Connect with us

Hi, what are you looking for?

टीवी

थैंक्स सीएनईबी, मां के दर्द को समझा

सीएनईबी न्यूज चैनल ने ‘justice for मां’ कंपेन में शरीक होते हुए पत्रकार यशवंत सिंह की मां व परिवार की अन्य महिलाओं को थाने में बंधक बनाकर रखे जाने की घटना से संबंधित खबर का प्रसारण किया. कल प्राइम टाइम पर दिखाई गई इस स्टोरी में यूपी पुलिस पर थू-थू किया गया. मोटी चमड़ी वाले अफसरों पर इस खबर का कितना असर पड़ेगा, ये तो नहीं पता लेकिन इस खबर के दिखाए जाने से देश भर के करोड़ों लोगों को पता चल गया है कि यूपी की मायावती सरकार में कानून और व्यवस्था का क्या हाल है और पुलिस किस कदर बेलगाम और निरंकुश है.

<p style="text-align: justify;">सीएनईबी न्यूज चैनल ने 'justice for मां' कंपेन में शरीक होते हुए पत्रकार यशवंत सिंह की मां व परिवार की अन्य महिलाओं को थाने में बंधक बनाकर रखे जाने की घटना से संबंधित खबर का प्रसारण किया. कल प्राइम टाइम पर दिखाई गई इस स्टोरी में यूपी पुलिस पर थू-थू किया गया. मोटी चमड़ी वाले अफसरों पर इस खबर का कितना असर पड़ेगा, ये तो नहीं पता लेकिन इस खबर के दिखाए जाने से देश भर के करोड़ों लोगों को पता चल गया है कि यूपी की मायावती सरकार में कानून और व्यवस्था का क्या हाल है और पुलिस किस कदर बेलगाम और निरंकुश है.</p>

सीएनईबी न्यूज चैनल ने ‘justice for मां’ कंपेन में शरीक होते हुए पत्रकार यशवंत सिंह की मां व परिवार की अन्य महिलाओं को थाने में बंधक बनाकर रखे जाने की घटना से संबंधित खबर का प्रसारण किया. कल प्राइम टाइम पर दिखाई गई इस स्टोरी में यूपी पुलिस पर थू-थू किया गया. मोटी चमड़ी वाले अफसरों पर इस खबर का कितना असर पड़ेगा, ये तो नहीं पता लेकिन इस खबर के दिखाए जाने से देश भर के करोड़ों लोगों को पता चल गया है कि यूपी की मायावती सरकार में कानून और व्यवस्था का क्या हाल है और पुलिस किस कदर बेलगाम और निरंकुश है.

इससे पहले लखनऊ में डेली न्यूज एक्टिविस्ट अखबार ने पूरे प्रकरण को प्रमुखता से पहले पन्ने पर प्रकाशित किया. सीएनईबी की पूरी टीम बधाई की पात्र है जिसने पत्रकार के परिजनों के साथ हुए उत्पीड़न को प्रसारित कर संघर्ष को नई उंचाई दी है. सीएनईबी पर प्रसारित खबर को आप नीचे दिए गए वीडियो पर क्लिक करके देख सकते हैं.

Click to comment

0 Comments

  1. Rizwan Mustafa

    October 20, 2010 at 8:19 pm

    Har zile se tassurat lena chahiye,har zile me patrkaro ko police zulm ke khilaf governor ko gypan dena chahiye

  2. DEVENDRA KU.PATEL

    October 21, 2010 at 8:00 pm

    hhhhh

  3. uttarakhand vichar

    October 22, 2010 at 2:46 pm

    thanks for cneb ………………….teem uttarakhand vichar

  4. khalid

    October 22, 2010 at 5:29 pm

    patrakaro par utpidan ho raha lekin jub rizwan mustafa jaise log patrakarita ki baat karte hai to unko samjhna chaiye ki apradhiyon aur patrkaron ke utpudan me fark hai.

  5. shravan shukla

    October 24, 2010 at 12:23 am

    thanx CNEB

  6. ajaysingh

    October 26, 2010 at 1:03 pm

    I HOPE BOARD OF DIRECTORS OF CNEB WILL ALSO FEEL PAIN OF THEIR EMPLOYEES. APPOINTING NEW MANAGEMENT AND THEIR TEAM WITH HANDSOME PACKAGE AND NOT INCREASING SALARY OF EMPLOYEES WILL NOT SOLVE THEIR PROBLEM.

  7. praween kumar

    October 28, 2010 at 4:50 pm

    maya sarkar ko doshi pulice karmiyo ke khilaf turant karyvahi kare,,,,,,,
    ——–praween kumar/aligarh#9219129243

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You May Also Like

Uncategorized

भड़ास4मीडिया डॉट कॉम तक अगर मीडिया जगत की कोई हलचल, सूचना, जानकारी पहुंचाना चाहते हैं तो आपका स्वागत है. इस पोर्टल के लिए भेजी...

टीवी

विनोद कापड़ी-साक्षी जोशी की निजी तस्वीरें व निजी मेल इनकी मेल आईडी हैक करके पब्लिक डोमेन में डालने व प्रकाशित करने के प्रकरण में...

हलचल

: घोटाले में भागीदार रहे परवेज अहमद, जयंतो भट्टाचार्या और रितु वर्मा भी प्रेस क्लब से सस्पेंड : प्रेस क्लब आफ इंडिया के महासचिव...

प्रिंट

एचटी के सीईओ राजीव वर्मा के नए साल के संदेश को प्रकाशित करने के साथ मैंने अपनी जो टिप्पणी लिखी, उससे कुछ लोग आहत...

Advertisement