भास्‍कर के संपादक नरेंद्र सिंह अकेला पर नकाबपोशों ने किया जानलेवा हमला

दैनिक भास्कर, सागर के संपादक नरेन्द्र सिंह अकेला पर चार-पांच नकाबपोशों ने उस समय हमला बोल दिया जब वे छतरपुर भास्कर कार्यालय के लिये नये भवन की तलाश में निकले थे। संपादक पर हमला करके नकाशपोश अपने अपने वाहन में बैठकर फरार हो गये। हमला शुक्रवार की दोपहर साढे़ तीन बजे से चार बजे के बीच कान्हा रेस्टोरेट के पीछे महाराजा होटल छतरपुर के पास किया गया। उन्‍होंने पुलिस में रिपोर्ट दर्ज करा दी है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

संपादक नरेन्द्र सिंह अकेला के साथ सागर यूनिट हेड सुरेन्द्र राय एवं छतरपुर मार्केटिंग के सुशील अग्रवाल एवं एक दो लोग और साथ में थे। उन लोगों को किनारे हटाकर नकाबपोशों ने उन पर हमला किया। उनको कंधे, सिर, पैर के साथ आंतरिक चोटें भी लगी हैं। घटना की सूचना मिलने पर मौके पर पुलिस बल के साथ सीएसपी जयदेवन आईपीएस, एएसपी सुनील तिवारी सहित तहसीलदार व एसडीएम पहुंचे। मामले को जांचा परखा और समझा। पीडित संपादक को अपनी गाड़ी में बैठाकर जिला चिकित्सालय ले जाया गया जहां पर उनका प्राथमिक उपचार किया गया। चिकित्सक ने उन्हें आराम करने को कहा है। पुलिस ने मामला दर्ज कर विवेचना प्रारम्भ कर दी है।

जानकारी में बताया गया कि दैनिक भास्कर के संपादक नरेन्द्र सिंह अकेला और यूनिट हेड सुरेन्द्र राय अपने रूटींन विजिट पर छतरपुर आये और दैनिक भास्कर के कार्यालय की अव्यवस्थाओं को देखकर नवीन कार्यालय की तलाश में निकल पडे़। तभी उनके ऊपर नकाबपोशों ने हमला बोला है। पीडित संपादक नरेन्द्र सिंह अकेला ने मीडिया को कोई भी बयान नहीं दिया है, उनके चेहरे को देखकर ऐसा लगा कि उन्हें इस बात का पहले से अंदेशा था और उनके साथ घटना घट गई, वे बेहद दुखी होने के कारण किसी से भी कुछ नहीं बोले। सीएसपी जयदेवन आईपीएस ने कहा है कि नकाबपोश कितने भी ताकतवर हों उनकी गिरफतारी शीघ्र होगी और मामले का खुलासा किया जायेगा। हालांकि इस हमले को कार्यालयी विवाद से जोड़कर देखा जा रहा है।

छतरपुर से रवि गुप्‍ता की रिपोर्ट.

Comments on “भास्‍कर के संपादक नरेंद्र सिंह अकेला पर नकाबपोशों ने किया जानलेवा हमला

  • tribhuvan tiwari says:

    akela ji par hamla ki khabar badi pida dayak hai. ho sakta hai ki official narajgi ke karan shanyantra kiya gaya ho. hamlavar jald arrest kiye jaye

    Reply
  • dainik bhskar group me chal rahi rajniti ka hi natija hai yeh,chatarpur jile me kam karne wale aashish ka transfer kar diya gaya tha, unit ke sagar offise me bhi kafi samay se uthal-puhal machi hai, yeh gussaye huye aur apna kam behtar tarike se karne wale logon ka hi gussa hai,

    Reply
  • Anees Khan says:

    Sampadak ji , Agar Sabko Sath lekar chalte to Aisa nhi hota…Saamne Gang thi to apko bhi gang lekar chalna tha.Lekin Afsos ki baat to ye hai ki Apki gang (TEAM) ko aapne hi Tabaah kar Diya .Ab aap “AKELE” karte bhi kya??? ..Very Sad Moment..

    Reply
  • akelaji ko andruni rajneeti ka shikar banaya gaya he.chhatarpur beureo ashish khare ko akelaji ki sikayat par hataya jana aur ashish khare ka bhopal join na karna akelaji aur ashish me tanav badna.iske bad ghatna ke samay akelaji ke sath bhaskar office ka koi karmchari na hona ye to sabit karta he ki ghatna suniojit hui he.ab parde ke piche kis rajneta aur vyakti ka roll he police pata kar legi.khas ye bhi he ki pichle 7 sal se ashish khare chhatarpur me beureo pad par rahe aur bad me unhe gadbadi karne ke aarop me hataya jane ko bi is ghatna se jodkar chhatarpur ke log dek rahe he.philhal police ki janch me bhi aropion ko rajneetik rahat milne aur mamle ka patashep hone ki bat se bi inkar nahi kiya ja sakta.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *