‘राडिया जंजाल’ में छजलानीज और पोचा भी!

राडिया राज 11 : छजलानीज नईदुनिया के मालिक, जहांगीर पोचा न्यूज 9X के सीईओ : मुकेश अंबानी की तरफ से राडिया और पोचा देखते हैं चैनल का काम : सिंगूर मामले में सीपीएम नेताओं को भी मैनेज किया है रीडिया ने : सुपर भ्रष्ट मधु कोड़ा ने ज्यादा पैसे मांगे तो उन्हें ठेंगा दिखा राडिया ने राज्यपाल से करा लिया काम :

भड़ास4मीडिया को मिले कुछ और दस्तावेजों से ‘सुपर माडर्न एंड ग्लोबल दलाल’ नीरा राडिया व मीडिया की कुछ अन्य ‘प्रेम’ कहानियां पता चली हैं. नाम आया है नईदुनिया अखबार के मालिक छजलानीज और न्यूज 9एक्स चैनल के सीईओ जहांगीर पोचा का. पोचा के बारे में पता चल रहा है कि वे नीरा राडिया के आदमी के बतौर न्यूज 9एक्स की कमान सीईओ के रूप में संभाले हैं. मकेश अंबानी की प्रतिनिधि के बतौर नीरा राडिया अपना हाथ जहांगीर पोचा के कंधे पर रख न्यूज 9एक्स नियंत्रित करती है.  फोन टेपिंग के दस्तावेजों में कुछ यूं लिखा गया है- ”Nira Radia and Jehangir Pocha have been in touch with chhajlani from Nayi Dunia. They wanted Nayi Dunia should Front for someone else who wants to control a News Channel in India which later as per conversation turns out to be News 9x taken over from Peter and Indrani Mukherjee.”

एक अन्य जगह साफ-साफ लिखा गया है कि राडिया और पोचा के जरिए मुकेश अंबानी News 9x को कंट्रोल करते हैं- ”There are numerous calls which establishes that Mukesh Ambani controls News 9X through Mrs. Radia and Pocha. Call No. 202644-”

नीरा राडिया पत्रकारों को कैसे पटाती थी, इस बारे में भी एक जगह लिखा गया है- ”Her modus Operandi also involve giving favours to journalists through giving expensive gifts such as cars, and holidays.”

दस्तावेजों में जगह बताया गया है कि किस तरह नीरा राडिया ने सुपर घुसखोर मधु कोड़ा को ठेंगा दिखाकर सीधे झारखंड के राज्यपाल से मिलकर टाटा की खदान का एक्सटेंशन करा लिया. मधु कोड़ा इस काम के लिए 180 करोड़ रुपये मांग रहे थे. नीरा राडिया ने राज्यपाल से काम करा लिया तो रतन टाटा ने ईनाम के बतौर नीरा राडिया और उनकी टीम को एक करोड़ रुपये दिए.  देखिए दस्तावेज का संबंधित अंश-

नीरा राडिया के जाल-जंजाल में वामपंथी नेता भी फंस चुके थे. ऐसा दस्तावेज बताते हैं. एक जगह कहा गया है कि नीरा राडिया ने सिंगूर मामले में सीपीएम के कई महत्वपूर्ण नेताओं को मैनेज किया. नीरा के लेफ्ट फ्रंट और सीटू के कई नेताओं से बहुत करीबी रिश्ते थे. देखिए, दस्तावेज का संबंधित अंश-

राजस्थान कैडर का आईएएस सुनील अरोड़ा जो पूर्व मुख्यमंत्री का पीएस भी रह चुका है, नीरा राडिया के लिए बहुत कुछ करता रहता था. राजस्थान में जमीन के कई मामलों को नीरा राडिया के लिए सुनील अरोड़ा ने ही हैंडल किया. देखिए, दस्तावेज का संबंधित अंश-

राडिया प्रकरण से संबंधित अन्य 10 खबरों को पढ़ने के लिए नीचे कमेंट बाक्स के ठीक बाद में दिए गए शीर्षकों पर क्लिक करें.

Comments on “‘राडिया जंजाल’ में छजलानीज और पोचा भी!

  • कमल शर्मा says:

    भारत को जितना लूटना हो लूट हो। जनता जब जागेगी तब जागेगी।

    Reply
  • kundan sahoo says:

    hum is loktantrik vyawatha ke kyu hissa bane hue hain ye nahi samajh aata, bharat mein paida hona hi sabse bada pap hai. sanvidhan mein sanshodhan kar kar ke hi jo 5 upadhiyan lagai jati hain, unmein ab ek aur tamga bhi jod dena chahiya–BHRASHT BHARATt !

    Reply
  • zareen siddiqui says:

    is puremamale mi kai hindi news channelo ki chuppi ne sabit kar diya hai ke khane aur dikhane ke daat alag hote hai loktrant ke sabhi stambh dharasai ho chuke hai patrkarita ab ganda dhanda banta ja raha hai is desh ki janta ab kis par aur kyo janta bhrosa karegi …………zareen

    Reply
  • zareen siddiqui says:

    is pure mamale ko lekar kai prtisthit news channelo ki khamoshi se saaf jahir hai ki lokyrant ka sabse sammanit stambh bhi ab apnai jebe bharne me masgool hai kafi dukh ki baat hai sath hi kisi ne kaha hai ki jab yak desh ka bhavisya surakshit hai jab tak media imandaar hai . lekin coprett gharano ke media me intrest lene ki wajah se nischt tour par media bhi achoota nahi raha hajaro youa ke rool model sanghvi ,barkha dutta ne gahra aghat pahuchaya hai ……..zareen siddiqui

    Reply
  • sushil Gangwar says:

    राडिया ek esa naam jo aub surkhia bator raha hai or sath un logo ki pol khol raha hai jo dharam or emaan ke Pakke hai . Mai bhadas4media.com or Yasvant singh ka shukragujar hu ki bhadas4media dino din sach or samne la raha hai. ye achhi pahel hai. Patrakarita jagat ke liye nayi roshni ki kiran hai. राडिया batour PR ka kaam karti hai. bah achhi tareeke se janti hai kown sa kaam kisse karva sakte hai. Barkha Dutt – Veer or kuchh diggaj log राडिया ke eshaaro par kaam kar rahe . News one par sach ka sach programme me ye bahas jari thi aakhir Patrakaar kyo dushit hote jaa rahe hai. Eske liye kown jimmedar hai. Desh ke neta or राडिया jaise log media ko apna gulaam banane par tule hai. Sach me kaha jaye to sub chor hai. Jo pakad jaye vah chor hai jo na pakda jaye bah sahukaar hai. ye ek purani kahabat hai. Media me farjivada ,Rishvatkhori ke jimedar keval kuchh neta or kuchh desh ke bade dalal hai. Kowi patrakaar Advertisment ke jaata hai to neta kahta hai chhod yaar Advertisment, ye kuchh rakh or Bhul jaa Advertisment . Agar vah Advetisment dilwaata hai to usme kuchh % neta ka commision hota hai. Aaj kal Patrakaaro ko naukri Target base par milti hai . Hum aapko naukri dete hai ,app hame business karke do . chahe bah neta , Sarkari adhikaari , Businessman or desh ke Bade Dalal se milkar ? Koyele ki khadan me sabke haath kale hai. ye kabhi nahi bhulna chahiye .
    Editor – sushil Gangwar
    http://www.sakshatkar.com

    Reply
  • sushil Gangwar says:

    राडिया एक ऐसा नाम जो अब सुर्खिया बटोर रहा है और साथ में उन लोगो की पोल खोल रहा है जो धरम और इमान के पक्के है . मै भदस४मेदिअ.कॉम और यशवंत सिंह का शुक्रगुजार हू कि भदस४मेदिअ दिनों दिन सच को सामने ला राह है. ये अच्छी पहेल है. पत्रकारिता जगत के लिए नयी रौशनी की किरण है. राडिया पी आर का काम करती है. बह अच्छी तरीके से जानती है पी आर का kaise kiya जाता है । बरखा दत्त – वीर और कुछ दिग्गज लोग राडिया के इशारों पर काम कर रहे . न्यूज़ १ पर सच का सच प्रोग्राम में ये बहस जरी थी आखिर पत्रकार क्यों दूषित होते जा रहे है. इसके लिए kaaun जिम्मेदार है. देश के नेता और राडिया जैसे लोग मीडिया को अपना गुलाम बनाने पर तुले है. सच में कहा जाये तो sab चोर है. जो पकड़ जाये वह चोर है जो न पकड़ा जाये बह साहूकार है. ये एक पुरानी कहाबत है. मीडिया में फर्जीवाडा ,रिश्वतखोरी के जिमेदार केवल कुछ नेता और कुछ देश के बड़े दलाल है अगर vigyapan नेता deta है तो नेता कहता है छोड़ यार Vigyapan – ये कुछ paise रख और भूल जा । अगर वह Vigyapan दिलवाता है तो उसमे कुछ % नेता का commision होता है. आज कल पत्रकारों को नौकरी टार्गेट पर मिलती है . हम आपको नौकरी देते है ,aap हमें dhandha करके दो . चाहे बह नेता , सरकारी अधिकारी और देश के बड़े दलाल से मिलकर ho ? कोयेले की खदान में सबके हाथ काले है. ये कभी नहीं भूलना चाहिए .एडिटर – सुशील गंगवार ,साक्षात्कार डाट काम

    Reply
  • Lovekesh Kumar Raghav says:

    yashwant jee sabse aap ko badhai ki aap ab es taraha ki khabre bhi la rahe hai jo print or electronic media walen aalen se darte the ya wo kharid liye jate the magar main aap se kahana chahata hu ki kumse kum aap hi aam logo ki aawaz or vishwas bane raha aap kabhi bikna maat main janta hu ki kahna or karene main bahut antar hai magar ab aap ko ya to fasane ki ya khridne ki koshish ki jayegi plz sawdhan rahna……………aap ka shubhchintak.

    LOVEKESH KUMAR SINGH RAGHAV

    gurgaon

    Reply
  • R.K.Kutty says:

    This too is a matter to be thoroughly investigated to find out the truth. Wheelers and dealers with links at the highest level are the real problem. It is unbelievable that people who possess wealth, position and everything in life are more crazy and want to add more to their comfort and then they show up that they are the champions of the proletariats. Sad, really sad.

    Reply
  • जरा नई दुनिया के प्रधान संपादक आलोक मेहता का भी पता करा लीजिए, मुकेश अंबानी की खबरों को खासी अहमियत देते हैं और वरिष्ठ पत्रकारों के एक ऐसे गुट के साथ मिलकर काम करते हैं जिनकी रिलायंस की खबरों में खासी दिलचस्पी है

    Reply
  • KAMAAL MIRZA says:

    loktantra ke 4 stambh hain aur in 4me ghun lagte ja rahe hain aaj ke is commercial dor me in se koi ummid lagana hi be vakufi hai main alok mehta ke vichron se kafi prabhavit hua hun lekin in khabron ke aane ke baad mujhe bahut dukh hua hai mass media ki study me padhaya gaya hai ki asal patrakarita me DESH HIT AUR JAN HIT DHARAM AUR JAATI SE UTH KAR NIKSHPAKSH HO KAR PATRAKARITA KARNI CHAHIYE LEKIN AAJ SWARTH HIT PAHLE HO GAYA HAI

    Reply
  • G.K.PRAJAPATI says:

    DESH HIT AUR JAN HIT DHARAM AUR JAATI SE UTH KAR NIKSHPAKSH HO KAR PATRAKARITA KARNI CHAHIYE LEKIN AAJ SWARTH HIT PAHLE HO GAYA HAI
    KYA KARE BECHARE GARIB JO HE,PAISE KE LIYE KUCHH BHI KARNE KO REDY HO JATE HE,SARM HAYA NAM KI KOI CHIJ HE KAHA,AISE LOGO KI MA BHI ROTI HOGI,

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *