh aur gawar log yahan head ban ke baithe hai…..

    Reply
  • vivek niraj says:

    paisa tak to thik hai, yaha to satta sangarsh ki halat hai. 3 boss hai, aham bat ye ki sab apne ko dusare se jyada kabil samajte hai. jabki hakikat ekdun ulat hai. tabhi to 2 anchor chaneel chor kar chale gay, baki kai dusre log jane ki tyari me hai. chapluso ki gnn me pooch hai, kam karne walo ko paresan kiya ja ra hai.

    Reply
  • Waah re GNN walo kya khel khela selary ek do din main dete dete deeepawali nikal dee but selary nahi dee bus thoda marham laga diya apne karamchariyon ko gift dekar wo bhi padhe likho ke liye to sahi but driver aur unhi ke barabar ke ohadon walon ke liye kis kaam ka ek dry fruit ka dibba saath main. agle din koi selary ke liye hangama na kare bonus de diya chalo kuch to kiya log tyohar to mana lainge kisi tarah hajar do hajar main. tareef karnee padegi yaha ke karmchariyon ko ki un main sahan sakti bahut hai har dukh jhelne ki. log yaha kuch chamchon ko chhod kar dil laga kar kaam karte hain but unko kaam hi nahi milta karne ko koi event cover nahi hota mushkil se do ya char news cover ho pati hain kyunki do char chopahiye wahan hain but petrol nahi hota hai unmain. so shoot cancle ho jate hain. bhagwan jane kya hoga is channel ka yaswant ji kuch sujhav do is channel jaisi building ke pilloron ko ki wo is is building ko sambhal kar rakhain werna ye bhi voi ki tarah ludhak jayegi. fir wo kya karenge eat rode sariya to koi bhi kabad main le jayega but pillor ko kon le jayega inki samajh main nahi ata kya ……….

    Reply
  • dosto ek khus khabri GNN news walon ke liya channel sudhar ke mod par aagaya nikamme logon ki chhatani aur khud nikalne ke bad bahut sudhar main aya hai bas yaha system aur sudhar jaye to sab channels ko takkar dene ke layak ho jayega bcz yaha ab ek strong team hai purani but yaha ka Admin department jo har pal har faltu baton main adanga lagaye rehta hai nosikhiyon se bhara pada hai jisko ya to khud seekhne ki jarurat hai ya unko sikhane wala bhi ya koi chahiye

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *