दैनिक भास्‍कर, नागपुर में घमासान जारी, नाराज संजय वापस लौटे

: योगेश चिवंडे को बनाया गया नया चीफ रिपोर्टर : दैनिक भास्‍कर, नागपुर में आंतरिक उठापटक जारी है. नाराज होने और मानने का दौर चल रहा है. खबर है कि चीफ रिपोर्टर पद से हटाए गए संजय देशमुख लंबी छुट्टी वापस लौट आए हैं. उन्‍होंने सेंट्रल डेस्‍क पर ज्‍वाइन किया है. इसके बाद अब आतंरिक गुटबाजी भी तेज होने की संभावना बढ़ गई है. देशमुख पर पहले भी मराठीवाद करने के आरोप लगते रहे हैं.

नागपुर भास्‍कर में काफी समय से उथल-पुथल चल रहा है. शिशिर द्विवेदी के जाने के बाद संजय देशमुख को चीफ रिपोर्टर बनाया गया था. इन्‍हें प्रकाश दुबे का खास माना जाता है. इनकी कई शिकायतें मिलने के बाद संपादक मणिकांत सोनी ने इन्‍हें बैठकों में उपस्थित रहने का निर्देश भी दिया था. बावजूद इसके संजय ने इसपर ध्‍यान न‍हीं दिया. जिसके बाद संपादक ने संजय को चीफ रिपोर्टर की कुर्सी से हटाकर सेंट्रल डेस्‍क भेज दिया. चीफ रिपोर्टर की जिम्‍मेदारी योगेश चिवंडे को सौंप दी गई. सेंट्रल डेस्‍क पर भेजे जाने से नाराज संजय लंबी छुट्टी पर चले गए थे. बताया जा रहा है इस दौरान इन्‍होंने दूसरे संस्‍थानों में भी अपने लिए जगह तलाश की. परन्‍तु बात नहीं बनी.

इस बीच प्रकाश दुबे भी संजय की चीफ रिपोर्टर की कुर्सी कायम रखने के लिए मैनेजमेंट से बात की, लेकिन पूर्व में मिली शिकायतों को ध्‍यान में रखकर मैनेजमेंट ने संजय की वापसी चीफ रिपोर्टर के रूप में कराने से इनकार कर दिया. अंतत: संजय छुट्टी से वापस लौट आएं हैं. कल से वे ऑफिस आ रहे हैं. इस संदर्भ में पूछे जाने पर संजय ने कहा ऐसी कोई बात नहीं है. ऐसी बातों थोड़ी बहुत हर संस्‍थान में होती है. मैं ऑफिस आ रहा हूं.

Comments on “दैनिक भास्‍कर, नागपुर में घमासान जारी, नाराज संजय वापस लौटे

  • RAKESH PRASAD says:

    yeh doosro ke liea ek sabak hei,shabash manikant soni je aap ek talab me se kharab,,,,,,,,,,,,,,,,,,,, ki himmat ki,ab TALAB swachh ho gaya hei, sabhi ke liea kushnuma vatavaran nirman ho gaya hei. sirf photo grapher ka dhyan rakhna bs.

    Reply
  • shrikant sharma says:

    lo kar lo bat sanjay ne apne photographer mitra ke sath pichle dino APWAH udaiye thee ki kuch log apne sath doosre sansthan me jaa raha hei lekin KHUD BHI NAHI GAYA, sidhi bat hei osko NAGPUR KA koi bhi PRATISHIET akhbar rakh hi nahi sakta, kyonki oose patrikarita aati hi nahi hei.,oose to sirf bhaskar me rahkar APNI dukandari photo grapher ke sath mil kar chalani hei,abhi manikant soni ke najar me yeh bat nahi aaye hei ki kuch niche wale sathidar ooski i dukan chalne me indirect madad kar rahe hei, lekin JALDI HI SONI JI KI NAJAR ME YEH BAT AA JAYENGI,

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *