निशंक के ओएसडी अशोक शर्मा को लीडरशीप अवार्ड

अशोक शर्मा
अशोक शर्मा
डा. अशोक कुमार शर्मा को पीआर के क्षेत्र में उत्‍कृष्‍ट कार्य के लिए पब्लिक रिलेशन सोसाइटी ऑफ इंडिया (पीआरएसआई) सम्‍मानित करेगी. डा. शर्मा उत्‍तराखंड के सीएम के ओएसडी हैं. पीआरएसआई द्वारा लीडरशीप अवार्ड 2010 उन्‍हें पब्लिक रिलेशन प्रोफेशन में उत्‍कृष्‍ट एवं बेहतरीन योगदान के लिए दिया जा रहा है. उन्‍हें यह पुरस्‍कार कोलकाता में 16-18 दिसम्‍बर को होने वाले पीआरएसआई के 32वें नेशनल कांफ्रेंस में प्रदान किया जायेगा.

डा. शर्मा 27 बेस्‍ट सेलिंग किताबें लिख चुके हैं. मौलिक लेखन के लिए इन्‍हें तीन राष्‍ट्रीय पुरस्‍कार भी मिला हैं. वे ब्‍लागर हैं तथा 42 से ज्‍यादा ब्‍लागों से भी जुड़े हुए हैं. ये पत्रकारिता एवं पब्लिक रिलेशन से जुड़े देश भर के कई विश्‍वविद्यालयों तथा विद्यालयों में में विज‍िटिंग प्राध्‍यापक के तौर पर व्‍याख्‍यान दे चुके हैं. डा. शर्मा दो राज्‍यों में कई मुख्‍यमंत्रियों के ओएसडी रहे हैं. दिलचस्‍प तथ्‍य यह है कि  डा.शर्मा पीआरएसआई के सदस्‍य नहीं हैं इसके बावजूद उन्‍हें इस पुरस्‍कार के लिए चयनित किया गया है.

डा. अशोक कुमार शर्मा के अलावा हरियाणा के सूचना एवं पीआर सचिव केके खंडेलवाल, कोलाकाता के मणि शंकर मुखर्जी एवं जेएम कौल, दिल्‍ली के प्रो. सुभाष सूद एवं चेन्‍नई के आरके बारातन को भी सम्‍मानित किया जायेगा.

अपने मोबाइल पर भड़ास की खबरें पाएं. इसके लिए Telegram एप्प इंस्टाल कर यहां क्लिक करें : https://t.me/BhadasMedia

Comments on “निशंक के ओएसडी अशोक शर्मा को लीडरशीप अवार्ड

  • dilip singh says:

    mr. sharma…this is the good sign for uttarakhand govt…All The Best

    regards
    Dilip singh rathod
    coresspondent
    NewsX
    Uttarakhand

    Reply
  • डॉ. अशोक कुमार शर्मा says:

    बहुत आभारी हूँ आपके पोर्टल में मुझे सम्मानित करने की खबर से. कृपया एक संशोधन करा दें मैं उत्तराखंड के मा० मुख्यमंत्री जी डॉ० रमेश पोखरियाल निशंक के चार ओएसडी में एक हूँ. चीफ ओएसडी का दर्ज़ा हममें से किसी का नहीं है. अपना नाम मैं पूरा लिखना पसंद करता हूँ. डॉ. अशोक कुमार शर्मा लिखता हूँ.
    मुझे यह स्वीकार करते हुए हर्ष है कि आपके पोर्टल पर यह समाचार पीआरएसआई सचिवालय से अपने चयन की सूचना मिलने से पहले ही पढने को मिल गया. संकोचवश में किसी से पूछ भी नहीं पाया. फिर शाम को पुष्टि भी हो गयी. इस से पता चलता है कि आपका नेटवर्क बहुत ही ज्यादा व्यापक और विश्वसनीय है. इसकी बधाई.
    यह समाचार जारी होते ही मुझे सबसे पहले बीबीसी के उत्तर प्रदेश राज्य मुख्यालय प्रभारी श्री रामदत्त त्रिपाठी का बधाई सन्देश मिला. कुछ ही देर में देश विदेश से बधाइयों की झड़ी लग गयी. इससे पता चलता है कि आपके पोर्टल की रीडरशिप कितनी व्यापक है.
    आपके सभी पाठकों और सहयोगियों को बहुत सी शुभकामनाएं,
    आभार और धन्यवाद के साथ.
    डॉ. अशोक कुमार शर्मा
    विशेष कार्याधिकारी मा. मुख्यमंत्री
    उत्तराखंड, देहरादून

    Reply
  • asif.live@rediffmail.com says:

    PRSI Leadership Excellence Award 2010 Ke Liye Manoneet Hone Per Ashok Sharma Ji Aapko Bahut bahut Badhaii.

    Reply
  • Siddharth Kalhans says:

    Many many congrats to Dr Ashok Kumar Sharma. It is the recogonition of the works done by Dr Sharma in the filed of publicity and public relation. This award puts a greater responsibility on the shoulders of Dr Sharma to further carry on his good works. May God give you all that you cherish in your life.
    Regards
    Siddharth Kalhans
    Business Standard, Lucknow

    Reply
  • डॉ. अशोक कुमार शर्मा says:

    सभी पाठकों क आभार और धन्यवाद. बहुत सी शुभकामनाएं.

    Reply
  • charu tiwari says:

    Mk- v’kksd dqekj ‘kekZth dks iqjLdkj feyus ij cgqr&cgqr c/kbZA ;g tkudj izlUurk gq;h fd vki 27 csLV lsfyax iqLrdksa ds ys[kd Hkh gSaA mRrjk[kaM ds yksxksa dk lkSHkkX; gS fd muds eq[;ea=kh rks vufxur iqLrdksa ds ys[kd vkSj fo’o ds dbZ iqjLdkjksa ls lEekfur gSa gh fo’ks”kdk;kZf/dkjh Hkh mUgha dh rjg ys[kd vkSj ifCyd fjys’ku esa ekfgj gSaA mEehn djrs gSa fd vkidh ;g egRoiw.kZ tksM+h jkT; dks blh rjg izxfr ds iFk ij vkxs ys tk;sxhA bl le; mRrjk[kaM dks vki tSls peRdkfjd O;fDr;ksa dh vko’;drk gSA

    Reply
  • charu tiwari says:

    Mk- v’kksd dqekj ‘kekZth dks iqjLdkj feyus ij cgqr&cgqr c/kbZA ;g tkudj izlUurk gq;h fd vki 27 csLV lsfyax iqLrdksa ds ys[kd Hkh gSaA mRrjk[kaM ds yksxksa dk lkSHkkX; gS fd muds eq[;ea=kh rks vufxur iqLrdksa ds ys[kd vkSj fo’o ds dbZ iqjLdkjksa ls lEekfur gSa gh fo’ks”kdk;kZf/dkjh Hkh mUgha dh rjg ys[kd vkSj ifCyd fjys’ku esa ekfgj gSaA mEehn djrs gSa fd vkidh ;g egRoiw.kZ tksM+h jkT; dks blh rjg izxfr ds iFk ij vkxs ys tk;sxhA bl le; mRrjk[kaM dks vki tSls peRdkfjd O;fDr;ksa dh vko’;drk gSA

    Reply
  • charu tiwari says:

    डा. अशोक कुमार शर्माजी को पुरस्कार मिलने पर बहुत-बहुत बधई। यह जानकर प्रसन्नता हुयी कि आप 27 बेस्ट सेलिंग पुस्तकों के लेखक भी हैं। उत्तराखंड के लोगों का सौभाग्य है कि उनके मुख्यमंत्राी तो अनगिनत पुस्तकों के लेखक और विश्व के कई पुरस्कारों से सम्मानित हैं ही विशेषकार्याध्किारी भी उन्हीं की तरह लेखक और पब्लिक रिलेशन में माहिर हैं। उम्मीद करते हैं कि आपकी यह महत्वपूर्ण जोड़ी राज्य को इसी तरह प्रगति के पथ पर आगे ले जायेगी। इस समय उत्तराखंड को आप जैसे चमत्कारिक व्यक्तियों की आवश्यकता है।

    Reply
  • डॉ. अशोक कुमार शर्मा says:

    चारू तिवारी जी की टिप्पणी में कुछ व्यंग्य नज़र आया. यह प्रतिक्रिया उसी सन्दर्भ में है.
    चारू भाई आपका सेवक सरकारी नौकरी में आने से पहले दिल्ली प्रेस की पत्रिकाओं सरिता, मुक्ता, गृहशोभा और चम्पक का विभागीय लेखक/ उप संपादक था. बाद में मैने वरिष्ठ उपसंपादक और फिर विशेष संवाददाता के रूप में मित्र प्रकाशन की पत्रिकाओं माया, मनोहर कहानियां, सत्यकथा और प्रोब में कार्य किया. साथ ही फ्री लांसर के रूप में ऑनलुकर, साप्ताहिक हिंदुस्तान, धर्मयुग, दिनमान, सारिका, माधुरी, ब्लिट्ज तथा करंट में भी लेखन करता रहा. मेरी बेस्टसेलिंग पुस्तकें पुस्तकमहल दिल्ली, डाईमंड बुक्स, पिल्ग्रिम्स, विश्वविद्यालय प्रकाशन और राजकमल से आयी हैं.
    चारू भाई आपके मित्र कई प्रकाशक मेरे भी मित्र हैं. वह आपको बता देंगे कि आपका यह प्रशंसक उत्तराखंड के माननीय मुख्यमंत्री की सेवा में आने से पहले ही वह पुस्तकें लिख चुका है जिनका उल्लेख आज हो रहा है. इंदिरागांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय का मैं पाठ्यक्रम लेखक हूँ, इसके अतिरिक्त लखनऊ, मेरठ, झाँसी, गोरखपुर, कोटा, जौनपुर और बरेली सहित देश के अन्य विश्वविद्यालयों में आमंत्रण पर जाता रहता हूँ.
    हो सकता है कि उत्तराखंड शासन से आपकी कोई नाराजगी हो, मगर अपने इस अनजाने मित्र से अकारण नाराज़ न होइए. कभी अवसर मिला तो आपके आक्रोश का समाधान करने का प्रयास करूंगा. मुझे नहीं मालूम किसकी कहाँ ग़लती है, मगर आपके जैसे लोगों की नाराज़गी साधारण बात नहीं है.
    मेरी एक आपत्ति भी है कि आप ईमानवाले और योग्य हैं इसका मतलब यह नहीं है कि बाकी सब चोर और अयोग्य हैं भाई!
    मेरे इस स्पष्टीकरण में कुछ भी बुरा लगे तो पहले से ही करबद्ध क्षमा प्रार्थना को स्वीकारें. मेरा तात्पर्य आपका अपमान नहीं है. भाई! [b][/b][b][/b][b][/b]

    Reply
  • charu tiwari says:

    अशोक जी, नमस्कार। मैं अकसर नेट को सूचनायें प्राप्त करने के लिये इस्तेमाल करता हूं। कभी यहां आकर बातचीत करने की कोशिश नहीं करता। इसका सबसे बड़ा कारण मेरा तकनीकी तौर पर कमजोर होना है। आज अचानक भडा+स खोला तो आपके पुरस्कार की जानकारी मिली। मैंने आपको बधई भी दे दी। मुझे इस बात का खेद है कि इसकी भाषा से आपकों बुरा लगा। लेकिन मुझे इस बात की खुशी है कि अनजाने में ही सही एक ऐसे व्यक्ति से मुलाकात हुयी जो जनपक्षीय धरा को समझ सकता है। मुझे उम्मीद है कि आने वाले दिनों में जो मुलाकात होगी वह सरकार के लिये नहीं, बल्कि सहकार के लिये होगी। जहां तक ईमानदारी और जनपक्षध्रता का सवाल है वह प्रत्येक व्यक्ति की निजी पूंजी है। इसलिये विचार और मूल्यों के साथ चलने का रास्ता किसी को बेईमान बताने का नहीं है। आपने शासन से नाराजगी का जो जिकz किया वह किसी हद तक सही हो सकता है, लेकिन आपके साथ लागू नहीं होता। उम्मीद है कि आप मेरे तमाम दुरागzहों के मर्म को समझते हुये इसे मानवीय कमजोरियों का हिस्सा मानकर अन्यथा नहीं लेंगे।

    शुभकामनाओं के साथ
    आपका
    चारु तिवारी

    Reply
  • डॉ. अशोक कुमार शर्मा says:

    चारू भाई, अभी तक जनपक्ष में आपका चित्र और कृतित्व ही देखता-बांचता था. आपका उत्तर पढ़ कर आपके लिए मन में स्नेह और आदर गहरा हुआ है. मैं आपसे शीघ्र मिलूंगा और आपकी भावनाओं तथा जनहित की अपेक्षाओं को समझ कर कुछ कर दिखाने की ईमानदार कोशिश करूंगा.
    उत्तर प्रदेश के पत्रकार बंधुओं के साथ मैने पिछले २९ साल में कई संघर्ष किये. सबके प्यार और वहां हासिल अनुभव ही मेरी ताकत हैं.
    उत्तराखंड में कई और अच्छे लोग भी आपकी ही तरह नाराज़ हैं. अगर मौका मिला तो उन हालात को बदलूंगा जिनकी वजह से मा. मुख्यमंत्री डॉ. निशंक जी से आप जैसे बुद्धिजीवी खफा हैं. यकीं मानिये वह सभी वजहें जिनके कारण यह सब हो रहा है, कुछ रीढ़ विहीन लोगों की देन हैं. इसका ठीकरा सुनियोजित रूप से बुनियादी रूप में एक संवेदनशील कवि और सहृदय साहित्यकार के सर इसलिये नहीं फोड़ा जा सकता क्योंकि वह एक सत्तारूढ़ राजनीतिज्ञ भी हैं. मुझे लगता है कि उत्तराखंड में जनसंपर्क, मीडिया, सूचना और प्रचार के क्षेत्र में कुछ सड़ रहा है. इसका उत्तरदायी उत्तराखंड के मीडिया को कतई नहीं माना जासकता और शासन को भी.
    पियादों की बदौलत बादशाहों को मिली शिकस्त,
    वे जिसको घेर लेते हैं, उसे हिलने नहीं देते! (‘अक्स अलीग’)
    [i][/i][b][/b]

    Reply
  • Ram Dutt Tripathi says:

    Dr. Ashok Sharma is an alrounder writer , journalist and a PR man. It is very well deserved award. Congratulations.

    Ram Dutt Tripathi

    Reply
  • Santosh Verma says:

    आदरणीय, भाई अशोक शर्मा जी को नेशनल पुरस्कार के लिए बहुत बहुत बधाई। पिछले तीस बरसों में आपको जैसा देखा और पाया उसके सामने ये पुरस्कार बहुत छोटा है। शर्मा जी जब उत्तराखंड आए तो सबसे पहले मुझे फोन करके बताया और साथ में पहले मेरे कार्य की प्रशंसा की। ये उनका एक स्टाइल है, अग्रणी होते हुए स्वयं को कभी अग्रणी नहीं कहा। जहां तक पीआर का सवाल है, मैं तो तीस साल से देख रहा हूं। महाकुंभ हरिद्वार 2010 के दौरान एक छोटी सी घटना को लेकर फोन पर बात हो जाने के बाद ठीक उसी तरह साक्षात उपस्थित हो गए, जैसे कभी भी बिना फोन किए मेरे समाचार पत्र के कार्यालय में आ जाते थे। ऐसा ही पिछले माह देखा कि एक पुस्तक के प्रकाशन के बारे में सेकेंड नहीं लगी और देश के बड़े प्रकाशक के यहां से महीनेभर में पुस्तक मार्केट में आ गई। लेकिन एक चीज कचोटती है कि उत्तराखंड के लोग शायद उन्हें लोग कहना कुछ गलत लगे, शर्मा जी को नहीं पहचान पाए। सोचा था कि उत्तराखंड के सूचना और जनसंपर्क विभाग को ऐसा पारस मिला है कि विभाग सोना बन जाएगा, क्योंकि जिसने इतने बड़े यूपी में कमाल दिखाया हो, उसके लिए छोटा सा राज्य थोड़ा अजीब लगेगा। लेकिन हर जगह की तरह कुछ चौकड़ीबाज ऐसे भी होते हैं जो मुखिया को शायद गुमराह करते हैं। अपने पत्रकार, साहित्यकार, राजनीतिज्ञ मुख्यमंत्री निशंकजी भी हीरे की कद्र न कर पाएं तो इसे हीरे की कमी नहीं कहा जा सकता। इससे हीरे की चमक कम नहीं होती। तभी तो इस नेशनल अवार्ड ने जता दिया है कि डॉ अशोक जी कभी रुकने न थकने वाले धावक हैं।
    सन्तोष वर्मा

    Reply
  • B.D. FULARA, NEWS PRINT, RUDRAPUR says:

    15 fnlEcj]2010
    vkn- HkkbZlkgc]
    lqudj csgn [kq’kh gqbZ fd mRd`”V dk;Z ds fy;s ifCyd fjys’ku lkslkbVh vkWiQ bafM;k (ihvkj,lvkbZ) blh ekg vkidks lEekfur djus tk jgh gSA bl us’kuy iqjLdkj ds fy;s cgqr&cgqr c/kbZA
    eSa Hkh vc vktdy :æiqj (Å/eflag uxj) vk x;k gWwA ;gka ij ,d lkaè; nSfud dk izfrfuf/Ro dj jgk gWwA cjsyh NksM+s Ms

    Reply
  • B.D. FULARA, NEWS PRINT, RUDRAPUR says:

    15 fnlEcj]2010
    vkn- HkkbZlkgc]
    lqudj csgn [kq’kh gqbZ fd mRd`”V dk;Z ds fy;s ifCyd fjys’ku lkslkbVh vkWiQ bafM;k (ihvkj,lvkbZ) blh ekg vkidks lEekfur djus tk jgh gSA bl us’kuy iqjLdkj ds fy;s cgqr&cgqr c/kbZA
    eSa Hkh vc vktdy :æiqj (Å/eflag uxj) vk x;k gWwA ;gka ij ,d lkaè; nSfud dk izfrfuf/Ro dj jgk gWwA cjsyh NksM+s Ms

    Reply
  • Ganesh Joshi, Haldwani says:

    bahut der se bhadai de raha hu ashok ji. aapaka PR pradesh ke hit mai jo bhi achha hoga iski umeed karate hai. aasha karate hai ki isi tarah aur achha PR maintain rakhainge.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *