अखंड हिमाचल को अब नहीं छाप रहा दैनिक भास्‍कर

हिमाचल प्रदेश के सुंदरनगर से छपने वाले अखबार अखंड हिमाचल, जो चंडीगढ़ में दैनिक भास्कर की प्रेस से छपवाया जा रहा था, को भास्कर प्रबंधन ने वित्तीय गड़बडि़यों के चलते छापना बंद कर दिया है. पता चला है कि अंखड हिमाचल के प्रबंधकों ने प्रिंटिग की एवज में जो चेक भास्कर को दिया वह बाउंस हो गया. बाद में भास्‍कर की ओर से रितेश बंसल को सुंदरनगर भेजा गया. तब जाकर वसूली हो पाई.

भास्‍कर की नई रीत : किसी परिजन के मरने पर पहले अवकाश लें फिर अर्थी को कंधा दें!

: डेस्‍क हेड के चलते इंसानियत शर्मसार : दैनिक भास्‍कर, जो अपने आप को भारत का सबसे बड़ा मीडिया समूह कहता है तथा अपने कर्मचारियों के लिए हमेशा कुछ न कुछ नए आयाम लेकर आता है, में हाल ही में एक घटना को लेकर जो कुछ हुआ, उसने इंसानियत को शर्मसार तो किया ही, मानवीयता को भी कहीं का नहीं छोड़ा.

दैनिक भास्‍कर, धनबाद से चार लोगों ने दिया इस्‍तीफा

दैनिक भास्‍कर, धनबाद से सूचना है कि चार लोगों ने संस्‍थान को बाय बोल दिया है. ये लोग स्‍टेट हेड ओम गौड़ के रवैये से परेशान थे. चीफ सब के रूप में कार्यरत अंजय श्रीवास्‍तव यहां से इस्‍तीफा देकर हिंदुस्‍तान, पटना चले गए हैं. दूसरे चीफ सब एडिटर विकाश शुक्‍ला भी यहां से इस्‍तीफा देकर यूपी लौट गए हैं. विकास यूपी के ही रहने वाले हैं. उन्‍होंने कहां ज्‍वाइन किया है इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है. सब एडिटर मान सिंह भी विकास की तरह अपने प्रदेश में लौट आए हैं. वे भी यूपी के रहने वाले हैं. खबर है कि इन्‍होंने हिंदुस्‍तान ज्‍वाइन किया है.

भास्‍कर में छपी रिपोर्ट को झूठा बताते हुए थानेदार ने की प्रेसवार्ता

: अपने पक्ष में दस्‍तावेजी प्रमाण भी प्रस्‍तुत किए : हिंदी अख़बार दैनिक भास्कर ने हजारीबाग के एक थाने के ऊपर छींटाकशी करते हुए तथा कुछ उदाहरण देते हुए उसे भ्रष्‍टाचार का अड्डा बताया. 11 अक्टूबर को इसी बात को लेकर हजारीबाग थाने में प्रभारी विनोद कुमार तथा निरीक्षक अनिल कुमार पत्रकार सभा बुलाकर प्रेस वालों के सामने दस्तावेजी प्रमाण प्रस्तुत करते हुए दैनिक भास्कर के रिपोर्ट को गलत बताया.

भास्‍कर कार्यालय पर हमला : ब्‍यूरोचीफ से लेकर चपरासी तक को पीटा

खरगोन। विजयादशमी की शाम दैनिक भास्कर के ब्यूरो कार्यालय के परिसर में जमकर हंगामा मचा। फोटो जर्नलिस्ट से निजी विवाद के चलते कुछ युवकों ने दैनिक भास्कर ब्यूरो कार्यालय पर हंगामा मचाया। विवाद की शुरुआत रावण दहन स्थल पर कहासुनी से हुई। फोटो जर्नलिस्ट अजय तिवारी को लेकर उपजे विवाद के बाद युवकों ने दैनिक भास्कर के ब्यूरो चीफ ममताराम पाटूद, सीनियर रिपोर्टर कमलेश दुबे, विनयप्रकाश पांडे, कम्प्यूटर ऑपरेटर राजा भाटिया व प्यून राजू के साथ ही फोटो जर्नलिस्ट अजय तिवारी के साथ जमकर मारपीट कर डाली।

भास्‍कर के फोटो जर्नलिस्‍ट के चलते बची एक युवक की जान

कोटा : अपनी मौत सुनिश्चित करने के लिए तीन तरीके से आत्‍महत्‍या का प्रयास करने वाला एक युवक भास्‍कर के फोटो जर्नलिस्‍ट की सूचना तथा एक कांस्‍टेबल की मदद से जिंदा बच गया. केशवपुरा निवासी दीपक कुमार नाम का यह युवक अपनी पत्‍नी के ससुराल से वापस न लौटने आत्‍महत्‍या की कोशिश की परन्‍तु होनी को शायद इसकी मौत मंजूर नहीं थी.

पंजाब-हरियाणा में भास्‍कर ने फेरबदल किया, कमलेश सिंह का कद बढ़ा

दैनिक भास्‍कर ने पंजाब-हरियाणा में अपने संपादकीय टीम में व्‍यापक फेरबदल किया है. कई संपादकों तथा समाचार संपादकों को इधर से उधर किया गया है. कमलेश सिंह का कद भी बढ़ा दिया गया है. अब तक नार्थ रीजन के संपादक और स्‍टेड हेड के रूप में काम देख रहे कमलेश सिंह को प्रमोट करके चीफ एडिटर बना दिया गया है. वे नए लुधियाना में बने नए कारपोरेट ऑफिस में बैठेंगे.

हाई कोर्ट ने कहा ‘सच का सामना’ बेहद अश्‍लील

दिल्ली उच्च न्यायालय ने वर्ष 2009 में प्रसारित टीवी रियलिटी शो ‘सच का सामना’ की दो विवादास्पद कड़ियों के लिए स्टार प्लस चैनल को सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय की ओर से जारी कारण बताओ नोटिस को शुक्रवार को बरकरार रखा। न्यायमूर्ति एस. मुरलीधर ने स्टार इंडिया प्राइवेट लिमिटेड की याचिका खारिज कर दी और कहा कि कार्यक्रम में दिखाई गई वषय-वस्तु ‘अश्लील, अशोभनीय तथा अच्छी रुचि एवं मर्यादा के विरुद्ध’ थी जो केबल टेलीविजन नेटवर्क के नियमों के तहत वर्णित कार्यक्रम आचार संहिता का उल्लंघन है।

शहरों में दैनिक भास्कर सबसे आगे, 1.58 लाख नए पाठक भी जोड़े

मुंबई. भारतीय पाठक सर्वेक्षण (आईआरएस)-2011 की दूसरी तिमाही के परिणाम जारी हो गए हैं। इसके मुताबिक, दैनिक भास्कर समूह ने तीन महीनों में 1.58 लाख पाठक जोड़े हैं। पिछले कई सालों की तरह इस बार भी यह 1.82 करोड़ पाठकों के साथ देश का सबसे बड़ा समाचार पत्र समूह बना हुआ है। ताजा आंकड़ों में दिव्य मराठी और दैनिक भास्कर झारखंड के संस्करणों के पाठकों को शामिल नहीं किया गया है।

अमर उजाला में अजय राय का तबादला, भास्‍कर में प्रभात कुमार का इस्‍तीफा नामंजूर

अमर उजाला, वाराणसी से खबर है कि सीनियर सब एडिटर अजय राय का तबादला इलाहाबाद के लिए कर दिया गया है. वे काफी समय से वाराणसी में अमर उजाला को अपनी सेवाएं दे रहे थे. अजय के बारे में बताया जा रहा है कि कंपनी के चेयरमैन राजुल माहेश्‍वरी से अकेले में बात करना उनके लिए भारी पड़ गया है. सूत्रों ने बताया कि राजुल माहेश्‍वरी के वाराणसी दौरे के समय अजय राय ने उनसे अकेले में बात करने की इच्‍छा जाहिर की थी, जो वरिष्‍ठों को काफी नागवार गुजरी थी. इसके बाद से अजय राय को परेशान किया जाने लगा था. उन्‍हें दो बार मेमो भी दिया गया था.

मीडियाकर्मी को घसीटते हुए थाने ले गया सिपाही

नागपुर. बर्डी थाने में पदास्थापित एक नायक सिपाही की दबंगई सोमवार को उस वक्त देखने को मिली, जब एक मीडियाकर्मी को घसीटते हुए वह थाने ले गया और थाने में शर्ट उतारकर दबंगई का प्रदर्शन करने लगा। वाक्या कुछ इस प्रकार है- एक स्थानीय टीवी चैनल का कैमरामैन गिरीश सोमवार को बर्डी थाने के सामने हुई दुर्घटना को कवर करने गया था। दुर्घटना में छात्रा शरवरी सोनारे घायल हुई है। एक महिला सिपाही ने शरवरी के बैग की तलाशी ली, तो उसके कॉलेज का पहचान पत्र मिला।

भास्‍कर से प्रभात कुमार का इस्‍तीफा, आईबीएन7 से हटाए गए गौरव, पंकज को जिम्‍मेदारी

दैनिक भास्‍कर, रांची से खबर है कि काम को लेकर हुए विवाद के बाद सीनियर रिपोर्टर प्रभात कुमार ने इस्‍तीफा दे दिया है. अभी उनका इस्‍तीफा स्‍वीकार नहीं किया गया है. बताया जा रहा है कि बिहार डेस्‍क देखने वाले प्रभात कुमार का बिहार के एक ब्‍यूरो के रिपोर्टर से कहासुनी हो गई. उन्‍होंने उसकी शिकायत संपादक राघवेन्‍द्र से की, परन्‍तु संपादक ने कोई तवज्‍जो नहीं दिया, जिससे नाराज प्रभात कुमार शुक्रवार की रात को ही अपना इस्‍तीफा देकर चले गए. बताया जा रहा है कि विवाद करने वाला रिपोर्टर संपादक के साप्‍ताहिक अखबार में काम कर चुका है. इस संदर्भ में जब प्रभात कुमार से बात करने की कोशिश की गई तो उनका फोन स्‍वीच ऑफ मिला.

सुधीर अग्रवाल को पत्र लिखकर की इस्तीफे की पेशकश

दैनिक भास्‍कर, अलवर में पिछले पांच सालों से कार्यरत सुरेश शर्मा ने अपने मैनेजिंग डाइरेक्‍टर सुधीर अग्रवाल को पत्र लिखा है. पत्र में उन्‍होंने अलवार एडिशन में चल रही गतिविधियां एवं अपनी परेशानियों का जिक्र किया है. उन्‍होंने अलवर के कार्यकारी संपादक डा. प्रदीप भटनागर द्वारा प्रताडि़त किए जाने का आरोप लगाते हुए अपने इस्‍तीफे की पेशकश की है. उन्‍हों ने कहा है कि अगर संभव हो तो इस पत्र को ही उनका इस्‍तीफा समझा जाए.

इंडियन एक्‍सप्रेस जाएंगे अभिषेक, भास्‍कर से जुड़े शिव प्रकाश

हिंदुस्‍तान टाइम्‍स, दिल्‍ली से अभिषेक दस्‍तीदार इस्‍तीफा देने जा रहे हैं. वे सिटी टीम में रिपोर्टर हैं. वे अपनी नई पारी जल्‍द ही इंडियन एक्‍सप्रेस के पॉलिटिकल ब्‍यूरो के साथ शुरू करने जा रहे हैं. संभावना है कि वे अक्‍टूबर में इंडियन एक्‍सप्रेस से जुड़ जाएंगे.

महाराष्‍ट्र में ‘दिव्‍य मराठी’ का तीसरा संस्‍करण जलगांव से लांच

जलगांव : देश के सबसे बड़े समाचार पत्र समूह दैनिक भास्कर द्वारा संचालित ‘दिव्य मराठी’ के जलगांव संस्करण का शनिवार को लोकार्पण हो गया। दिव्य मराठी का यह तीसरा संस्करण है। औरंगाबाद और नासिक से यह अख़बार पहले से ही प्रकाशित हो रहा है। भास्कर समूह के इस 64वें संस्करण का लोकार्पण एक भव्‍य समारोह में किया गया।

जोधपुर में हॉकरों की हड़ताल, मारपीट, भास्‍कर की बिक्री ठप

जोधपुर में दैनिक भास्‍कर के यूनिट हेड और सर्कुलेशन मैनेजर को हटाने की मांग का लेकर हॉकर कई दिनों से हड़ताल कर रहे हैं, जिसके चलते दैनिक भास्‍कर की अस्‍सी हजार कॉपियां बिना बंटे रह जा रही हैं. इसी बीच कुछ लोगों ने हॉकरों के धरनास्‍थल पर पहुंचकर मारपीट कर ली, जिसमें कई हॉकरों को चोट लगी है. हॉकरों ने इसकी शिकायत थाने में भी दर्ज कराई है.

निरंजन शुक्‍ला बने कलस्‍टर हेड, एक दिन में ही घर वापसी कर ली कुंदन ने

दैनिक भास्‍कर, झुंझनू का कलस्‍टर हेड का पद निरंजन शुक्‍ला ने संभाल लिया है. शुक्‍ला इसके पूर्व दैनिक भास्‍कर जोधपुर में कार्यरत थे. मांगू सिंह शेखावत के भास्‍कर छोड़कर जाने के बाद से यह पद खाली पड़ा था. झुंझनू कलस्‍टर के अंतर्गत झुंझनू व चुरू ब्‍यूरो कार्यालय आते हैं.

ये देखिए दैनिक भास्‍कर, चंडीगढ़ का हाल

सबसे बड़ा ग्रुप होने का दावा करने वाले अखबार दैनिक भास्‍कर का चंडीगढ़ में हाल गजब है. अखबार के कर्मचारी पाठकों को अच्‍छी खबरें देने की बजाय अपने अधिकारियों की आंखों में धूल झोंकने के लिए दूसरे अखबारों में पहले छप चुकी खबरों को प्रकाशित करने से भी नहीं हिचकता है. ऐसा ही एक मामला कल यानी पांच सितम्‍बर को देखने को मिला. यह सारी कवायद चंडीगढ़ पहुंचे एमडी सुधीर अग्रवाल को दिखाने के लिए की गई थी.

भास्‍कर के मार्केटिंग एवं सेल्‍स हेड हेमंत अरोरा का इस्‍तीफा

दैनिक भास्‍कर, मुंबई से खबर है कि यहां मार्केटिंग और सेल्‍स हेड के रूप में सेवाएं दे रहे हेमंत अरोरा ने इस्‍तीफा दे दिया है. हेमंत एक साल भी यहां नहीं रह पाए. बताया जा रहा है कि वे अपनी नई पारी टाइम्‍स टेलीविजन नेटवर्क के साथ शुरू करने जा रहे हैं. उन्‍हें यहां सेल्‍स …

भास्‍कर का एक और ब्‍लंडर, सस्‍ती पत्रकारिता का नतीजा

पत्रकारिता में कितने जिम्मेदार लोग हैं और वे किस जिम्मेदारी से अपनी भूमिका अदा कर रहे हैं, यह जानना बहुत मुश्किल नहीं है. खुद को जनता का हमदर्द और समाज का आईना बताने वाले मीडिया की जिम्मेदारी से वाकिफ कराने के लिए आपके सामने एक उदाहरण रख रहा हूं. यह उदाहरण वेब मीडिया से जुड़ा है. एक ऐसे बड़े संस्थान से जुड़ा है, जो खुद को भारत का सबसे बड़ा समाचार-पत्र समूह बताता है. मैं दैनिक भास्कर की बात कर रहा हूं.

औरंगाबाद एडिशन 27 को लांच करेगा दैनिक भास्‍कर

दैनिक भास्‍कर, जबलपुर ग्रुप अपना छठा एडिशन औरंगाबाद से लांच करने जा रहा है. इसकी लांचिंग 27 अगस्‍त को होगी. औरंगाबाद दैनिक भास्‍कर का महाराष्‍ट्र में तीसरा एडिशन था. औरंगाबाद का संपादकीय प्रभार अब्‍दुल कादिर को सौंपी गई है. औरंगाबाद एडिशन आसपास के 12 जिलों को कवर करेगा. इसकी लांचिंग उपराष्‍ट्रपति हामिद अंसारी एवं महाराष्‍ट्र के सीएम पृथ्‍वीराज चाह्वाण करेंगे.

बुद्धि प्रकाश आजसमाज में तथा एमएस राठौर दैनिक अंबर में मैनेजर बने

दैनिक भास्‍कर, चंडीगढ़ से बुद्धि प्रकाश शर्मा ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे यहां पर सर्कुलेशन विभाग में डिप्‍टी मैनेजर थे. इन्‍होंने अपनी नई पारी चंडीगढ़ में ही आज समाज के साथ की है. इन्‍हें यहां सर्कुलेशन डिपार्टमेंट में मैनेजर बनाया गया है. पिछले छह सालों में सर्कुलेशन के क्षेत्र में सक्रिय बुद्धि भास्‍कर से पहले अमर उजाला और हिंदुस्‍तान टाइम्‍स को भी अपनी सेवाएं दे चुके हैं.

चेक बाउंस मामले के लपेटे में आए देवघर के इंडिया न्‍यूज/ भास्‍कर के संवाददाता

देवघर में इंडिया न्‍यूज संवाददाता सह दैनिक भास्‍कर के देवघर रिपोर्टर मुकुंद पंडित इन दिनों मुश्किल में हैं. एक चेक बाउंस होने के सिलसिले में पुलिस ने उन्‍हें दो घंटे थाने में बैठाए रखा. मामला पत्रकारिता का होने के चलते एसपी ने कुछ दिनों की मोहलत देकर इस मामले को निपटाने को कहा. अब जाकर पत्रकार महोदय की जान में जान आई है.

अंकित शुक्‍ला की विदाई के बाद मजबूत हुआ राघवेंद्र झा का गुट

दैनिक भास्‍कर, रांची से अंकित शुक्‍ला को चंडीगढ़ भेजे जाने के बाद खबर है कि राघवेंद्र झा गुट काफी खुश है. भास्‍कर में अभी तक अघोषित रूप से तीन लॉबी काम कर रही थी. पहली लॉबी को ओम गौड़ का संरक्षण था तो दूसरी लॉबी को राघवेंद्र का. तीसरी लॉबी यहां के दबे कुचलों की थी, जो अंकित शुक्‍ला के साथ थी. अंकित शुक्‍ला के रहते इन दो लॉबियों की मनमानी नहीं चल पा रही थी, इसलिए दोनों लॉबी एक होकर अंकित को चंडीगढ़ का रास्‍ता नपवा दिए.

भास्‍कर, रांची से एनई अंकित शुक्‍ला डीआरई बनाकर चंडीगढ़ भेजे गए

दैनिक भास्‍कर, रांची से अंकित शुक्‍ला का तबादला चंडीगढ़ के लिए कर दिया गया है. वे रांची में एनई के पोस्‍ट पर कार्यरत थे, चंडीगढ़ में उन्‍हें डिप्‍टी रेजिडेंट एडिटर बनाकर भेजा गया है. अंकित रांची में सेंट्रल डेस्‍क की जिम्‍मेदारी संभाल रहे थे. चंडीगढ़ में भी उन्‍हें यही जिम्‍मेदारी दी गई है. अंकित शुक्‍ला …

पांच संपादक भी बदल नहीं पाए जोधपुर में भास्‍कर की तकदीर!

राजस्थान के दूसरे बड़े और सांस्कृतिक राजधानी कहे जाने वाली शहर जोधपुर में दैनिक भास्कर कई उतार-चढ़ावों से गुजरने के बाद अभी तक अपनी मजबूत पहचान नहीं बना पाया है। इसे अभी तक पाठकों का वो भरोसा हासिल नहीं हो पाया है जो पत्रिका को मिलता रहा है। आज भी कोई समझदार पत्रकार भास्कर में जाने से पहले दो बार जरूर सोचता है।

सतीश का तबादला, रवींद्र कुमार कार्यमुक्‍त

दिव्‍य हिमाचल, सालोन में कार्यरत सतीश शर्मा का तबादला बिलासपुर (हिमाचल प्रदेश) के लिए कर दिया गया है. वे यहां के जिला संवाददाता बनाए गए हैं. माना जा रहा है कि प्रबंधन इन्‍हें जिला प्रभारी बना सकता है. सतीश इसके पहले अमर उजाला, बिलासपुर में ही कार्यरत थे.

वीर अर्जुन के पूर्व पत्रकार डा. टीडीएस आलोक का निधन

शिमला एचपी यूनिवर्सिटी में पत्रकारिता विभाग के अध्यक्ष डॉ. टीडीएस आलोक का रविवार को निधन हो गया। 56 वर्षीय डॉ. आलोक एक साल से बीमार चल रहे थे। कुल्लू की आनी तहसील से संबंध रखने वाले डॉ. आलोक करीब 15 साल से एचपीयू में पत्रकारिता विभाग में कार्यरत थे। वह कई बार विभागाध्यक्ष भी रहे। अपने सरल स्वभाव के धनी डॉ. आलोक ‘वीर अर्जुन’  और ‘गिरिराज’  जैसे समाचार पत्रों में भी सेवाएं दे चुके थे।

भोपाल सेंट्रल प्रेस क्‍लब के अध्‍यक्ष बने गणेश साकल्‍ले, राजेश सिरोठिया महासचिव

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल के पत्रकारों द्वारा संचालित सेन्ट्रल प्रेस क्लब के भोपाल में सर्वसम्मति से चुनाव संपन्न हुए। जिसमें दैनिक भास्कर के संस्करण डीबी स्टार के कार्यकारी संपादक गणेश साकल्ले अध्यक्ष तथा नव दुनिया के संयुक्त संपादक राजेश सिरोठिया महासचिव बने। सेन्ट्रल प्रेस क्लब की नवगठित कार्यकारिणी की घोषणा सेन्ट्रल प्रेस क्लब के राष्ट्रीय अध्यक्ष अरूण कुमार भंडारी ने गुरूवार 11 अगस्त 2011 को सेन्ट्रल प्रेस क्लब की विशेष बैठक के दौरान की।

भास्‍कर ने छापी न्‍यायालय की फोटो, जज को चिट्ठी लिखकर कार्रवाई की मांग की गई

इंदौर। दैनिक भास्कर के इंदौर संस्करण में प्रकाशित एक खबर पर इंदौर के एक नागरिक ने एक शिकायत मप्र हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस को भेजी है, जिसमें 21 जुलाई को अखबार में प्रकाशित एक फोटो को कोर्ट की अवमानना बताते हुए अखबार के मालिक, संपादक एवं फोटो लेने वाले के खिलाफ आपराधिक केस चलाने की मांग की है।

राजेश यादव बने विशेष संवाददाता, चतुरेश देंगे इस्‍तीफा

दैनिक भास्कर, नागपुर में कार्यरत सीनियर रिपोर्टर राजेश यादव को प्रमोशन हो गया है। राजेश को विशेष संवाददाता बनाये गए हैं। राजेश यादव एक से एक बेहतरीन खबर को ब्रेक करने के लिए नागपुर में मशहूर हैं। उन्हें बेहतरीन रिपोर्टिंग के लिए विदर्भ के प्रतिष्ठित यशवंत बाबू देशमुख पत्रकारिता पुरस्कार और क्रांतिकारी कुंदन लाल गुप्त पत्रकारिता सम्मान से भी सम्मानित किया जा चुका है। दैनिक भास्कर के नागपुर संस्करण में यह पहला ऐसा मौका है जब किसी रिपोर्टर को प्रमोट कर विशेष संवाददाता बनाया गया है।

भास्‍कर के फोटोग्राफर पर लाठीचार्ज की सुषमा स्‍वराज ने निंदा की

लोकसभा के विपक्ष की नेता सुषमा स्वराज ने दैनिक भास्कर के फोटो पत्रकार पर हुए लाठीचार्ज की कड़े शब्दों में निंदा करने के साथ ही गृहमंत्री पी.चिदंबरम के इस्तीफे की मांग की है। घायल पत्रकार शेखर घोष की तस्वीरों को देख सुषमा स्वराज रो पड़ीं। दिल्‍ली पुलिस ने भाजयुमो का प्रदर्शन कवर करते समय दैनिक भास्‍कर के फोटोग्राफर शेखर घोष को समय जमकर पीट दिया था।

मांगू सिंह एवं खलील शरीफ की नई पारी

राजस्‍थान से शीघ्र प्रकाशित होने जा रहे प्रात:कालीन समाचार पत्र दैनिक अम्‍बर के साथ मांगू सिंह शेखावत ने अपनी नई पारी शुरू की है. इन्‍हें झुंझनू जिले का ब्‍यूरोचीफ बनाया गया है. मांगू सिंह लम्‍बे समय तक झुंझनू जिला मुख्‍यालय पर पत्रकारिता कर रहे हैं. इसके पहले ये कई वर्षों तक दैनिक भास्‍कर, झुंझनू के ब्‍यूरोचीफ रह चुके हैं. इसके अलावा भी इन्‍होंने कई अखबारों को अपनी सेवाएं दी हैं.

दैनिक भास्‍कर से अजय उमट का इस्‍तीफा, टीओआई में सीनियर एडिटर बने

दैनिक भास्‍कर, दिल्‍ली से नेशनल पॉलिटिकल एडिटर अजय उमट ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे अब टाइम्‍स ऑफ इंडिया से जुड़ गए हैं. उन्‍हें टाइम्‍स ऑफ इंडिया, अहमदाबाद का सीनियर एडिटर बनाया गया है. मूल रूप से गुजरात के रहने वाले अजय उमट पिछले ढाई दशक से पत्रकारिता के क्षेत्र में सक्रिय हैं.

दैनिक भास्कर, शिमला को चाहिए सस्ता संपादक

दैनिक भास्कर,  शिमला पिछले दो माह से बिना संपादक के चल रहा है। देश के सबसे तेज बढ़ते अखबार को शिमला के लिए कोई संपादक नहीं मिल रहा। भास्कर में यूं तो संपादकों की फौज है,  मगर शिमला के लिए अखबार को सस्ता संपादक चाहिए जो कम से कम पैसे में काम चला सके। अखबार ने 2008 में शिमला को फुल एडिशन का दर्जा दिया था।

नीतेश, शैलेंद्र एवं पारुल की नई पारी

दैनिक भास्‍कर, इंदौर से नितेश पाल ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे यहां पर करेस्‍पांडेंट थे. उन्‍होंने अपनी नई पारी इंदौर में ही दबंग दुनिया के साथ शुरू की है. उन्‍हें यहां स्‍पेशल रिपोर्टर बनाया गया है. भास्‍कर में पूर्व संपादक अवनीश जैन के करीबियों में गिने जाने वाले नितेश पिछले दिनों एक्‍सीडेंट के बाद लम्‍बी छुट्टी पर चले गए थे. इस संदर्भ में जब नितेश से बात की गई तो उन्‍होंने दबंग दुनिया ज्‍वाइन करने की पुष्टि की.

भास्‍कर ग्रुप में एजीएम बने बिश्‍वराज चौधरी, सन टीवी ने के विजय कुमार को सीईओ बनाया

बिश्‍वराज चौधरी ने रेडियो सिटी से इस्‍तीफा दे दिया है. वे यहां डीजीएम के पद पर कार्यरत थे.  वे रेडिया सिटी के लिए एलाइंस, नए बिजनेस तथा इसके प्रमोशन की जिम्‍मेदारी संभाल रहे थे. इन्‍होंने अपनी नई पारी भास्‍कर ग्रुप के साथ शुरू की है.  मुंबई में उन्‍होंने मारकॉम के एजीएम के रूप में ज्‍वाइन किया है. वे ग्रुप के वीपी संजीव कोटनाला को रिपोर्ट करेंगे. बिश्‍वराज 11 साल से इस क्षेत्र में हैं. इसके पहले वे जेट एयरवेज को भी अपनी सेवाएं दे चुके हैं.

अजय उमट बने नेशनल पालिटिकल एडिटर, अवनीश जैन को स्टेट हेड की जिम्मेदारी

: भास्कर में बदलाव जारी, ट्रांसफर किए गए संपादकों ने नई जिम्मेदारी संभाली :  दैनिक भास्‍कर में शीर्ष स्‍तर पर कई बदलाव किए गए हैं. दिव्‍य भास्‍कर, गुजरात के स्‍टेट हेड अजय उमट को नेशनल पॉलिटकल एडिटर बनाकर दिल्‍ली बुला लिया गया है. अजय को प्रमोट करके मेन स्‍ट्रीम में लाया गया है. अब वे यहां दैनिक भास्‍कर की जिम्‍मेदारी संभालेंगे.

बिहार में प्रभात खबर से खतरा महसूस कर रहा है हिंदुस्तान

: सुपारी स्कीम – प्रभात खबर से आदमी लाइए, 10 से 25 हजार पाइए : हिंदुस्तान प्रभात खबर से आशंकित है। उसे अब लगने लगा है कि भास्कर जब आएगा, तब आएगा लेकिन प्रभात खबर जिस आक्रामक और गठी हुई रणनीति से मजबूत होता जा रहा है, उसे नहीं रोका गया तो भास्कर आने से पहले ही बिहार में हिंदुस्तान की एकछत्र लीडरशिप ढह जाएगी। पिछले दिनों दिल्ली में एचटी मीडिया और हिंदुस्तान मीडिया वेंचर्स के शीर्ष लोगों की बैठक हुई। बैठक में प्रभात खबर को लेकर चिंता जाहिर की गई।

राकेश रंजन एवं अमित दास का भास्‍कर से इस्‍तीफा

डीबी स्‍टार, रांची से राकेश रंजन ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे यहां पर सीनियर रिपोर्टर थे. वे कुछ महीने पहले ही भास्‍कर ग्रुप से जुड़े थे. चर्चा है कि वे आई नेक्‍स्‍ट, जमशेदपुर के साथ अपनी नई पारी चीफ रिपोर्टर के रूप में शुरू करने वाले हैं. माना जा रहा है कि राकेश ने भास्‍कर के आतंरिक गुटबाजी से परेशान होकर यह कदम उठाया है.

आरपी सिंह जनसत्‍ता से जुड़े

 

आज की जनधारा से आरपी सिंह ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे यहां पर प्रोविंसियल चीफ के पद पर कार्यरत थे. इन्‍होंने अपनी नई पारी रायपुर में जनसत्‍ता के साथ शुरू की है. इन्‍हें यहां सीनियर सब एडिटर बनाया गया है. आरपी इसके पहले भी कई अखबारों को अपनी सेवाएं दे चुके हैं.

धर्मेंद्र सिंह फिर भास्‍कर से जुड़े, आलोक का बनारस तबादला

पत्रिका, ग्‍वालियर में समाचार संपादक रहे धर्मेन्‍द्र सिंह भदौरिया ने पत्रिका से अपना नाता तोड़ लिया है. सात महीने की पत्रिका की नौकरी उन्‍हें रास नहीं आई. पत्रिका ने धर्मेंद्र का तबादला चेन्‍नई के लिए कर दिया था. जिसके बाद से वे काफी परेशान हो गए थे. धर्मेंद्र भास्‍कर में विशेष संवाददाता के रूप में अपनी जमी जमाई नौकरी छोड़कर आए थे. उन्‍होंने फिर से भास्‍कर का दामन थाम लिया है. वे बिजनेस भास्‍कर, भोपाल से जुड़ गए हैं. उन्‍हें फिर विशेष संवाददाता बनाया गया है.

प्रभात खबर, रांची के डीएनई बने आलोक, संदीप खबर भारती पहुंचे

दैनिक भास्‍कर, रांची से आलोक कुमार ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे यहां पर चीफ सब एडिटर थे. इन्‍होंने अपनी नई पारी प्रभात खबर, रांची के साथ शुरू की है. यहां इन्‍हें डीएनई बनाया गया है. वे यहां पर कोआर्डिनेशन देखेंगे.आलोक भास्‍कर की लांचिंग टीम के सदस्‍य थे. भास्‍कर ज्‍वाइन करने से पहले वे सीनियर सब के रूप में हिंदुस्‍तान, रांची को अपनी सेवाएं दे रहे थे. आलोक ने भास्‍कर के लिए कई खबरें ब्रेक की थीं. इन दिनों सिटी डेस्‍क पर जिम्‍मेदारी निभा रहे थे. आलोक कई अन्‍य अखबारों को भी अपनी सेवाएं दे चुके हैं. इनकी गिनती तेज तर्रार पत्रकारों में होती है.

अरविंद, पवन एवं उपेंद्र का इस्‍तीफा

वॉयस ऑफ लखनऊ से अरविंद कांत त्रिपाठी ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे यहां पर सब एडिटर थे. वे अपनी नई पारी कहां से शुरू करने जा रहे हैं इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है. चर्चा है कि वे संपादक पीएम मिश्रा के व्‍यवहार से परेशान होकर इस्‍तीफा देने पर मजबूर हुए.

अमर उजाला के अशोक एवं दैनिक जागरण के डा. अनुज के बारे में नई खबर

भड़ास4म‍ीडिया को मेल से मिली एक अपुष्‍ट सूचना के मुताबिक अमर उजाला, बहराइच से खबर है कि ब्‍यूरो इंचार्ज अशोक उपाध्‍याय को प्रबंधन ने हटा दिया है. प्रबंधन को उनके खिलाफ आफिस टाइम में शराब पीने की शिकायत मिली थी. कार्यालय के सेकेंड मैन अतुल अवस्‍थी को बहराइच का प्रभार सौंप दिया गया है.

भास्‍कर, इंदौर के आरई अवनीश जैन गुजरात भेजे गए

: दिव्‍य भास्‍कर को देंगे सेवाएं : नए स्‍टेट हेड एन रघुरमन ने इंदौर में संभाला चार्ज :  दैनिक भास्‍कर, इंदौर के स्‍थानीय संपादक अवनीश जैन का तबादला कर दिया गया है. उनका तबादला अहमदाबाद में दिव्‍य भास्‍कर के लिए कर दिया गया है. अब वे दिव्‍य भास्‍कर के अजय उमठ को रिपोर्ट करेंगे. सूचना है कि 8 जुलाई तक वे अहमदाबाद में ज्‍वाइन कर लेंगे. बताया जा रहा है कि प्रबंधन ने नाराजगी के चलते उनका तबादला अहमदाबाद के लिए किया है, क्‍योंकि अवनीश का गुजाराती से दूर दूर का रिश्‍ता नहीं है.

दिव्‍य मराठी का नासिक से प्रकाशन प्रारम्‍भ

दैनिक भास्कर समूह के मराठी संस्करण ‘दिव्य मराठी’  का शनिवार को नासिक से प्रकाशन प्रारंभ हो गया। यह समूह का 62वां संस्करण है। इसके पहले 29 मई को औरंगाबाद से प्रकाशन शुरू होने के पहले दिन से ही ‘दिव्य मराठी’  नंबर वन अखबार है। नासिक के कालिदास नाट्यमंदिर में हुए समारोह में भाजपा के पूर्व अध्यक्ष व सांसद राजनाथ सिंह, महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के संस्थापक अध्यक्ष राज ठाकरे, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के सांसद समीर भुजबल और भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान अजित वाडेकर ने दिव्य मराठी के विशेष संस्करण की प्रति का विमोचन किया।

दाउद के करीबियों से मुलाकात बना जेडे की हत्‍या का कारण

खोजी पत्रकार ज्‍योतिर्मय डे (जेडे) की हत्‍या की गुत्‍थी धीरे-धीरे सुलझने लगी है। पुलिस ने इस बात की पुष्टि कर दी है कि जे डे की हत्‍या के पीछे अंडरवर्ल्‍ड सरगना छोटा राजन का हाथ था। हालांकि जे डे को भी इस बात की भनक लग गई थी छोटा राजन उन्‍हें नुकसान पहुंचा सकता है। सूत्रों के मुताबिक 56 साल के पत्रकार को यह खबर उनके मुखबिर के जरिये मिली थी।

दैनिक भास्‍कर में कई लोगों का प्रमोशन

दैनिक भास्‍कर ने पंजाब के यूनिटों में कई लोगों का प्रमोशन किया गया है. मेल से मिली जानकारी के अनुसार लुधियाना में नवीन गुप्‍ता को न्‍यूज एडिटर,  दीपक सेलोपाल को सीनियर रिपोर्टर, विपिन जंद को प्रिंसिपल करेस्‍पांडेंट, राजेश शर्मा को सीनियर रिपोर्टर, निशांत सिंह को सीनियर सब एडिटर, मनीष सिंह को चीफ सब एडिटर, जेएस ग्रेवाल को चीफ फोटो जर्नलिस्‍ट, राहुल मिश्रा को सीनियर सब एडिटर बनाया गया है.

दैनिक भास्‍कर देश का सबसे बड़ा अखबार समूह

एक करोड़ 81 लाख पाठक संख्या के साथ दैनिक भास्कर समूह देश का सबसे बड़ा अखबार समूह बना हुआ है। शुक्रवार को जारी भारतीय पाठक सर्वेक्षण (आईआरएस) के 2011 की पहली तिमाही क्यू-1 की सर्वे रिपोर्ट में भास्कर समूह शीर्ष पर कायम है। हरियाणा में 13.33 लाख पाठकों के साथ दैनिक भास्कर अग्रणी है। पंजाब, चंडीगढ़ और हरियाणा राज्यों में भी 23.65 लाख पाठकों के साथ भास्कर सबसे आगे है।

धीरेंद्र अवस्‍थी, नजीर, दिलनवाज, सतीश एवं विमल का तबादला

अमर उजाला, जम्‍मू से धीरेंद्र अवस्‍थी का तबादला मुरादाबाद के लिए कर दिया गया है.  वे यहां डीएनई के पोस्‍ट पर कार्यरत थे. बताया जा रहा है कि मुरादाबाद यूनिट को मजबूत करने के लिए धीरेंद्र को जम्‍मू से मुरादाबाद भेजा गया है.

अभिषेक एवं सचिन ने बिजनेस भास्‍कर से नई पारी शुरू की

पीपुल्‍स समाचार, ग्‍वालियर से अभिषेक श्रीवास्‍तव और सचिन चतुर्वेदी ने इस्‍तीफा दे दिया है. दोनों लोग सेंट्रल डेस्‍क पर जिम्‍मेदारी निभा रहे थे. इन्‍होंने अपनी नई पारी बिजनेस भास्‍कर, दिल्‍ली के साथ शुरू की है. इन्‍हें करेस्‍पांडेंट बनाया गया है. बताया जा रहा है कि दो महीने की ट्रेनिंग के बाद इनको पोस्टिंग मिलेगी. इन …

दैनिक भास्कर के जालंधर एवं चंडीगढ़ यूनिट का पैकअप

लुधियाना में कारपोरेट ऑफिस बनने के कारण दैनिक भास्‍कर के दूसरे यूनिटों के कई कर्मचारी अखबार को अलविदा कह रहे हैं. उल्‍लेखनीय है कि भास्‍कर लुधियाना में अखबार का कारपोरेट ऑफिस बनवा रहा है. जिसके चलते जालंधर और चंडीगढ़ आफिस को लुधियाना शिफ्ट किया जा रहा है. लुधियाना अब सबसे महत्‍वपूर्ण यूनिट हो गया है.

अशोक अजनबी का भास्‍कर से इस्‍तीफा

गत तीन साल से दैनिक भास्कर में कार्यरत अशोक अजनबी ने संस्‍थान से इस्तीफा दे दिया है। वह जागरण की पंजाबी जागरण की लांचिग टीम के सदस्य हो गए हैं। हिंदी और पंजाबी में दोनों भाषाओं पर पकड़ रखने वाले अशोक अजनबी ने पंजाब में पत्रकारिता के स्कूल नवां ज़माना से करियर की शुरुआत की …

अपने ही अखबारों में नहीं छपीं पत्रकारों की खबरें

ग्वालियर में विश्व पर्यावरण दिवस के मौके पर एक पत्रकार संगठन द्वारा ग्वालियर में एक परिसंवाद का आयोजन किया गया. इसमें पर्यावरण पर उल्लेखनीय कार्य करने वाले कुछ रिपोर्टर और फोटो जर्नलिस्टों का सम्मान किया गया. कार्यक्रम के मुख्य वक्ता जाने-माने पत्रकार स्वर्गीय प्रभाष जोशी के बेटे पर्यावरण पत्रकार सोपान जोशी थे. इसमें दैनिक भास्कर के पत्रकार हरे कृष्ण दुबोलिया. इसी अखवार के फोटो जर्नलिस्ट विक्रम प्रजापति, पत्रिका के रिपोर्टर राज देव पांडे को भी सम्मानित किया गया.

भास्‍कर से अग्निमा, प्रमोद तथा अमर उजाला से सुजीत ठाकुर की कुट्टी

दैनिक भास्‍कर में श्रवण गर्ग को लेकर कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं. जिस तरह से भास्‍कर के नेशनल ब्‍यूरो में कार्यरत दो लोगों को बिजनेस भास्‍कर के संपादक और मैनेजिंग एडिटर यतीश राजावत ने श्रवण गर्ग को विश्‍वास में लिए बिना निकाला है, उसके कई निहितार्थ निकाले जा रहे हैं. भास्‍कर के अंदरूनी सूत्रों का कहना है कि श्रवण गर्ग की ताकत को कम करके यतीश राजावत को मजबूत किया जा रहा है.

औरंगाबाद में पहले ही दिन नंबर वन हुआ ‘दिव्य मराठी’!

औरंगाबाद। दैनिक भास्कर समूह के मराठी अखबार ‘दिव्य मराठी’ का शनिवार को औरंगाबाद में शुभारंभ हो गया। केवल औरंगाबाद शहर में ८७ हजार प्रतियों के साथ शुरू हुआ ‘दिव्य मराठी’ पहले ही दिन यहां नंबर वन हो गया। समूह का यह साठवां संस्करण है, जो चौथी भाषा में प्रकाशित हो रहा है। हिंदी में ‘दैनिक भास्कर’, अंग्रेजी में ‘डीएनए’ और गुजराती में ‘दिव्य भास्कर’ पहले से ही प्रकाशित हो रहे हैं।

ईरानी पत्रकार फातिमा ने मांगी भारतीय नागरिकता

फगवाड़ा। ईरानी पत्रकार फातिमा बेगम ने भारत में जन्म होने का दावा करते हुए भारतीय नागरिकता की मांग की है। उन्होंने चंडीगढ़ प्रशासन पर बिना वजह मामले को लटकाए जाने का आरोप लगाया है। फगवाड़ा में पत्रकारों से बातचीत करते हुए फातिमा बेगम ने कहा कि उनके वीजा की अवधि समाप्त होने वाली है। भारतीय नागरिकता प्राप्त करने के लिए वे लंबे समय से चंडीगढ़ प्रशासन से संपर्क में हैं।

शत्रुघ्‍न दैनिक भास्‍कर पहुंचे, लोकेंद्र का तबादला

नव दुनिया, भोपाल से शत्रुघ्‍न प्रसाद गुप्‍ता ने इस्‍तीफा दे दिया है. उन्‍होंने अपनी नई पारी दैनिक भास्‍कर, भोपाल से शुरू की है. उन्‍हें सिटी डेस्‍क पर चीफ सब एडिटर बनाया गया है. इसके पहले वे राज एक्‍सप्रेस, भोपाल तथा दैनिक आज, वाराणसी को भी अपनी सेवाएं दे चुके हैं.

बब्‍बल गर्ग ने भास्‍कर, नीरव ने ईटीवी से इस्‍तीफा दिया

दैनिक भास्‍कर ने पिछले साल पंजाब के बठिंडा शहर में प्रेस स्‍थापित की एवं बठिंडा संस्‍करण की शुरुआत की, लेकिन शुरुआत से अब तक दैनिक भास्‍कर अपनी पॉलिसियों के कारण एक अच्‍छी टीम बना पाने में असमर्थ नजर आ रहा है। चार माह पहले अमर उजाला छोड़कर इस समूह का हिस्‍सा बनने वाले संवाददाता कम फोटोजर्नालिस्‍ट बब्‍बल गर्ग ने अब इस समूह से नाता तोड़ लिया है। उन्‍होंने संस्‍थान को अपना इस्‍तीफा सौंप दिया है। वे अपनी नई पारी कहां से शुरू करने जा रहे हैं इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है।

दैनिक भास्‍कर ने बताया ओबामा ने की पांच शादियां, 24 बच्‍चों के बाप

भास्‍करदैनिक भास्‍कर के धनबाद की धरती पर कदम रखने के बाद कुछ भी सही नहीं हो रहा है. खबरों को लेकर हॉकर तथा आम लोगों ने इस अखबार की प्रतियां फूंकी. खबरों के तेवर को लेकर इस पर लोगों ने कई आरोप लगाया. एक बार फिर इस अखबार ने एक बड़ी गलती की है. भास्‍कर ने ओसामा को ओबामा बना दिया है. इस खबर को पढ़कर कोयलांचल के पाठक भी हतप्रभ हैं, वे भास्‍कर के कार्यालय में फोन कर तमाम बातें सुना रहे हैं.

भास्‍कर के मैनेजर संतोष सिंह के पिता का निधन

दैनिक भास्कर, भोपाल में मैनेजर (प्रिंटिंग) संतोष सिंह के पिता आरपी सिंह का आज सुबह कस्तूरबा अस्पताल में निधन हो गया। वे कुछ समय से बीमार चल रहे थे। उन्हें कैंसर था और करीब एक महीने से कस्तूरबा अस्पताल में भर्ती थे, जहां उनका इलाज चल रहा था। 67 वर्षीय श्री सिंह बीएचईएल के सेवानिवृत्‍त कर्मचारी थे तथा सामाजिक कार्यों में सक्रिय रहते थे।

हवाला में लिप्‍त भास्‍कर कर्मियों के लाखों रुपये डूबे!

जयपुर में इनदिनों दैनिक भास्‍कर के कई कर्मचारी काफी बौखलाए हुए हैं. कारण है इन लोगों का लाखों रुपये कमोडिटी, शेयर और हवाला में डूब जाना. चार-पांच दिनों पूर्व बैठक कर इस मामले को सुलझाने की भी कोशिश की गई परन्‍तु कोई बात नहीं बनी. नाराज लोगों ने पैसा लगाने वाले तथा उसके परिवार के कुछ सदस्‍यों को जमकर मारापीटा. मामला अभी पुलिस तक नहीं पहुंचा है.

पुलिसिया भाषा लिखने से नाराज लोगों ने भास्‍कर की प्रतियां फूंकी

दैनिक भास्कर, धनबाद में पाठकों की मर्जी भांपने में पूरी तरह असफल है। जिसका प्रमाण 28 अप्रैल को शहर के कई हिस्से में पाठकों द्वारा दैनिक भास्कर की प्रतियां जलाना तथा पैर से कुचलना है। घटना इस तरह है कि 27 अप्रैल को बीसीसीएल कंपनी के अतिक्रमण हटाओ अभियान के दौरान विरोध कर रहे ग्रामीणों पर पुलिस द्वारा फायरिंग किए जाने से चार लोगों की मौत और सैंकड़ों लोगों के घायल होने की घटना घटी थी।

मुसलमानों ने किया भास्‍कर का बहिष्‍कार, प्रतियां फूंकी

मध्‍य प्रदेश में मुसलमान भास्‍कर से खफा हैं. मुसलमानों ने दैनिक भास्‍कर, माय एफएम और बीटीवी का बहिष्‍कार करने का निर्णय लिया है. मुसलमानों की संस्‍था मध्‍य प्रदेश तंजीम इत्‍तेहादउल मुलसेमीन ने यह फरमान जारी किया है. मुसलमानों ने आरोप लगाया है कि भास्‍कर मुस्लिम कौम को बदनाम करने और नुकसान पहुंचाने की साजिश रच रहा है.

भास्‍कर डॉट कॉम की गेस्‍ट एडिटर बनीं एकता कपूर

टेलीविजन के दुनिया की मशहूर हस्ती एकता कपूर मंगलवार को दैनिक भास्कर के इंटरनेट संस्करण भास्कर डॉटकॉम की गेस्ट एडिटर थीं। इस मौके उन्होंने टेलीकांफ्रेंसिंग के जरिए दैनिक भास्कर के विभिन्न संस्करणों में पत्रकारों व पाठकों के सवालों के जवाब भी दिए। उन्होंने अपनी आगामी फिल्म ‘रागिनी एमएमएस’  के बारे में भी चर्चा की।

दैनिक भास्‍कर से जुड़े दीपक और चरणजीत

प्रभात खबर, जमशेदपुर से दीपक शर्मा ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे काफी समय से प्रभात खबर से जुड़े हुए थे. वे डेस्‍क पर अपनी जिम्‍मेदारी निभा रहे थे.  उन्‍होंने अपनी नई पारी दैनिक भास्‍कर, धनबाद के साथ शुरू की है. इसके पहले वे प्रभात खबर को धनबाद में भी अपनी सेवाएं दे चुके हैं.

भास्‍कर सीपीएच-2 में रोहतक यूनिट रहा अव्‍वल

दैनिक भास्कर सीपीएच-2 की पिछले दिनों चंडीगढ़ में हुई 2010-11 एनुवल कानक्लेव (वार्षिक समीक्षा बैठक) में नव सृजित रोहतक यूनिट बेस्ट अवार्ड पाने में कामयाब हुई है। सीपीएच-2 में हरियाणा से चार, पंजाब से चार, चंडीगढ़ से एक, हिमाचल प्रदेश और जम्मू-कश्मीर से एक-एक यूनिट के सम्पादक शामिल हैं। रोहतक यूनिट विगत 29 जनवरी को शुरू हुई थी। महज तीन माह की अवधि में सम्पादकीय टीम ने बेस्ट काम करके दिया। इसके फलस्वरूप एक साल की समीक्षा में रोहतक का तीन माह का काम अन्य यूनिटों से बेहतर रहा।

बिजली विभाग को ब्‍लैकमेल कर ब्‍यूरोचीफ ने सरकारी गाड़ी कब्जाया

दैनिक भास्कर अखबार के सिवनी ब्‍यूरो चीफ पर एक अधिकारी को ब्‍लैकमेल कर सरकारी गाड़ी का निजी उपयोग करने का मामला सामने आया है. यह मामला कांग्रेसजनों द्वारा आरटीआई डालकर पूछे गए सवालों के जवाब में खुला है. आरटीआई से सामने आई जानकारी को पत्रिका अखबार ने खबर के रूप में प्रकाशित किया है.

दैनिक भास्‍कर से राजेश, अनुराग, सुरेश और मनोज का नाता टूटा

दैनिक भास्‍कर, रांची में इन दिनों काफी उथल-पुथल मची हुई है. यहां से राजेश कुमार सिंह ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे प्रिंसिपल करेस्‍पांडेंट थे. उन्‍होंने अपनी नई पारी न्‍यूज11 के साथ शुरू की है. उन्‍हें यहां पर इनपुट हेड बनाया गया है. राजेश इसके पहले भी न्‍यूज11 से जुड़े रहे हैं. वे हिंदुस्‍तान को भी अपनी सेवाएं दे चुके हैं. भास्‍कर, रांची से अनुराग ठाकुर ने भी इस्‍तीफा दे दिया है. वे क्राइम रिपोर्टिंग की जिम्‍मेदारी संभाल रहे थे. इन्‍होंने अपनी नई पारी कशिश न्‍यूज के साथ शुरू की है. इन्‍हें सीनियर रिपोर्टर बनाया गया है. अनुराग इसके पहले हिंदुस्‍तान टाइम्‍स से भी जुड़े रहे हैं.

दैनिक भास्‍कर, रोहतक से एक महीने में चार का इस्‍तीफा

दैनिक भास्कर ने जब से रोहतक में यूनिट स्थापित की है, तभी से प्रबंधन के सामने लगातार मुश्किलें खड़ी होती जा रही है। 29 जनवरी को यूनिट की लांचिंग के कुछ दिन बाद ही नवनियुक्त महिला पत्रकार ऑफिस के माहौल को देखकर बॉय कर गईं। इस स्थान को भरने के लिए रोहतक यूनिट प्रबंधन ने काफी जद्दोजहद की, लेकिन कोई भी महिला रिपोर्टर यहां काम करने के लिए तैयार नहीं हुई।

मुकेश का तबादला, गुरुदत्‍त और विशाल का इस्‍तीफा

पत्रिका, ग्‍वालियर से गुरुदत्‍त तिवारी ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे यहां पर चीफ सब एडिटर कम सीनियर  करेस्‍पांडेंट थे. इन्‍होंने अपनी नई पारी दैनिक भास्‍कर, भोपाल के साथ शुरू की है. इन्‍होंने यहां भी वरिष्‍ठ पद पर ज्‍वाइन किया है. गुरुदत्‍त इसके पहले पीपुल्‍स समाचार और बिजनेस स्‍टैंडर्ड को भी अपनी सेवाएं दे चुके हैं.

कोयलांचल के मिजाज को समझ पाने में फेल रहा दैनिक भास्कर धनबाद

17 अप्रैल से धनबाद कोयलांचल के बाजार में पूरे ताम-झाम के साथ दैनिक भास्कर उतरा और पूरी तरह से फ्लॉप हो गया. यह एकदम सही है. इसकी  एक बड़ी वजह यह है कि दैनिक भास्कर धनबाद कोयलांचल के मिजाज को समझ पाने में एकदम फेल रहा. न तो पहले दिन और न ही अंतिम दिन भास्कर की जो टीम बनी है, वह भी एकदम डी ग्रेड की है. हिंदुस्तान और प्रभात खबर से जो लोग भास्कर में गये, वे एक तरह से दोनों अखबारों में रिजेक्‍ट श्रेणी में थे.

भास्‍कर के संपादक नरेंद्र सिंह अकेला पर नकाबपोशों ने किया जानलेवा हमला

दैनिक भास्कर, सागर के संपादक नरेन्द्र सिंह अकेला पर चार-पांच नकाबपोशों ने उस समय हमला बोल दिया जब वे छतरपुर भास्कर कार्यालय के लिये नये भवन की तलाश में निकले थे। संपादक पर हमला करके नकाशपोश अपने अपने वाहन में बैठकर फरार हो गये। हमला शुक्रवार की दोपहर साढे़ तीन बजे से चार बजे के बीच कान्हा रेस्टोरेट के पीछे महाराजा होटल छतरपुर के पास किया गया। उन्‍होंने पुलिस में रिपोर्ट दर्ज करा दी है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

दैनिक भास्‍कर से उमेश और संजय का इस्‍तीफा

दैनिक भास्‍कर, खंडवा से जुड़े खरगौन के ब्‍यूरोचीफ उमेश रेवलिया ने इस्‍तीफा दे दिया है. उन्‍होंने अपनी नई पारी खंडवा में ही पत्रिका के साथ शुरू की है. वे सिटी का काम देखेंगे. वे काफी समय से भास्‍कर से जुड़े हुए थे.

धनबाद में तेवर नहीं दिखा पाया भास्‍कर, हॉकरों ने प्रतियां फूंकी

लगभग दो माह की तैयारी तामझाम और तोड़फोड़ के बाद बाजार में उतरे भास्‍कर को देख पाठकों ने पहली नजर में ही सिरे से नकार दिया। जिस तरह बैनर व पोस्‍टर में दावे किए गए थे वैसा कुछ भी नहीं दिखा। सिर्फ गिनाने के लिए उसके संस्‍करणों में एक और संस्‍करण जरूर जुड़ गया। लांचिंग के एक दिन पहले पाठकों के बीच बांटे गए चार पेज के पोस्‍टर में भास्‍कर ने यह दावा किया था कि पहले दिन 32 पेज का अखबार होगा, लेकिन पाठकों को सिर्फ 24 पेज ही मिले।

दैनिक भास्‍कर के संपादक नरेंद्र सिंह अकेला के खिलाफ निंदा प्रस्‍ताव

: भास्‍कर के सिटी चीफ को प्रताडि़त करने का आरोप : अखिल भारतीय कायस्‍थ महासभा ने दैनिक भास्‍कर सागर यूनिट के संपादक नरेंद्र सिंह अकेला के खिलाफ निंदा प्रस्‍ताव पारित किया है. कायस्‍थ महासभा ने आरोप लगाया है कि नरेंद्र सिंह अकेला ने दैनिक भास्‍कर, सागर के सिटी चीफ अजय खरे को प्रताडि़त किया. सभा का कहना है कि अजय को प्रताडि़त करने का कारण मात्र इतना है कि वे कायस्‍थ महासभा के सदस्‍य हैं और उनके फोटो कई बैनरों तथा होर्डिंगों में छपे. जो संपादक महोदय को नागवार गुजरे.

विवादित सीडी की बातचीत भास्कर में प्रकाशित

पूर्व कानूनमंत्री और अपने पिता शांति भूषण और सपा प्रमुख मुलायम सिंह एवं अमर सिंह की कथित बातचीत के टेप को गंभीर साजिश बताते हुए सीनियर एडवोकेट प्रशांत भूषण ने सीडी को फर्जी करार दिया है. उनका दावा है कि यह जोड़-तोड़ कर तैयार की गई है. इस मामले में उन्‍होंने अमर सिंह का हाथ होने का शक जताते हुए सरकार के लोग के शामिल होने की संभावना से भी इनकार नहीं किया.

धूमधाम से हुई दैनिक भास्‍कर धनबाद की लांचिंग

दै‍निक भास्‍कर का धनबाद एडिशन धूमधाम से लांच हो गया. यह भास्‍कर समूह का 59वां तथा झारखंड से तीसरा संस्‍करण है. भास्‍कर ग्रुप इसके पहले रांची और जमशेदपुर एडिशन लांच कर चुका है. इसके साथ अब भास्‍कर की पहुंच पूरे झारखंड राज्‍य में हो गई है. भास्‍कर ने अपना लांचिंग संस्‍करण 24 पेज का छापा. हालांकि पहले इसे 32 पेज छापे जाने की योजना थी.

गेस्‍ट एडिटर अन्‍ना हजारे ने संभाली भास्‍कर की कमान

सिने स्‍टार अभिषेक बच्‍चन कल प्रभात खबर के अतिथि संपादक थे तो भ्रष्‍टाचार के खिलाफ आइकन बन चुके अन्‍ना हजारे दैनिक भास्‍कर के गेस्‍ट एडिटर थे. गेस्‍ट एडिटर के रूप में अन्‍ना ने अखबार प्रकाशन की बारीकियों को भी समझा. उन्‍होंने दैनिक भास्‍कर के लिए विशेष संपादकीय लिखा. जिसे दैनिक भास्‍कर से साभार लेकर नीचे प्रकाशित किया जा रहा है.

दैनिक भास्‍कर, धनबाद की लांचिंग आज

दैनिक भास्कर आज अपना 59वां संस्करण धनबाद से लांच करने जा रहा है.  भास्‍कर ग्रुप का झारखंड में यह तीसरा संस्करण होगा.  इसके पहले भास्‍कर रांची, जमशेदपुर में अपने संस्‍करण लांच कर चुका है. इसके साथ ही भास्‍कर हिंदुस्‍तान, जागरण और प्रभात खबर की तरह तीनों जगह से संस्‍करण निकालने वाला अखबार हो गया.   झारखंड के बाद अब दैनिक भास्कर बिहार में भी अपने संस्करण शुरू करने की तैयारी में जुट गया है.

डिमोशन से नहीं डिगे, संघर्ष से मजबूत हुए पग

दैनिक भास्‍कर के पुराने साथी नरेश भारद्वाज को फिर एक बार उनके मेहतन का फल मिला है. भास्‍कर प्रबंधन ने नरेश को कैथल का ब्‍यूरोचीफ बना दिया है. इन्‍होंने अपनी बीस साल की पत्रकारिता में 12 साल भास्‍कर को दिए हैं. साढ़े तीन साल पहले भी ये कैथल के ब्‍यूरोचीफ थे, परन्‍तु प्रबंधन ने अचानक यहां से इनका डिमोशन करते हुए कुरुक्षेत्र रिपोर्टर बनाकर भेज दिया था.

लक्ष्‍मी पंत जयपुर, राघवेंद्र रांची तथा बीएम‍ सिंह चंडीगढ़ के आरई बने

: हरिशचंद्र सिंह बनेंगे एक्‍जीक्‍यूटिव एडिटर : दैनिक भास्‍कर प्रबंधन ने अपने चार वरिष्‍ठ संपादकीय सहयोगियों का पदोन्‍नति कर नई जिम्‍मेदारी सौंपी है. जो परिवर्तन किए गए हैं उनमें जयपुर में लक्ष्‍मी पंत, हरिशचंद्र सिंह, रांची में राघवेंद्र तथा चंडीगढ़ में बीएम सिंह शामिल हैं. इसमें तीन लोगों को तीन एडिशनों का स्‍थानीय संपादक बना दिया गया है. हरिशचंद्र सिंह का प्रमोशन एक्‍जीक्‍यूटिव एडिटर के रूप में हुआ है.

दैनिक भास्‍कर से दो ऑपरेटर और एक रिपोर्टर का इस्‍तीफा

दैनिक भास्‍कर, अंबाला से रिपोर्टर अशोक, प्रदीप और राकेश के इस्‍तीफा देने के बाद दो ऑपरेटर भी संस्‍थान को बॉय कर दिया. अम्‍बाला में भास्‍कर रिपोर्टरों की कमी से जूझ रहा है. दूसरे अखबारों से कोई रिपोर्टर आने को तैयार नहीं है. जिसके बाद भास्‍कर को अपने दूसरे यूनिट से रिपोर्टरों को बुलाना पड़ा.

भास्‍कर ने छापी झूठी और गलत खबर

यशवंत जी नमस्कार, मैं आप को एक सूचना देना चाहता हूँ जो मेरी आँखों देखी है, इस घटना स्थल पर मैं मौजूद भी था, जो मेरी सूचना को पुख्ता करती है. भास्कार के बेब पर खबर छपी है जिसका शीर्षक है  पत्रकारिता विश्विद्यालय में छात्रों ने जमकर की तोड़-फोड़, जो सरासर गलत खबर है. ऐसा लगता है कि भास्कार वाले बिकी हुई खबर चलाने का ठेका ले लिए हैं, मगर पत्रिका और अन्य टीवी चैनलों ने भास्कर के विपरीत सही खबर चलाई है, जो मेरी बात को और भी पुख्ता करेंगे.

गालियों का अड्डा बना भास्‍कर डॉट कॉम

यशवंतजी, मैं आपका ध्यान भास्कर डॉट कॉम (हिंदी वेबसाइट) के होम पेज पर दिए गए ब्लॉग की ओर दिलाना चाहूंगा। यहां पर लीबिया के बारे में एक ब्लॉग पोस्ट किया गया है। लेख तो किसी भी दृष्टिकोण से प्रभावी नहीं लगा, पर अचंभा हुआ यह जानकर कि साइट को मॉडरेट करने वाले कितने सजग हैं। दरअसल इस ब्लॉग के नीचे कमेंट्स में किसी ने अभद्र शब्दों का प्रयोग करते हुए अपनी टिप्पणी की है, जिसे मॉडरेटर ने बिना पढ़े ही पब्लिश कर दिया है।

सहारा से राजकिशोर की छुट्टी, उर्मिला एवं विनय की नई पारी

रायसेन जिले में सहारा के लिए काम कर रहे स्ट्रिंगर राजकिशोर सोनी अब संहारा को सेवाएं नहीं दे पाएंगे. प्रबंधन ने उनसे किनारा कर लिया है. बताया जा रहा है कि कुछ शिकायतों के बाद प्रबंधन ने उन्‍हें काम करने से मना कर दिया. राजकिशोर अपनी नई पारी कहां से शुरू करने वाले हैं, इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है.

नीमच में व्‍यापारियों ने जलाई भास्‍कर की होली

दैनिक भास्‍कर के रतलाम यूनिट के नीमच भास्‍कर में प्रकाशित खबरों से नाराज व्‍यापारियों ने भास्‍कर की प्रतियां जलाईं. नीमच के मनासा तहसील के कई व्‍यापारी पिछले दिनों भास्‍कर में छपे एक खबर से नाराज थे. व्‍यापारी इस खबर का खंडन चाह रहे थे परन्‍तु अखबार इसके लिए तैयार नहीं था. इससे नाराज व्‍यापारियों ने भास्‍कर की होली जला दी.

भास्‍कर के कार्यक्रम में महिमा चौधरी के साथ छेड़छाड़

: जमशेदपुर में अखबार के सौ दिन पूरे होने पर आयोजित था दौड़ : जमशेदपुर में दैनिक भास्कर की सफलता के सौ दिन पूरे होने के उपलक्ष्य में शनिवार को रन फॉर जमशेदपुर का आयोजन किया गया। इसमें फिल्म अभिनेत्री महिमा चौधरी के साथ पूरा शहर दौड़ा। दौड़ के वक्त महिमा के साथ छेड़छाड़ की जाने का मामला सामने आया है।

क्‍या यही है भास्‍कर की पत्रका‍रिता का स्‍टैंडर्ड!

आखिर, मीडिया ऐसा क्यों है। सूचनाओं और समाचारों को सलीके से प्रस्तुत करना तो शायद हम भूल ही गए हैं। पिछले दिनों दैनिक भास्कर की वेबसाइट पर एक खबर पढ़ी ‘बाबा रामदेव ने खुद को बताया भगवान राम और महात्मा गांधी’। हेडिंग के नीचे मैटर भी पढ़ा। लेकिन मुझे बाबा रामदेव के बयान से ऐसा कुछ कहने की बू नहीं आई। खबर में रामदेव के हवाले से लिखा गया है- ‘मैं तो वही कर रहा हूं जो महात्मा गांधी और भगवान राम ने किया था। जब भगवान राम को नहीं बख्शा गया तो वे मुझे कैसे छोड़ सकते हैं।’

भास्‍कर के सागर इकाई में उथल-पुथल, पत्रिका ने खरीदी जमीन

दैनिक भास्‍कर ग्रुप के बुंदेलखंड एडिशन में धड़ाधड़ हो रहे तबादलों के बीच पत्रिका भी सागर में दस्‍तक देने की तैयारी शुरू कर दी है. खबर है कि पत्रिका ने सागर के इंडस्‍ट्रीयल एरिया में दो हजार वर्ग मीटर जमीन खरीदी है. इधर भास्‍कर के भीतर लगातार तबादलों से कर्मचारियों में नाराजगी है.

भास्‍कर, धनबाद 17 को आएगा बाजार में

दैनिक भास्‍कर के धनबाद एडिशन की लांचिंग के लिए तैयारियां तेजी से चल रही हैं. खबर है कि अखबार को 17 अप्रैल में बाजार में लाए जाने की योजना हैं. इसके लिए यूनिट को अप टू डेट किया जा रहा है. इसके लिए सभी रिपोर्टरों को ट्रेनिंग दी जा रही है. डेस्‍क के लोगों को भी जानकारियां दी जा रही हैं. प्रबंधन कहीं कोई कमी नहीं छोड़ना चाह रहा है.

भास्‍कर, रांची से विकास का तबादला धनबाद, चीफ सब एडिटर बने

दैनिक भास्‍कर, रांची में रीजनल डेस्‍क पर सीनियर सब एडिटर के रूप में काम कर चुके विकास शुक्‍ला को धनबाद भेजा जा रहा है. खबर है कि उन्‍हें धनबाद में चीफ सब एडिटर बनाया गया है. विकास ने धनबाद में ज्‍वाइन कर लिया है. इसके पहले विकास रांची में भी धनबाद की टीम को ट्रेनिंग दी थी.

विजय भास्‍कर से जुड़े, सतपाल का पंजाब केसरी से इस्‍तीफा

विजय मनोहर राव टाले ने दैनिक भास्‍कर, औरंगाबाद के साथ अपनी नई पारी शुरू की है. उन्‍हें सर्कुलेशन मैनेजर बनाया गया है. वे इसके पहले दैनिक देशोन्‍नति से जुड़े हुए थे. वे देशोन्‍नति को जलगांव तथा नागपुर में अपनी सेवाएं दे चुके हैं. बारह साल के अपने करियर में विजय दैनिक गांवकरी के साथ भी जुड़े रहे हैं.

नईदुनिया, पत्रिका और भास्‍कर की जंग, पिस रहा विज्ञापनदाता

ग्वालियर इन दिनों अखबारी जंग का अखाड़ा बना हुआ है। यह जंग तब से और तेज हो गई है जब से पत्रिका ने ग्वालियर में कदम रखा। ग्वालियर  को अखबार के मालिक सदैव से कमाऊ मानते रहे हैं। लेकिन दिक्कत तब शुरू होती है जब रेवेन्यू कलेक्शन की बात होती है। विज्ञापनदाता सीमित हैं और वे इस अखबारी जंग में पिस रहे हैं। वे समझ नहीं पा रहे हैं कि किसे विज्ञापन दें और किसे न दें।

भास्‍कर शहर में सबसे ज्‍यादा पढ़ा जाने वाला अखबार

दैनिक भास्कर समूह ने एक बार फिर अपनी श्रेष्ठता साबित करते हुए पांच लाख नए पाठक जोड़े हैं। इंडियन रीडरशिप सर्वे (आईआरएस)-2010 की चौथी तिमाही के आंकड़ों के मुताबिक, दैनिक भास्कर समूह एक करोड़ 79 लाख पाठकों के साथ देश का सबसे बड़ा अखबार समूह है। समूह का प्रमुख अखबार दैनिक भास्कर अपने प्रसार क्षेत्र में बढ़त कायम रखे हुए है और शहरी क्षेत्र में देश का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला अखबार है।

भास्‍कर के सागर यूनिट में उथल-पुथल, क्राइम रिपोर्टर की छुट्टी

: प्रह्ललाद नायक समेत तीन लोग इधर से उधर : दैनिक भास्‍कर के सागर यूनिट में इनदिनों काफी उथल-पुथल मची हुई है. तीन लोगों को इधर-उधर किया गया है तो क्राइम रिपोर्टर की छुट्टी कर दी गई है. चर्चा है कि एडिटर से पटरी न बैठ पाने के चलते इन लोगों को सागर से दूसरे क्षेत्रों के लिए विदा होना पड़ा है. इस फेरबदल में सागर में पिछले पन्‍द्रह सालों से काम कर रहे प्रह्लाद नायक का नाम भी है.

दैनिक भास्‍कर से जुड़े राकेश, अमित, अजय एवं अखिलेश

दैनिक भास्‍कर, धनबाद की लांचिंग अप्रैल में होने वाली है. इसके लिए नई नियुक्तियां शुरू हो गई हैं. चार लोगों ने भास्‍कर से अपनी नई पारी शुरू की है. चारों लोग इसके पहले प्रभात खबर से जुड़े हुए थे. भास्‍कर से जुड़ने वालों में राकेश पाठक, अमित रंजन, अजय कुमार और अखिलेश कुमार शामिल हैं.

नवज्‍योति में समाचार संपादक बने अरविंद अपूर्वा

दैनिक भास्कर, अजमेर के उप संपादक अरविंद अपूर्वा ने दैनिक नवज्योति, कोटा ज्वाइन किया है। ज्वाइन करने के बाद छुट्टी पर गए अपूर्वा होली के बाद नियमित काम पर देखेंगे। राजेंद्र हाड़ा के दैनिक भास्कर छोड़ने के बाद अपूर्वा नागौर डाक संस्करण प्रभारी बने थे। इससे पहले वे सिटी डेस्क पर थे। डाक संस्करणों का कलस्टर बना दिए जाने के बाद वे फिर सिटी डेस्क पर थे।

डा. रमेश अग्रवाल होंगे भास्‍कर, अजमेर के संपादक

रमेशजीदैनिक भास्‍कर, अजमेर के नए संपादक डा. रमेश अग्रवाल होंगे. संपादक के रूप में डा. अग्रवाल की भास्‍कर, अजमेर संग यह दूसरी पारी है. इसके पहले वे 1997 से 2000 तक यहां स्‍थानीय संपादक रह चुके हैं. इसके बाद इन्‍हें समन्‍वय संपादक बना दिया गया था. फिलहाल वे दैनिक भास्‍कर, जयपुर में स्‍टेट कोआर्डिनेटर के पद पर हैं.

हिंदुस्‍तान ने फिर उधेड़ी भास्‍कर के डीबी पावर की बखियां

हिंदुस्‍तान ने अब खुल्‍लम-खुल्‍ला डीबी पावर के खिलाफ अपना मोर्चा खोल लिया है. बुधवार को एक रिपोर्ट प्रकाशित करने के बाद आज दूसरे दिन भी हिंदुस्‍तान के सिपहसलार सुहैल हामिद ने एक स्‍टोरी लिखी है. इसे संपादकीय के बाद वाले पेज पर प्रमुखता के साथ छापा गया है. ‘डीबी पावर के प्रस्‍ताव पर भड़के लोग’ शीर्षक से मुख्‍य स्‍टोरी के साथ एक दूसरी स्‍टोरी भी प्रकाशित की गई है.

डीबी पॉवर के खिलाफ हिंदुस्‍तान ने भी खोला मोर्चा

: सुहैल हामिद ने छापी बड़ी रिपोर्ट : यकीन करना मुश्किल है कि देश के मीडिया घराने अब पत्रकारिता की आड़ में संपत्ति हथियाने की लड़ाई में उतर गए हैं. दैनिक भास्‍कर ग्रुप का कारनामा अक्‍सर सुर्खियों में रहता है. इस समय सुर्खी छत्‍तीसगढ़ के धर्मजयगढ़ में डीबी पॉवर को मिले कोल ब्‍लॉक के ठेके को लेकर है. हिंदु के बाद हिंदुस्‍तान ने भी डीबी पॉवर के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. इसके लिए सुहेल हामिद को तैनात किया गया है. अब इस खबर को जनहित में लिखा गया है या फिर व्‍यवसायिक प्रतिद्वंद्वता में, यह तो हिंदुस्‍तान जाने पर इस खबर ने इस प्रोजेक्‍ट के पीछे चल रहे गोरखधंधे को जरूर उजागर किया है.

रमेंद्र ने भास्‍कर छोड़ा, शालिनी जीएनएन पहुंचीं

दैनिक भास्‍कर, रांची से रमेंद्र नाथ झा ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे यहां पर सीनियर सब एडिटर थे. बताया जा रहा है उन्‍होंने पत्रकारिता को ही अलविदा कह दिया है. अब वे अपने खुद के कार्य में लगेंगे. रमेंद्र इसके पहले काफी समय तक दैनिक जागरण को भी अपनी सेवाएं दे चुके हैं.

दैनिक भास्‍कर, नागपुर में घमासान जारी, नाराज संजय वापस लौटे

: योगेश चिवंडे को बनाया गया नया चीफ रिपोर्टर : दैनिक भास्‍कर, नागपुर में आंतरिक उठापटक जारी है. नाराज होने और मानने का दौर चल रहा है. खबर है कि चीफ रिपोर्टर पद से हटाए गए संजय देशमुख लंबी छुट्टी वापस लौट आए हैं. उन्‍होंने सेंट्रल डेस्‍क पर ज्‍वाइन किया है. इसके बाद अब आतंरिक गुटबाजी भी तेज होने की संभावना बढ़ गई है. देशमुख पर पहले भी मराठीवाद करने के आरोप लगते रहे हैं.

सतीश ने हरिभूमि एवं अशोक ने प्रदेश टुडे ज्‍वाइन किया

पिछले दिनों दैनिक भास्‍कर, लुधियाना से इस्‍तीफा देने वाले न्‍यूज एडिटर सतीश श्रीवास्‍तव ने अपनी नई पारी शुरू की है. वे हरिभूमि रोहतक से जुड़ने जा रहे हैं. उन्‍हें यहां भी न्‍यूज एडिटर की जिम्‍मेदारी दी जाएगी. वे भास्‍कर से पहले अमर उजाला से जुड़े हुए थे. अमर उजाला को पंजाब तथा यूपी में अपनी सेवाएं दीं. दैनिक जागरण, प्रभात खबर को भी अपनी सेवांए दे चुके हैं.

टीवी चैनल चाहते हैं एडल्‍ट सामग्री दिखाना

: केंद्र सरकार ने नहीं दी नग्‍नता दिखाने की अनुमति : केन्द्र सरकार ने एडल्ट सामग्री परोसने की चैनलों की मांग और दलील को साफ तौर से ठुकरा दिया है। चैनलों ने प्रस्ताव दिया था कि चूंकि ‘वाटरशेड’ के दौरान दर्शकों को एडल्ट सामग्री उपलब्ध कराने का दुनिया भर में रिवाज है, लिहाजा उन्हें भी यह अनुमति मिले। टीवी इंडस्ट्री में इस्तेमाल होने वाली शब्दावली ‘वाटरशेड’ वह समयावधि है जिसके दौरान एडल्ट सामग्री का प्रसारण किया जा सकता है। भारत में ‘वाटरशेड’ अवधि रात्रि11 बजे से लेकर 5 बजे सुबह के बीच में है।

अभिषेक भास्‍कर से जुड़े, राजेश का अमर उजाला से इस्‍तीफा

हिंदुस्‍तान टाइम्‍स, हरदा से अभिषेक दुबे ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे रिपोर्टर थे. इन्‍होंने अपनी नई पारी दैनिक भास्‍कर, भोपाल के साथ शुरू की है. उन्‍हें रिपोर्टिंग की जिम्‍मेदारी सौंपी गई है. अभिषेक पीटीआई को भी अपनी सेवाएं दे चुके हैं.

हजारीबाग में तीन मीडियाकर्मियों से मारपीट, कैमरे छीने गए

: घटना की लिखित शिकायत पुलिस को दी गई : हजारीबाग में न्‍यूज कवर करने गए दो पत्रकार एवं एक फोटोग्राफर के साथ ग्रामीणों ने मारपीट की. इनलोगों के कैमरे, मोबाइल और पैसे भी छीन लिए गए. तीनों को चोटें भी आई हैं. मीडियाकर्मियों ने घटना की लिखित शिकायत पुलिस को दे दी है. पुलिस ने अभी मुकदमा दर्ज नहीं किया है.

प्रशांत भास्‍कर पहुंचे, प्रदीप और दिनेश इंडिया न्‍यूज से जुड़े

हिंदुस्‍तान, आगरा से प्रशांत झा ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे यहां पर सीनियर सब एडिटर थे. इन्‍होंने अपनी नई पारी दैनिक भास्‍कर के साथ दिल्‍ली में शुरू की है. यहां भी इन्‍हें सीनियर सब एडिटर बनाया गया है. मूल रूप से कानपुर के रहने वाले प्रशांत ने अपने करियर की शुरुआत राष्‍ट्रीय सहारा, लखनऊ से की थी. इसके बाद अमर उजाला, कानपुर से जुड़ गए थे. यहां से इस्‍तीफा देने के बाद हिंदुस्‍तान ज्‍वाइन कर लिया था.

भास्‍कर समूह की गुंडागर्दी, पत्रकारों पर कराया मुकदमा

रायगढ़ जिले धरमजयगढ़ में दैनिक भास्कर समूह की कोल डिविज़न का एक ब्लाक सरकार ने आबंटित किया है, जिसकी जनसुनवाई 28 फ़रवरी को होनी है, पर इससे पहले दैनिक भास्कर समूह ने गुंडागर्दी की पराकाष्ठ पार कर दी. 22 फ़रवरी को स्थानीय ग्रामीणों ने डीबी पॉवर के खिलाफ हल्ला बोल दिया और उनके धरमजयगढ़ स्थित कार्यालय में तोड़-फोड़ कर दी. इसके बाद डीबी पॉवर के अधिकारियों ने ग्रामीणों के अलावा उन पत्रकारों पर भी एफ़आईआर दर्ज करावा दी, जो घटना की कवरेज़ करने गए थे.

भास्‍कर से इस्‍तीफा देकर हिंदुस्‍तान, बरेली के संपादक बने आशीष व्‍यास

आशीषदैनिक भास्‍कर, अजमेर के संपादक आशीष व्‍यास ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे पिछले डेढ़ दशक से भास्‍कर के साथ जुड़े हुए थे. वे अपनी नई पारी हिंदुस्‍तान के साथ शुरू कर रहे हैं. उन्‍हें हिंदुस्‍तान, बरेली का आरई बनाया जा रहा है. अगले कुछ दिनों में वे अपना कार्यभार संभाल लेंगे. उल्‍लेखनीय है कि केके उपाध्‍याय का आगरा तबादला किए जाने के बाद हिंदुस्‍तान, बरेली में संपादक का पद खाली चल रहा था.

एमआर मलकानी की नई पारी, दिनेश जोशी का इस्‍तीफा

एमआर मलकानी ने डीजी न्‍यूज, जोधपुर के साथ नई पारी शुरू की है. उन्‍हें रिपोर्टिंग की जिम्‍मेदारी सौंपी गई है. वे पिछले तीस वर्षों से पत्रकारिता के क्षेत्र में सक्रिय हैं. मलकानी ने अपने करियर की शुरुआत 1980 में दैनिक नवज्‍योति से की थी. इसके बाद तीसरा प्रहर, खोज खबर, हलचल एवं मेट्रो दृष्टि जैसे समाचार पत्रों में काम किया. वे केबल सन सिटी, दृष्टि टीवी नेटवर्क और लाइव इंडिया से भी जुड़े रहे. इन्‍हें क्राइम का अच्‍छा पत्रकार माना जाता है.

सीबीआई करेगी पत्रकार सुशील पाठक हत्‍याकांड की जांच

छत्‍तीसगढ़ के मुख्‍यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने दै‍निक भास्‍कर बिलासपुर के पत्रकार सुशील पाठक की हत्‍या की जांच सीबीआई से कराने की घोषणा की है. नेता प्रतिपक्ष रविंद्र चौबे और विधायक धर्मजीत सिंह ने सीबीआई जांच की मांग की थी. दोनों नेताओं कहा था कि यह सुपारी किलिंग का मामला है. दोबारा इस तरह की घटना ना हो इसलिए यह मामला सीबीआई को देना चाहिए.

भास्‍कर के पत्रकार वेदप्रकाश को पितृशोक

दैनिक भास्‍कर, जोधपुर में सीनियर सब एडिटर वेदप्रकाश शर्मा के पिता सुख वल्‍लभ शर्मा का निधन हो गया. वे 95 वर्ष के थे. वे काफी दिनों से बीमार थे तथा उनका इलाज चल रहा था. उनका अंतिम संस्‍कार कर दिया गया. वे अपने पीछे भरा-पूरा परिवार छोड़ गए हैं. श्री शर्मा के निधन पर पत्रकारों …

रामानुज का एमएच1 से इस्‍तीफा, बिंदिया की भास्‍कर संग नई पारी

एमएच1 से रामानुज सिंह ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे यहां पर टिकर इंचार्ज थे. वे अपनी नई पारी कहां शुरू करने जा रहे हैं इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है. रामानुज ने चैनल की आंतरिक परिस्थितियों से तंग आकर इस्‍तीफा दिया है.

राजेश और प्रदीप की नई पारी

दैनिक भास्‍कर, दंतेवाड़ा से हटाए गए राजेश दास अगली पारी पत्रिका के साथ शुरू करने की तैयारी में हैं. वे भास्‍कर में ब्‍यूरोचीफ के पद पर कार्यरत थे. बस्‍तर में पत्रिका की लांचिंग होने वाली है. राजेश को दंतेवाड़ा का ब्‍यूरोचीफ बनाया जा रहा है. वे इसके पूर्व हरिभूमि को भी क्राइम रिपोर्टर के रूप में अपनी सेवाएं दे चुके हैं.

पंकज और चंद्रभूषण ने शुरू की नई पारी

दैनिक आज, पटना से पंकज मालवीय ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे यहां पर सीनियर रिपोर्टर थे. इन्‍होंने अपनी नई पारी नई दुनिया के साथ शुरू की है. इन्‍हें यहां भी सीनियर रिपोर्टर बनाया गया है. पंकज इसके पहले भी नई दुनिया को अपनी सेवाएं दे चुके हैं. इन्‍होंने अपने करियर की शुरुआत दो दशक पहले नवभारत टाइम्‍स के साथ की थी. पंकज दैनिक जागरण, प्रभात खबर समेत कई समाचार पत्रों के साथ काम कर चुके हैं.

रिचिक का भास्‍कर और संजय का प्रभात खबर संग नई पारी

पत्रिका ग्रुप के डेली न्‍यूज से रिचिक मिश्रा ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे यहां पर सब एडिटर थे. इन्‍होंने अपनी नई पारी दैनिक भास्‍कर, जयपुर के साथ की है. इन्‍हें सीनियर सब एडिटर बनाया गया है. रिचिक एजेंसी डेस्‍क देखेंगे. मूल रूप से उत्‍तर प्रदेश के अयोध्‍या के रहने वाले रिचिक माखनलाल से पास आउट छात्र हैं. इन्‍होंने करियर की शुरुआत लोकमत टाइम्‍स औरंगाबाद से की थी. लोकमत को मुंबई में भी अपनी सेवाएं दीं. इसके बाद डीएलए एएम, आगरा से जुड़ गए. पिछले ढाई साल से ये डेली न्‍यूज को अपनी सेवाएं दे रहे थे.

अमल ने भास्‍कर और शैलेंद्र ने बंसल न्‍यूज ज्‍वाइन किया

हिंदुस्‍तान, बरेली को अमल चौधरी ने अपने इस्‍तीफे का नोटिस दे दिया है. अमल यहां फीचर एडिटर थे. वे अपनी नई पारी दैनिक भास्‍कर, भोपाल के साथ शुरू करने जा रहे हैं. उन्‍हें सीनियर सब एडिटर बनाया गया है. वो पिछले चार साल से हिंदुस्‍तान को अपनी सेवाएं दे रहे थे. मूल रूप से लखनऊ के रहने वाले अमल ने बरेली में हिंदुस्‍तान का रीमिक्‍स सप्‍लीमेंट बंद हो जाने की बात को ध्‍यान में रखकर पहले ही सुरक्षित किनारा ढूंढ लिया है. वे कई अखबारों में काम कर चुके हैं.

अभिषेक ने हिंदुस्‍तान, निखिल ने भास्‍कर छोड़ा

हिंदुस्‍तान, बरेली से अभिषेक पांडेय ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे मार्केटिंग विभाग में कार्यरत थे. अभिषेक अखबार की बरेली में लांचिंग के समय से ही जुड़े हुए थे. उन्‍होंने अपनी नई पारी एसओडीपी टूर एंड ट्रेवेल्‍स कंपनी से शुरू की है. अभिषेक ने सीनियर एक्‍जीक्‍यूटिव ग्रुप सेल्‍स के पोस्‍ट पर ज्‍वाइन किया है. हिंदुस्‍तान से पहले अभिषेक अमर उजाला के साथ मुरादाबाद और देहरादून में भी काम कर चुके हैं.

धनबाद में बसंत झा संभालेंगे भास्‍कर, राघवेंद्र छुट्टी पर

दैनिक भास्‍कर अपने धनबाद एडिशन के लांचिंग की तैयारियों में जुटा हुआ है. यहां से जानकारी मिली है कि इस एडिशन के संपादक को बदल दिया गया है. पहले धनबाद एडिशन के एडिटर के रूप में राघवेंद्र का नाम तय किया गया था, जो रांची दैनिक भास्‍कर में इस समय पॉलिटिकल एडिटर के रूप में अपनी सेवाएं दे रहे हैं. अब नई खबर है कि अब धनबाद एडिशन के लिए बसंत झा का नाम एडिटर के रूप में फाइनल किया गया है, जो इस समय डीबी स्‍टार, रांची के इंचार्ज के रूप में काम कर रहे हैं.

पत्रकार सुशील हत्‍याकांड की सीबीआई जांच की मांग

: पत्रकारों ने जिला मुख्‍यालय पर दिया धरना : बिलासपुर के पत्रकारों ने दैनिक भास्कर के वरिष्ठ पत्रकार सुशील पाठक के हत्यारों की दो महीने बाद भी गिरफ्तारी न होने पर पुलिस प्रशासन के खिलाफ धरना दिया. नेहरू चौक पर धरनारत पत्रकारों का गुस्‍सा पुलिस की नाकामी पर फूट पड़ा. पत्रकारों ने जांच पुलिस से लेकर सीबीआई को सौंपे जाने की मांग की. कलक्‍टर के माध्‍यम से मुख्‍यमंत्री को ज्ञापन सौंपा गया.

राजस्‍थान के दो पत्रकारों को पितृशोक

राजस्थान पत्रिका, जोधपुर में उप संपादक महेन्द्र त्रिवेदी के पिता चिरंजीलाल श्रीमाली का नागौर में निधन हो गया. वो कुछ दिनों से बीमार थे. उनका इलाज चल रहा था. मंगलवार रात को उन्‍होंने अंतिम सांस ली. तमाम पत्रकार संगठनों ने श्रीमाली के निधन पर गहरा दुख जताया है. पत्रकारों ने उनके परिवार को ईश्‍वर से दुख सहने की शक्ति देने की प्रार्थना भी की है.

जेब अख्‍तर ने दैनिक भास्‍कर ज्‍वाइन किया

प्रभात खबर, भागलपुर से जेब अख्‍तर ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे डीएनई थे. कुछ दिन पहले उनका तबादला प्रभात खबर ने रांची से भागलपुर के लिए किया था. उन्‍होंने अपनी नई पारी दैनिक भास्‍कर के साथ शुरू की है. फिलहाल उन्‍होंने रांची में ज्‍वाइन किया है, परन्‍तु बताया जा रहा है कि वे धनबाद …

अजीत ने भास्‍कर छोड़ा, भारत ने इवनिंग प्‍लस ज्‍वाइन किया

दैनिक भास्‍कर के साथ अजीत सिंह को अपनी दूसरी पारी रास नहीं आई. उन्‍होंने दैनिक भास्‍कर, जयपुर से इस्‍तीफा दे दिया है. वो स्‍टेट ब्‍ूयरो में काम कर रहे थे. वे अपनी नई पारी कहां से शुरू करने वाले हैं, इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है. अजीत इसके पहले न्‍यूज टुडे, भास्‍कर और आउटलुक में भी काम कर चुके हैं.

प्रेम एवं विजेंद्र ने जनवाणी, राजीव ने भास्‍कर ज्‍वाइन किया

दैनिक जागरण, नोएडा से प्रेम भट्ट ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे जागरण के नेशनल एडिशन में चीफ सब एडिटर थे. उन्‍होंने अपनी नई पारी की शुरुआत जनवाणी, मेरठ के साथ की है. यहां भी उन्‍हें चीफ सब एडिटर बनाया गया है. प्रेम मेरठ में इसके पहले भी रह चुके हैं. जागरण ज्‍वाइन करने से पहले वे अमर उजाला, मेरठ में सीनियर सब एडिटर के पोस्‍ट पर तैनात थे.

पकड़े गए जुआरियों में दैनिक भास्कर, भोपाल का भी एक कर्मी?

भोपाल में कई जुआरी पुलिस के हत्थे चढ़े हैं. सूत्रों का कहना है कि इनमें से एक दैनिक भास्‍कर, भोपाल के सर्कुलेशन विभाग में कार्यरत कर्मचारी है जिनका नाम सलज गुप्ता हैं. सभी जुआरी सिंचाई विभाग के दफ्तर में जुआ खेलते पकड़े गये. इस संबंध में पीपुल्स समाचार एवं पत्रिका अखबार में खबर भी प्रकाशित की गई. लेकिन प्रकाशित खबर में भास्कर का कर्मचारी होने का उल्लेख नहीं है, सिर्फ जुआरियों के नाम भर दिए गए हैं.

”भास्‍कर की घोषणा से हजारों अभिभावक परेशान हैं”

दैनिक भास्कर के 31 जनवरी 2011 के अंक में प्रतिभाशाली विद्यार्थियों के लिए एक करोड़ रूपये की स्कालरशिप देने की घोषणा का आधे पेज का विज्ञापन अखबार के पेज नम्‍बर दो पर छापा गया है। जिसमें अभिवावकों से अपने बच्चों का रजिस्‍ट्रेशन वेबसाइट भास्कर जीनियस 2011 डॉट कॉम, भास्‍कर स्‍कालरशिप डॉट कॉम पर कराने के लिए कहा गया है। इस वेबसाइट पर न तो कहीं भी रजिस्‍ट्रेशन का कालम है और न ही कहीं भी दैनिक भास्कर जीनियस 2011 का ही विवरण है।

रवींद्र कैलासिया बने भास्‍कर टीवी, भोपाल के संपादक

पत्रिका, जबलपुर से रवींद्र कैलासिया ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे एनई थे. उन्‍होंने नई पारी दैनिक भास्‍कर ग्रुप के भास्‍कर टीवी के साथ शुरू की है. उन्‍होंने एडिटर के पोस्‍ट पर ज्‍वाइन किया है. ये भास्‍कर ग्रुप के साथ उनकी दूसरी पारी है. कैलासिया ने अपने करियर की शुरुआत 1984 में नई दुनिया, इंदौर के साथ की थी. इसके बाद वे चौथा संसार, दैनिक नई दुनिया, नवभारत को भी अपनी सेवाएं दीं.

पत्रिका और भास्‍कर के पत्रकारों को ढंग से नींद भी नहीं आ रही

हनुमानगढ़ में इन दिनों पत्रिका- भास्कर में खूब घमासान मचा हुआ है. दोनों अखबारों ने गंगानगर से अलग ”हनुमानगढ़-संस्करण” शुरू कर दिए हैं. प्रसार, विज्ञापन से ज्यादा इन दिनों समाचारों को लेकर जंग छिड़ी हुई है. दोनों के कार्यालयों में सम्पादक-मंडल में करीब 8 -9 पत्रकार होने के बावजूद अन्य अखबारों के पत्रकारों से भी सहयोग लिया जा रहा है. हालात ऐसे हो गए हैं कि पत्रिका- भास्कर के पत्रकारों को सुबह होने के इंतजार में आजकल रात को नींद भी ढंग से नहीं आती है.

आईएमसीएल से एचआर मैनेजर आकांक्षा का इस्‍तीफा

दैनिक भास्‍कर के वेब डिवीजन आईएमसीएल, नोएडा से आकांक्षा हांडा ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे यहां पर एचआर मैनेजर थीं. वे अपनी नई पारी कहां से शुरू करने वाली हैं, इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है. आकांक्षा पिछले ढाई वर्षों से आईएमसीएल के साथ थीं. यहां आने से पहले वो नोकिया के साथ जुड़ी …

मराठी में अखबार निकालेगा भास्कर समूह

मुंबई स्टाक एक्सचेंज को आज डीबी कार्प लिमिटेड ने दो लाइन की सूचना दी कि कंपनी अब मराठी भाषा में महाराष्ट्र में विस्तार करते हुए अखबार के प्रकाशन की तैयारी कर रही है. इस एनाउंसमेंट के बाद माना जा रहा है कि भास्कर प्रबंधन जल्द ही महाराष्ट्र में पांव पसारने वाला है. डीबी कार्प की तरफ से हिंदी में दैनिक भास्कर अखबार कई हिंदीभाषी प्रदेशों से प्रकाशित किया जाता है. इसके अलावा गुजराती में दिव्य भास्कर गुजरात के कई शहरों से प्रकाशित किया जा रहा है.

दैनिक भास्कर ब्यूरो कार्यालय में तालाबंदी

तालाअपने को देश का सबसे बड़ा समाचार पत्र समूह कहने वाले दैनिक भास्कर की स्थिति यह है कि किराया भुगतान नहीं करने से उसके ब्यूरो कार्यालय में ताला लगा दिया गया। यह माजरा है छत्तीसगढ़ के महासमुंद ब्यूरो का। भड़ास ने पहले ही खबर दी थी कि यदि भास्कर प्रबंधन ने महासमुंद भास्कर ब्यूरो के मकान मालिक योगेश कुमार की बात नहीं मानी तो वे एक फरवरी को भास्कर कार्यालय में ताला लगा देंगे। हुआ भी यही।

आज समाज से सुरजीत सैनी भास्‍कर पहुंचे

आज समाज से बड़ी खबर आ रही है। पता चला है कि चंडीगढ़/अंबाला आज समाज से समाचार सम्पादक सुरजीत सैनी ने इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने दैनिक भास्कर का दामन फिर से थाम लिया है। इस बार उन्होंने जालंधर में बतौर डिप्टी एडीटर ज्वाइन किया है। यहां बता दें कि हरियाणा में आज समाज के शुरू हुए अभी एक साल ही हुए हैं। लेकिन इस दौरान अखबार ने कई फेरबदल देख लिए हैं।

भास्‍कर ने नौसेना के आईएनएस को मुंबई एयरपोर्ट पर डूबाया

अब तक तमाम बड़े अखबारों के वेबसाइट किसी के मरने पर किसी और की फोटो छाप देते थे. किसी जिंदा व्‍यक्ति को दिवंगत बता देते थे. आंकड़ों में गलतियां कर देते थे. पर अब तो ये चमत्‍कार और असंभव को संभव करने जैसा भी काम करने लगे हैं. इस बार यह असंभव काम दैनिक भास्‍कर की वेबसाइट ने किया है. भास्‍कर ने नौसेना के युद्धपोत आईएनएस को मुंबई बंदरगाह की जगह मुंबई एयरपोर्ट पर डूबा दिया है. अब लोगों की समझ में नहीं आ रहा है आखिर नौसेना का जहाज मुंबई एयरपोर्ट पहुंचा कैसे?

अश्‍वनी ने मीडिया छोड़ा, रामलच्‍छा की नई पारी

आर्थिक पत्रकार अश्‍वनी कुमार श्रीवास्‍तव ने 10 साल के करियर के बाद मीडिया जगत को अलविदा कह दिया है. खबर है कि अब वे अपना बिजनेस शुरू करने जा रहे हैं. लखनऊ के रहने वाले अश्‍वनी फिलहाल दैनिक भास्‍कर से जुड़े हुए थे. आईएआईएमसी के छात्र अश्‍वनी ने दस साल पहले अपने करियर की शुरुआत की थी. अश्‍वनी ने दिसम्‍बर 2010 में बिजनेस स्‍टैण्‍डर्ड हिंदी में सहायक समाचार संपादक के पद से इस्‍तीफा देकर दैनिक भास्‍कर से जुड़े थे. ये नवभारत टाइम्‍स एवं हिन्‍दुस्‍तान को भी अपनी सेवाएं दे चुके हैं.

कल भास्‍कर के महासमुंद कार्यालय में ताला लगा देंगे योगेश!

अगर दैनिक भास्‍कर ने योगेश कुमार की बात नहीं मानी तो एक फरवरी को वे भास्‍कर के महासमुंद कार्यालय में तालाबंदी कर देंगे. योगेश ने अपना अल्‍टीमेटम दैनिक भास्‍कर, रायपुर के महाप्रबंधक, महासमुंद के पुलिस अधीक्षक एवं जिलाधिकारी को दे चुके हैं. आज उस अल्‍टीमेटम का आखिरी दिन है.

रोहतक में भास्‍कर ने लांच की अपनी नई यूनिट

दैनिक भास्‍कर ने अपनी नई प्रकाशन यूनिट रोहतक में लांच कर दी है. हरियाणा के मुख्‍यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने दैनिक भास्‍कर के रोहतक यूनिट का शुभारंभ नई प्रिंटिंग मशीन का बटन दबाकर किया. इस मौके पर उन्‍होंने प्रकाशित विशेषांक का भी विमोचन किया. इसके साथ ही हरियाणा में भास्‍कर के तीसरी प्रिंटिंग यूनिट स्‍थापित हो गई है. इसके पहले पानीपत तथा हिसार में भास्‍कर की प्रिंटिंग यूनिट स्‍थापित थी.

अवनीन्‍द्र एवं अनूप की नई पारी, कमलेश का इस्‍तीफा

टाइम्‍स ऑफ इंडिया से अवनीन्‍द्र मिश्रा ने इस्‍तीफा दे दिया है. उन्‍होंने अपनी नई पारी भास्‍कर समूह के अंग्रेजी अखबार डीएनए से की है. अवनीन्‍द्र की भास्‍कर ग्रुप के साथ यह दूसरी पारी है. वे इसके पहले भास्‍कर टीवी में भी काम कर चुके हैं. राव जसवंत सिंह पहले ही डीएनए के हिस्‍सा बन चुके हैं.

भास्‍कर ने बनाया अजीम प्रेमजी को लक्ष्‍मी निवास मित्‍तल का समधी!

[caption id="attachment_19372" align="alignleft" width="94"]रिशद प्रेमजीरिशद प्रेमजी[/caption]गलत फोटो लगाना जैसे हिंदी के दिग्‍गज अखबारों के वेबसाइटों की परम्‍परा सी बन गई है. अभी दो दिन पहले दैनिक जागरण ने पंडित भीम सेन जोशी की जगह पंडित जसराज की फोटो छाप कर उन्‍हें मार डाला था. आज जागरण का प्रतिद्वंदी दैनिक भास्‍कर भी उससे पीछे नहीं रहा. इस अखबार की वेबसाइट ने तो रिश्‍तेदारियां ही बदल कर रख दी.

भास्‍कर को चाहिए वितरकों से कमाई में हिस्‍सा!

दैनिक भास्‍कर अब कमाई का कोई जरिया छोड़ना नहीं चाहता है. जैसे भी मिले पैसे आने चाहिए. अब अखबार को वितरकों द्वारा अखबार में भरे जाने वाले इंसर्ट और पम्‍पलेट से होने वाली कमाई में भी एक तिहाई हिस्‍सा चाहिए. यह पैसा कंपनी के खाते में जाएगा. जो वितरक यह हिस्‍सा नहीं देंगे उनकी सप्‍लाई बंद कर दी जाएगी.

भास्‍कर के मालिक रमेश चंद्र अग्रवाल भगोड़ा!

जिला कोर्ट रोहतक ने दैनिक भास्‍कर के मालिक रमेश चंद्र अग्रवाल को भगोड़ा घोषित करने की कार्रवाई शुरू की है. रमेश चंद्र अग्रवाल के भोपाल स्थित घर पर इसके लिए एक नोटिस चस्‍पा किया गया है. एक नोटिस भोपाल के महाराणा प्रताप चौक पर भी चस्‍पा किया गया है. यह कार्रवाई कोर्ट ने सैनी एजुकेशन सोसायटी के प्रधान विजय सैनी की कथित मानहानि के मामले में सुनवाई करते हुए की.

बरखा ने बनवाया राजा को मंत्री!

कनिमोझी ने अपने पिता और डीएमके प्रमुख एम करुणानिधि से कहा था यदि उन्होंने मारन को मंत्री बनने से नहीं रोका तो वे आत्महत्या कर लेंगी। कनिमोझी के बारे में यह जानकारी नीरा राडिया ने सीआईआई के पूर्व अध्यक्ष तरुण दास को दी थी।

भास्‍कर साइट : अंग्रेजी की ऐसी की तैसी!

महोदय ऐसा लगता है कि दैनिक भास्‍कर अपने अंग्रेजी साइट के लिए कुछ अक्षम और मूर्ख पत्रकारों को काम पर रखा है. आज पहली बार मैं दैनिक भास्‍कर का साइट खोला और होम पेज देखने के बाद तो मेरी हंसी रूक ही नहीं रही थी. ऐसा लग रहा है कि इस साइट पर लिखा गया अंग्रेजी के अलावा कुछ भी हो सकता है. ऐसा प्रतीत हो रहा है कि भास्‍कर को कोई योग्‍य पत्रकार नहीं मिला, जिसे कम से कम अंग्रेजी की बेसिक बातों की जानकारी हो. अगर विश्‍वास नहीं हो रहा तो नीचे खुद देख लीजिए.

बजरंग दास गर्ग का गुलाम हुआ भास्कर

भास्‍कर आदरणीय कल्पेश जी, पिछले दिनों आप हरियाणा के पत्रकारों को आक्रामता और पाठकों के साथ न्याय कराने का पाठ पढ़ाकर गए थे। भड़ास में यह खबर पढक़र हमें बहुत अच्छा लगा था कि आजकल आप जैसे संपादक भी बचे हुए हैं, लेकिन आपके अखबार के संपादकों की करतूत मुझे अपनी भड़ास निकालने पर मजबूर कर रही है।

खबर से नाराज ग्रामीणों ने भास्‍कर की होली जलाई

भास्‍करमध्‍य प्रदेश के नीमच जिले में एक खबर छपने से नाराज ग्रामीणों ने भास्‍कर की होली जला दी. खबर एक स्‍थानीय डाक्‍टर के खिलाफ लिखी गई थी. खबर पढ़ने के बाद ग्रामीण नाराज हो गए और अखबार की दर्जनों प्रतियां आग के हवाले कर दिया.

चार युवा पत्रकारों का संघर्ष

: पिछले दो साल से लड़ रहे हैं भास्‍कर के खिलाफ अदालती लड़ाई : 2008 में जब वैश्विक आर्थिक मंदी के दौर में पूरा देश और समूचा विश्व परेशान था, ऐसे समय में अकारण ही नौकरी से वंचित होकर परेशान होने वालों की लंबी फेहरिस्त में दिल्ली, मुंबई, कोलकाता जैसे महानगरों और भोपाल, पूना जैसे सेमी मेट्रो के साथ ही छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जैसे छोटे से शहर में समाज और मानवीय मूल्यों की रक्षा के लिये कलम चलाने वाले पत्रकार भी शामिल थे.

‘छतिग्रस्‍त’ और जागरण, भास्‍कर व पत्रिका

देश के तीन बड़े अखबार यानी दैनिक भास्कर, दैनिक जागरण एवं पत्रिका में हिंदी के जानकारों की कमी होती दिख रही है। ऐसा हम नहीं कह रहे हैं बल्कि इस कमी को आप उनकी वेबसाइटों में देख सकते हैं। इस पर पब्लिश होने वाली खबरों को लगता है कोई पढ़ना जरूरी नहीं समझता है। तभी तो इन लोगों को ‘छतिग्रस्त’ और ‘क्षतिग्रस्त’ के बीच में कोई अंतर नहीं लगता है।

पत्रिका के सर्कुलेशन मैनेजर बने लोकेन्‍द्र

: ब्रजेश ने अमर उजाला छोड़ा, मनीष व आलोक की नई पारी : लोकेन्‍द्र जैन ने दैनिक भास्‍कर, इंदौर से इस्‍तीफा दे दिया है. लोकेन्‍द्र का स्‍थानांतरण रायपुर के लिए कर दिया गया था. जिसके चलते उन्‍होंने भास्‍कर को अलविदा कह दिया. लोकेन्‍द्र ने अपने नई पारी की शुरुआत पत्रिका, इंदौर के साथ शुरू की है. वे पत्रिका से सर्कुलेशन मैनेजर बनाए गये हैं.

पत्रकार को फुटपाथ पर गुजारनी पड़ी रात

: अमन को चुकानी पड़ी संस्‍थान बदलने की कीमत : मीडिया जगत में ऐसा अक्सर होता रहता है कि एक पत्रकार या डेस्क कर्मी यहां तक कि संपादक तक बढिय़ा मौके व वेतन की तलाश में एक संस्थान से दूसरे संस्थान में चले जाते हैं। लेकिन ऐसा होने के बावजूद भी मीडियाकर्मियों के मन में कोई बदलाव नहीं होता और न ही कोई मनमुटाव। सभी को पता रहता है कि हो सकता है कि आने वाले समय में वह फिर से एक दूसरे के साथ मिलकर काम कर रहे हों, लेकिन बठिंडा में जो हुआ, वह पत्रकार जगत में चलती इस भाईचारे वाली परंपरा के उलट हुआ।

इन अखबारों पर थूकें ना तो क्या करें!

दैनिक जागरण और दैनिक भास्कर जैसे मीडिया हाउसों ने इमान-धर्म बेचा : देवत्व छोड़ दैत्याकार बने : पैसे के लिए बिक गए और बेच डाला : पैसे के लिए पत्रकारीय परंपराओं की हत्या कर दी : हरियाणा विधानसभा चुनाव में दैनिक जागरण और दैनिक भास्कर जैसे देश के सबसे बड़े अखबारों ने फिर अपने सारे कपड़े उतार दिए हैं। जी हां, बिलकुल नंगे हो गए हैं। पत्रकारिता की आत्मा मरती हो, मरती रहे। खबरें बिकती हों, बिकती रहे। मीडिया की मैया वेश्या बन रही हो, बनती रहे। पर इन दोनों अखबारों के लालाओं उर्फ बनियों उर्फ धंधेबाजों की तिजोरी में भरपूर धन पहुंचना चाहिए। वो पहुंच रहा है। इसलिए जो कुछ हो रहा है, इनकी नजर में सब सही हो रहा है। और इस काम में तन-मन से जुटे हुए हैं पगार के लालच में पत्रकारिता कर रहे ढेर सारे बकचोदी करने वाले पुरोधा, ढेर सारे कलम के ढेर हो चुके सिपाही, संपादकीय विभाग के सैकड़ों कनिष्ठ-वरिष्ठ-गरिष्ठ संपादक।

भास्कर के टैलेंट पूल में 13 लोग, भोपाल में ट्रेनिंग

मीडिया में बढ़ती प्रतिस्पर्धा और गुणवत्ता की बढ़ती मांग के चलते मीडिया हाउस अब अपने बेहतरीन लोगों को ट्रेनिंग देने व रिफ्रेशर कोर्स कराने लगे हैं। भास्कर समूह ने इस दिशा में कदम बढ़ाते हुए संपादकीय गुणवत्ता के लिए और भविष्य के संपादकीय लीडर्स को डेवलप करने के लिए एक टैलेंट पूल बनाया है। इसमें देश भर के विभिन्न एडीशन से बेहतरीन और संभावनाशील लोगों को चुना गया है। इन सभी को भोपाल बुलाकर इन्हें कई तरह की ट्रेनिंग दी जा रही है। एक जून से शुरू हुए टैलेंट पूल में 13 लोगों को बुलाया गया है। इन 13 लोगों के नाम और ये जहां से आए हैं उस संस्करण के नाम इस प्रकार हैं….