Connect with us

Hi, what are you looking for?

टीवी

चेतावनी, फिर भी इंडिया टीवी, आईबीएन7, न्‍यूज24 और स्‍टार न्‍यूज पर असर नहीं

नई दिल्ली. केंद्र सरकार ने माना है कि 14 टीवी चैनल ऐसे हैं जो नियमों का लगातार उल्लंघन कर रहे हैं। इन सभी चैनलों को एक बार से ज्यादा चेतावनी दी गई हैं। कलर्स और एमटीवी को तो चार-चार बार चेतावनी दी जा चुकी है। मनोरंजन के छोटे पर्दे पर टीआरपी की होड़ में कई चैनल केंद्रीय प्रसारण मंत्रालय द्वारा तय मापदंड भूल जाते हैं। पिछले कुछ समय में सूचना और प्रसारण मंत्रालय में अश्लीलता और भद्दी टिप्पणियों की कई शिकायतें दर्ज कराई गई हैं।

<p style="text-align: justify;">नई दिल्ली. केंद्र सरकार ने माना है कि 14 टीवी चैनल ऐसे हैं जो नियमों का लगातार उल्लंघन कर रहे हैं। इन सभी चैनलों को एक बार से ज्यादा चेतावनी दी गई हैं। कलर्स और एमटीवी को तो चार-चार बार चेतावनी दी जा चुकी है। मनोरंजन के छोटे पर्दे पर टीआरपी की होड़ में कई चैनल केंद्रीय प्रसारण मंत्रालय द्वारा तय मापदंड भूल जाते हैं। पिछले कुछ समय में सूचना और प्रसारण मंत्रालय में अश्लीलता और भद्दी टिप्पणियों की कई शिकायतें दर्ज कराई गई हैं।</p> <p style="text-align: justify;" />

नई दिल्ली. केंद्र सरकार ने माना है कि 14 टीवी चैनल ऐसे हैं जो नियमों का लगातार उल्लंघन कर रहे हैं। इन सभी चैनलों को एक बार से ज्यादा चेतावनी दी गई हैं। कलर्स और एमटीवी को तो चार-चार बार चेतावनी दी जा चुकी है। मनोरंजन के छोटे पर्दे पर टीआरपी की होड़ में कई चैनल केंद्रीय प्रसारण मंत्रालय द्वारा तय मापदंड भूल जाते हैं। पिछले कुछ समय में सूचना और प्रसारण मंत्रालय में अश्लीलता और भद्दी टिप्पणियों की कई शिकायतें दर्ज कराई गई हैं।

सरकार ने लोकसभा में बताया कि जिन 14 चैनलों को एक बार से अधिक चेतावनी दी गई हैं उनमें बिंदास, चैनल वी, कलर्स, आईबीएन-7, इंडिया टीवी, एमटीवी, इमेजिन, न्यूज 24, सोनी, स्टार आनंदो, स्टार न्यूज, स्टार प्लस, टीवी 5 और वीएच-1 शामिल हैं।

मंत्रालय के नोटिस देने के बाद कलर्स ने चार अवसरों पर स्क्रोल में तीन दिन तक लगातार माफीनामा चलाया है। मंत्रालय को विभिन्न सीरियल, रिएलिटी शो, विज्ञापन आदि के संबंध में दर्शकों की शिकायतें मिलीं, जिनके बाद यह कार्रवाई की गई।

जिन मनोरंजन के कार्यक्रमों के लिए नोटिस, चेतावनी या निर्देश दिए गए, उनमें दादागिरी, सन यार चिल मार, गेट जार्जियस 5, लॉंच पैड, बिग बॉस के दूसरे और तीसरे सीजन, आने को है, एमटीवी रोडीज, स्पलिट्सविला 2 और 3, बंदिनी, पति. पत्नी और वो, इस जंगल से मुझे बचाओ, एंटरटेनमेंट के लिए कुछ भी करेगा, सपना बाबुल का, सच का सामना और सेटरडे नाईट लाइव शामिल हैं।

वीएच-1 द्वारा प्रसारित कार्यक्रम साउथ पार्क को तो विभाग ने तत्काल हटाने के निर्देश दिए। सच का सामना प्रसारित करने वाले स्टार प्लस को चेतावनी दी गई कि विदेशी थीम पर आधारित कार्यक्रमों को भारतीय सभ्यता के हिसाब से तैयार किया जाए।

न्यूज चैनलों को आपत्तिजनक या हिंसा को प्रेरित करने वाले विजुअल्स, बिना वैज्ञानिक आधार के प्रसारित भ्रामक खबरें, आम जनता की भावनाएं भड़काने और मुंबई हमले के दौरान किए कवरेज में प्रसारित फुटेज के लिए नोटिस दिए गए। बिग बॉस और न्यू एक्स डिओडरेंट के विज्ञापन के कंटेट भी आपत्तिनजक मानते हुए जुर्माना किया गया।   साभार : दैनिक भास्‍कर

Click to comment

0 Comments

  1. Ratan jaiswani

    November 17, 2010 at 9:50 am

    बहुत बढ़िया, चैनलों की मनमानी पर रोक लगाने की सख्त जरूरत है, हम मीडिया में होते हुए भी इस बात के हिमायती हैं कि अपनी हदों से पार जाकर चैनल अश्लीलता और गंदगी न परोसे। दर्शक अब भी अच्छी फिल्में, अच्छे समाचार, अच्छी कामेडी देखने का शौक रखते हैं। नहीं तो हम आपके हैं कौन, विवाह, नदिया के पार, डीडीएलजे जैसी फिल्में सुपरहिट न होतीं। समाचार, रियलिटी शो, कामेडी शो में फूहड़ता सिर्फ बाजारवाद का हिस्सा हैं या फिर घटिया मानसिकता का परिचायक ?

  2. GAURAV GUPTA

    November 17, 2010 at 8:06 am

    khali adesh dene se kam nhi chalta inper jald se jald karwahi honi chahiye…….

  3. Keshav Mishra

    December 20, 2010 at 2:35 pm

    News24 tho Bilkul Ghatiya, Sada hua, Raddi News Channel ban chuka hai, Ajit Anjum ko bhi Channel se vida le lleni chahiye.

    Aise Channels ka Licence Terminate kar dena chahiye. Aur Vo News dikhane par channel head ko aur jo bhi responsible log ho un par Zurmana lagana Chahiye.

  4. sushil shukla india

    March 3, 2011 at 1:14 pm

    mai sarkar se ek baat puchna chahta hoon ki aap ne niyamo ka unlanghan karne wale channels ko chetavni to di per kya kabhi aap ne apne girevan me jhanka hai ki aap desh ki sarkar hoka bhi kitna niyamo ko fallow karte hain .? agar aap bhi niyamon ko maante hote to desh me itne dher saare ghotale kaise ho rahe hain ?kya koi aisa mantri hai jo meri baat ka ans de ? jab hum hi niyam se nahi chal rahe hain to huma dusre niyam todne wale ko galat kaise kah sakte hain pahle to humko niyam per chalna chahiye tabhi hum dusron se bhi niyam ka fallow karne k liye bol sakte hain…………..kya mai theek bol raha hoon or nahi.?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

अपने मोबाइल पर भड़ास की खबरें पाएं. इसके लिए Telegram एप्प इंस्टाल कर यहां क्लिक करें : https://t.me/BhadasMedia

Advertisement

You May Also Like

Uncategorized

भड़ास4मीडिया डॉट कॉम तक अगर मीडिया जगत की कोई हलचल, सूचना, जानकारी पहुंचाना चाहते हैं तो आपका स्वागत है. इस पोर्टल के लिए भेजी...

Uncategorized

मीडिया से जुड़ी सूचनाओं, खबरों, विश्लेषण, बहस के लिए मीडिया जगत में सबसे विश्वसनीय और चर्चित नाम है भड़ास4मीडिया. कम अवधि में इस पोर्टल...

हलचल

[caption id="attachment_15260" align="alignleft"]बी4एम की मोबाइल सेवा की शुरुआत करते पत्रकार जरनैल सिंह.[/caption]मीडिया की खबरों का पर्याय बन चुका भड़ास4मीडिया (बी4एम) अब नए चरण में...

Uncategorized

भड़ास4मीडिया का मकसद किसी भी मीडियाकर्मी या मीडिया संस्थान को नुकसान पहुंचाना कतई नहीं है। हम मीडिया के अंदर की गतिविधियों और हलचल-हालचाल को...

Advertisement