भड़ासी चुटकुला (9)

एक गरीब पत्रकार ने कई महीनों से सेलरी न मिलने के कारण कटिया लेकर क्षेत्रीय नहर-तालाब में मछली मारने और उसे पकाकर खाने का काम शुरू किया. एक दिन उसने कई मछलियां पकड़ीं और अपनी पत्नी को सौंप दिया.

पत्नी ने मछलियों को पकाने से इनकार कर दिया.

पत्रकार ने अपनी पत्नी से वजह पूछा तो पत्नी ने गुस्से से हाथ पटकते हुए बताया- ”एक तो सेलरी न आई, उपर से ऐसी महंगाई. आटा-दाल तो पहले ही खत्म हो चुका. उसकी जगह तालाब-नहर से फ्री में पकड़कर लाई गई मछली से काम चल रहा था. लेकिन अब तो घर में पकाने के लिए न तो तेल बचा है, न गैस बची है, न ही मसाले रह गए हैं. ऐसे में कुछ नहीं हो सकता.”

उदास पत्रकार ने मछलियों को फिर से तालाब में छोड़ दिया.

मछलियां पानी में पहुंचते ही पत्रकार की तरफ देखकर जोर से चिल्लाईं– ”कांग्रेस जिंदाबाद! कांग्रेस जिंदाबाद!!”

मीडिया की वर्तमान दशा पर अगर आपके पास भी कोई चुटकुला हो तो हमें भेजिए, मेल या एसएमएस के जरिए bhadas4media@gmail.com या फिर 09999330099 पर.

अपने मोबाइल पर भड़ास की खबरें पाएं. इसके लिए Telegram एप्प इंस्टाल कर यहां क्लिक करें : https://t.me/BhadasMedia

Comments on “भड़ासी चुटकुला (9)

  • 5 saal pahele congress ka rajasthan main raj tha,aur cm sukaha,pradesh sukha har koi sukha tha……
    aaj bhi vapas cm sukha hai, pradesh bhi sukha hai,har aadmi sukha hai agle char saal tak sukha hi rahega………,
    bechari vashundhar sukhe ka ahsas to nahi hone deti thi,feel good kartai rahti thi …

    Reply
  • DEEPAK KALRA says:

    RAM CHANDER KEH GAYE SIYA SE…….PATRKARI MEIN AISA YUG B AAYEGA……..
    BHOOKON MARENE PATRKAR……UNKI KHABAR KOI NAHIN LAGAYEGA

    Reply
  • ARUN SINHA says:

    Bahut khub ,par darr lagta hai kyon ki mai bhi usi profession me utarne wala hu kahin……………………

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *