शर्मनाक : अपने छायाकार के साथ हुई मारपीट को ही नहीं छापा जागरण ने

: बीपी गौतम ने जिलाधिकारी से की जागरण ब्‍यूरोचीफ के फर्जी कागजात की शिकायत : बदायूं में पत्रकारों व वकीलों के बीच चल रहे विवाद में दो दिन पहले दैनिक जागरण के छायाकार कुलदीप शर्मा को वकीलों ने फोटो खींचते समय जमकर पीटा था। कुलदीप का कैमरा भी छीन लिया गया था। इस प्रकरण में थाना सिविल लाइंस में वकीलों के विरुद्ध मुकदमा पंजीकृत कराया गया था।

मुकदमा लिखाने को लेकर पत्रकार बीपी गौतम व एसएसपी नवनीत राणा के बीच जमकर कहासुनी भी हो गयी थी, जबकि जागरण के ब्यूरो चीफ इस मामले की लीपापोती करने में जुटे हुए थे। पर सबसे ज्‍यादा चौंकाने वाली बात यह है कि जागरण अपने छायाकार के साथ भी नहीं खड़ा है। अन्‍य अखबारों ने जहां छायाकार के साथ हुए घटना की खबर को विस्‍तार से प्रकाशित किया वहीं दैनिक जागरण में इस प्रकरण से संबधित कोई खबर प्रकाशित नहीं की। अब इसका कारण क्‍या है वे जागरण वाले ही जाने पर इसको लेकर पूरे बदायूं में इस अखबार की जमकर छीछालेदर हो रही है।

तमाम आरोप भी ब्‍यूरोचीफ मेधावृत्‍त मिश्रा पर मढ़े जा रहे हैं। हालांकि अमर उजाला ने भी इस खबर का प्रकाशन नहीं किया है परन्‍तु हिंदुस्‍तान, खुसरो मेल और अमर प्रभात ने विस्‍तार से छायाकार से मारपीट की खबर लगाई है। खबर है कि अपने साथ अखबार प्रबंधन के रवैये से छायाकार कुलदीप शर्मा भी खासे आहत हैं। बदायूं के अन्‍य पत्रकारों ने भी दैनिक जागरण कर्मियों के साथ किसी तरह की घटना होने पर साथ न देने का निर्णय‍ लिया है। पूरे शहर में जागरण अखबार के रवैये को लेकर चर्चा हो रही है।

दूसरी तरफ पत्रकार बीपी गौतम ने जागरण के ब्यूरो चीफ मेधावृत मिश्रा की जिलाधिकारी व जिला विद्यालय निरीक्षक को पत्र देकर फर्जी कागजातों के आधार पर नौकरी करने की शिकायत की है तथा कड़ी कार्रवाई की मांग की है। उन्‍होंने आरोप लगाया है कि मेधावृत मिश्रा ने गुरुकुल विश्व विद्यालय वृंदावन के नाम से फर्जी कागज तैयार कर विज्ञानंद वैदिक रामनरायन इंटर कॉलेज, बदायूं में प्रवक्ता पद की नौकरी हथिया ली है।

बीपी गौतम ने उनकी नियुक्ति प्रक्रिया भी पूरी तरह फर्जी बताते हुए कहा है कि द्वादश श्रेणी से लेकर अंत तक के कागज पूरी तरह फर्जी हैं, जिनका कहीं कोई रिकार्ड नहीं है, इसीलिए मेधावृत मिश्रा जागरण में वेतन रहित काम करते हुए नौकरी बचाये हुए हैं। उन्होंने जागरण प्रबंधन को पत्र भेज कर ऐसे शातिर व्यक्ति को संस्थान से निकाले की भी मांग की है। बीपी गौतम ने शिकायत के साथ शपथ पत्र भी दिया है।

अपने मोबाइल पर भड़ास की खबरें पाएं. इसके लिए Telegram एप्प इंस्टाल कर यहां क्लिक करें : https://t.me/BhadasMedia

Comments on “शर्मनाक : अपने छायाकार के साथ हुई मारपीट को ही नहीं छापा जागरण ने

  • jagran choron ka akhbaar hai aur chor apne bhale ke liye kisi ko bhi maar sakte hain aise hi jagran bhi kar raha hai aur medhvrat mishra to bahut bada chor hai jo farji kagjon ke aadhar par naukri kar raha hai isiliye vakelon ke talwe chaat raha hai

    Reply
  • इसमे कोई बड़ी बात नहीं हैं इससे पहले भी आगरा में इस तरह की घटना हो चुकी हैं जिसमे आगरा जागरण के ही फॉटोग्राफर को कुछ मुसलमानो ने गिरा गिराकर मारा था और जागरण उनके खिलाफ मुकदमा भी दर्ज नहीं करा पाया था। फॉटोग्राफर बेचारा बहुत ही सरल और सीदा स्वभाब का था । लेकिन जागरण इस मामले में केवल एक सत्ताधारी पार्टी के विधायक ज़ुल्फिकर अहमद भुट्टो के सामने पानी भरता नज़र आया। और फिर विधवा विलाप किस बात का जब कानपुर यानि अपने ही गढ़ में जागरण के मालिक महेंद्र मोहन गुप्त की गिरा गिरा कर एक आईपीएस ने मारा उस आईपीएस के खिलाफ भी मुकदमा नहीं दर्ज हुआ तो विधवा विलाप किस बात का । जागरण में तो यह परंपरा सी चली आ रही है। तो फिर फिर इस मे इतना चीखने चिल्लाने की क्या बात है।

    Reply
  • gutam kya medhavirt ko maar hi daloge. uska to kutta bhi sanskrit bolta hai. woh to ek numbar ka besharm aur behya inshan hai.darasal ckt se uska karra mamla hai. ckt ke ladki ke naam se kanpur me petrol pump hai uske aabantan ke kagajo me valdiyat me ckt ke jagah medhavirt mishara ka naam likha hai.

    Reply
  • abhisek sharma says:

    जागरण के बयूरोचीफ मेघाविरत ने वकीलों से पैसा लेकर जो समझोता किया है एहे मीडियाजगत के लिए शर्मनाक है अब तो कोई भी पत्तरकारों को पीटदिया करेगा क्योंकि मेघाबिरत जैसा दलाल विराजमान है ही ,सुधर जा मेघा सुधर जा दलाली छोड़ दे

    Reply
  • mohammad sidiq says:

    are ehe to bahut galat baat hai meghavirat mishra ki kahin aur dalali nahi mili to apne hi foto grafhar par le li saramnaak aise burochiif ka kala muh kar dena chahiye

    Reply
  • मेधा का चेला कमलेश भी इसमें शामिल है, साला ब्यूरो चीफ बनने के सपने देख रहा है

    Reply
  • lo bas isiki ki kami thi ki girish kab apna pentra khelega or apne point beyoro chif k samne bdayega or kuldeep ko office se nikalne ki caal calega bhadas par dali gain khabron k print ko niklkar medhvrat ko dikha kar bolta hai ki sab kkuldeep ne bhadas par dali hain ab isise sahmnak or kya hoga ki apne hi juniyar ko nokri se nikalne k liye itni okat bhi dikha d girish g shudar jaao warna koi tumhe bhi gira gira kar marega or koi bcane bhi nahi aayega.

    Reply
  • Bhai shahb ek kahawt mashur he, ki jis ki khao bajri us ki bajao hajri , ab bhale hi apne patarkar pite jaye ya mare jaye, aaj kal har akhbar ko sampadk nahi koi or hi challata he, aajkal sachai likhna or mushibto ko bulawa dena he, ese me wo akhabar ko bachaye ya aapne riportaro ko bachaye, jesha boya wesha katna padega bhaya,farji ptrkar,or bish rupye pachash rupye me bikne wale patrkaro se kaya sachai ki umid rakte ho,es metr ko sampadk or riporter dono millkr ladai lade to kuch sudhar ho sakta he,nahi to esehi riporter pitte rahege,or offiso se bhagaye jayege , wo din jada dur nahi jab riportero ko log hasege,

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.