सिपाही ने हिंदुस्‍तान के पत्रकार को लात-घूंसों से पीटा, एसपी ने सस्‍पेंड‍ किया

पत्रकारों का उत्पीड़न और पुलिस द्वारा की जाने वाली बदसलूकी यूपी में अब लगातार बढ़ती ही जा रही हैं. मंगलवार को बस्‍ती जिले में एक दबंग सिपाही ने हिन्दुस्तान अखबार के दो पत्रकारों से बिना कारण गाली-ग्‍लौज तथा बदतमीजी की। विरोध करने पर सिपाही दोनों पत्रकारों से मारपीट पर उतर आया तथा एक पत्रकार की लात-घूंसों से पिटाई की। घटना के बाद पत्रकारों के विरोध प्रदर्शन और रास्ता जाम के बाद उस दबंग सिपाही को पुलिस कप्तान ने सस्पेन्ड कर दिया।

बताते चलें कि अभी पिछले दिनों बस्‍ती में महुआ के पत्रकार और उसके साथी पर हुये बम से हमले की सनसनीखेज वारदात में छावनी पुलिस ने मुकदमा तक नहीं दर्ज किया है। और कल यह घटना हो गयी। मामला ये है कि हिन्दुस्तान के दो पत्रकार कल्याण सिंह अपने साथी पत्रकार अनिल कुमार मिश्र के साथ मोटरसाइकिल से गांधीनगर स्थित हिन्दुस्तान कार्यालय पर समाचार प्रेषण के लिये जा रहे थे। अभी वह नेहरू तिराहे के पास पहुंचे थे कि वहां तैनात सिपाही अश्‍वनी कुमार सिंह ने चुलबुल पाण्डेय के अन्दाज में गाली देते हुये मोटरसाइकिल को रोक लिया। कारण पूछने पर सिपाही पत्रकार अनिल कुमार को लात और थप्पड़ से मारने लगा। इसी बीच दो लोगों ने पहुंचकर बीच बचाव किया।

दोनों पत्रकार चुपचाप हिन्दुस्तान कार्यालय आ गये और वहां पूरी घटना सुनायी। इस घटना से नाराज पत्रकारों ने सड़क जाम कर दिया और सिपाही के खिलाफ कार्रवाई की मांग करने लगे। पुलिस कप्तान राजेश मोडक ने पत्रकारों से मामला जुड़ा होने के नाते सिपाही को फौरन सस्पेन्ड तो कर दिया लेकिन कोतवाली में सिपाही के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की तहरीर पर कुछ नहीं हुआ। थक हार कर पत्रकार भी चुपचाप बैठ गये हैं। लेकिन कुछ पत्रकार इसको लेकर गुस्से में है। लेकिन वाह रे हिन्दुस्तान अखबार इसने तो अपने पत्रकार के साथ हुई इस घटना के बारे में एक लाइन तक नहीं छापा है। जबकि अन्य अखबारो ने इसे प्रमुखता से छापा है और मुकदमा दर्ज करने की मांग किया है।

पत्रकार संदीप गोयल, धर्मेन्द्र पाण्डेय, सैयद मजहर हुसैन, श्रीश द्विवेदी, वसीम अहमद, केके तिवारी, पुनीत ओझा, अरविन्द श्रीवास्तव, सतीश श्रीवास्तव, जय प्रकाश उपाध्याय आदि ने इस घटना की निन्दा करते हुए आरोपी सिपाही के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की मांग किया है ताकि पत्रकारों के साथ दुर्व्‍यवहार करने वाले लोगों को सबक मिल सके।

बस्‍ती से सैयद मजहर हुसैन की रिपोर्ट.

Comments on “सिपाही ने हिंदुस्‍तान के पत्रकार को लात-घूंसों से पीटा, एसपी ने सस्‍पेंड‍ किया

  • PUNIT SHARMA says:

    BHAI AAGE DEKHO UP POLICE KYA KYA KARTI HAI JAB TAK MAYA WATI KA RAJ HOGA TAB TOK ASHA HI HOGA ALL INDIA ME UP POLICE AUR UTTER PRADESH SARKAR BHARESTACHAR M NO…01 HAI….THANKS

    Reply
  • Ajai Kumar says:

    Aadarniy Yashwant ji
    sadar namaste
    Main Ajai Rashtriya Prastavna dainik ka Barabanki Uttar pradesh ka patrakar hu aur aapko Deepak Mishra ji ke bare me batana chahunga ki vo Barabanki janpad ke 1 achchhe media ke patrakar hai aur unke ye sab kuchh unke virodhi group jo ki khabro me unke bare sthan avm tvarit na chalapane ke karan se kshayantra karte hi rahte hai Deepak ji sabse jyada prashasan ke khilaf sarvadhik khabre chalate hai aur samaj ke liye avm pratibhao ko aage lane me unka 1 mahatvapurn yogdan khabro ke madhyam se aur rahi unki aarthik sthiti ke vishay me vo matr sadharan si hi hai
    regards
    Ajai Kumar

    Reply
  • keishna kumar pandey says:

    hindust`an akhbaar ne ye pehli baar thode hi kiya hia aisa to ek barr parmod harriya ke sath bhi to hua yha tab bhi is bade akhbar ne nahi chapa aakhir bade jo hai aur inke sangi saathi kkam, nahi aate galti srkar ki nahi hia balki galti to in bade akhbaar bante hai aur khud bekaar hai inse badhiya to local akhbaar hai jo kam se kam support to karte hai nhale kuch na kare lekin pidit ke saath to rahte hai jai hind

    Reply
  • Rajkumar gupta Journalist says:

    हिन्दुस्तान अखबार आजकल लत्ता हो गया है जबसे गोरखपुर संस्करण निकला है तबसे इसने ऐरा गैर पत्रकारों कि भरती कि है जो आपु चंपू कुछ भी छापते रहते है इन्हें और लतियाना चाहिए

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *