दूरदर्शन-आकाशवाणी के लिए 1540 करोड़ रुपये

डिजिटलाइजेशन के लिए फंड आवंटित :निजी कंपनियों के साथ डटकर मुकाबला करने के लिए केंन्द्र सरकार ने गुरुवार को दूरदर्शन और आकाशवाणी के डिजिटलाइजेशन के लिए 1540 करोड़ रुपए मंजूर किए हैं। प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की अध्यक्षता में हुई केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में सूचना और प्रसारण मंत्रालय के इस प्रस्ताव को मंजूरी दी गई। इसके तहत दूरदर्शन और आकावाणी के ट्रांमीटरों और स्टू़डियो के डिजिटलाइजेशन की योजना है।

बैठक के बाद सूचना और प्रसारण मंत्री अंबिका सोनी ने बताया कि दूरदर्शन के डिजिटलाइजेशन के लिए 620 करोड़ जबकि आकाशवाणी के लिए 920 करोड़ रुपए आवंटित किए गए हैं। इस योजना के पूरा होने पर देश के दूरदराज के इलाकों तक दूरदर्शन एवं आकाशवाणी के प्रसारण स्तर में व्यापक सुधार होगा। यह योजना 2017 तक पूरी हो जाएगी। सोनी ने बताया कि इस प्रस्ताव के तहत जल्द ही दूरदर्शन हाई डेफिनेशन टेलीविजन (एचडीटीवी) की तकनीक से लैस होगा। यानी इस तकनीक के बाद दूरदर्शन पर दृश्य काफी साफ सुथरे दिखेंगे। और रेडियो पर आवाज काफी साफ सुनाई देगी। आकाशवाणी के डिजिटलीकरण पर सोनी ने कहा, निजी एफएम रेडियो के मैदान में आने के बाद आकाशवाणी के सामने बड़ी चुनौती आ गई है।

Comments on “दूरदर्शन-आकाशवाणी के लिए 1540 करोड़ रुपये

  • PRADEEP DUBEY says:

    acchi bath hai lakin kuch kaam bhe tou ho sirf paisay jari kardene se he tou ghotala hota hai aur ab hamey intazar karna hoga ak aur ghotalay ka jo doordarshan may honey wala hai jismay kuch bade log aur kuch chotte log samil honey wale hai aur ies kahabar ko doordarshan may prasarit bhe nai keya jayega ha zaroor private news channel isay dikha dege kyu ki doordarshan may is tarah ki khabar nai dikhai jati ki kaha kis sarkari tantra may ghapley ho rahey hai aur kitne brast adakhari ismay lipt hai baki sarkar ki marzi jab kat de gi nai paisay tab tak commesion kaha se milega i meen chunav chanda akhir aarbo rupeya kaha se aate hai aur kaha jate hai ki garib aadmi do soch bhe nai shakta socho socho……………………..?

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *