नवीन जोशी की तस्वीर को अंतरराष्ट्रीय एवार्ड

नवीन जोशीराष्ट्रीय सहारा, नैनीताल के ब्यूरो प्रभारी नवीन जोशी द्वारा ली गई एक तस्वीर को अंतरराष्ट्रीय फोटो प्रतियोगिता ‘जियोटैग्ड फोटो कांटेस्ट’ में आनरेबल मेंशन्स कैटगरी में सेलेक्ट किया गया है. इस फोटो प्रतियोगिता का आयोजन पेनोरमियो वेबसाइट की तरफ से किया जाता है. नवीन जोशी की तस्वीर हिमालय की पंचाचूली चोटी की है. इस चोटी पर सुबह के समय सूर्य की पहली किरण पड़ते ही यह तस्वीर ली गई. इसी कारण फोटो में हिमालय सोने की तरह दमकता नजर आ रहा है. पेनोरियो वेबसाइट गूगल अर्थ पर दुनिया के विभिन्न स्थानों की फोटो उपलब्ध कराती है. इस वेबसाइट पर नवीन जोशी की 200 से अधिक तस्वीरें एक वर्ष से हैं.

यह वेबसाइट दुनिया भर के अपने लाखों फोटोग्राफरों से हर माह प्रतियोगिता के लिए अपनी अधिकतम 5 फोटो नामिनेट करने को कहती है. फिर पूरे माह इन फोटो पर दुनिया से वोटिंग होती है. कोई भी व्यक्ति वेबसाइट पर लाग-इन कर वोटिंग कर सकता है. इस वेबसाइट पर चूंकि भारत के कम ही लोग जुड़े हैं, इसलिए किसी भारतीय का पुरस्कार जीतना काफी कठिन होता है. नवीन जोशी से पहले संभवतः उन्नीपिल्लई नाम के एक फोटोग्राफर के रूस में खींचे गए चित्र को यह पुरस्कार मिला था. नवीन जोशी नैनीताल में मार्च 2008 से ब्यूरो प्रभारी के रूप में कार्यरत हैं. इससे पूर्व वे एक दशक तक दैनिक जागरण, उत्तर उजाला व बद्री विशाल आदि समाचार पत्रों में जुड़े रहे. नवीन फोटोग्राफी के शौकीन हैं.

नवीन जोशी की पुरस्कृत तस्वीर :  Himalaya glittering like Gold early in the morning.(January 2010 - Geotagged Photo Contest Honorable mentions)
नवीन जोशी की पुरस्कृत तस्वीर : Himalaya glittering like Gold early in the morning.(January 2010 – Geotagged Photo Contest Honorable mentions)

नवीन जोशी की पुरस्कृत तस्वीर को हम यहां तो पब्लिश कर ही चुके हैं, उसे अगर आप पेनोरमियो वेबसाइट पर देखना चाहते हैं तो क्लिक करें…

नवीन जोशी की पुरस्कृत तस्वीर

पेनोरमियो वेबसाइट की ओर से किन तस्वीरों को प्रथम व द्वितीय पुरस्कार के लायक माना गया है, उसे देखने के लिए क्लिक करें….

प्रथम, द्वितीय व आनरेबल मोमेंट्स श्रेणी की पुरस्कृत तस्वीरें

Comments on “नवीन जोशी की तस्वीर को अंतरराष्ट्रीय एवार्ड

  • बहुत खूब नवीन। शायद यह तस्वीर आपने मुनस्यारी से ली है। पीडब्लूडी डाकबंगले के आसपास से। मेरा बचपन गुजरा है मुनस्यारी में। आपकी तस्वीर से बचपन की कुछ यादें ताजा हो उठी हैं। खासकर कर स्वर्गवासी हुए पिता याद आए। कभी घर के सामने बैठ हम यूं ही पंचाचूली को ताका करते थे।
    सादर

    Reply
  • नवीन जोशी says:

    धन्यवाद [b]कामता जी, सुमंत जी, धर्मेंद्र जी, नेगी जी, चन्दन रस्तोगी जी, अतुल जी, पंकज श्रीमाली जी और दिनेश मनसेरा भाई, [/b]
    मैं आभार ज्ञापित करने मैं स्वयं को शब्द विहीन पा रहा हूँ. बहुत-बहुत धन्यवाद!! आप सभी की शुभकामनाओं का प्रतिफल ही यह पुरष्कार है. और इस [b]पुरष्कार से अधिक खुशी मुझे आपके सुन्दर शब्द दे रहे हैं[/b].

    Reply
  • unnippillai says:

    [b]Congratulations[/b], Joshiji, for your prize and thank you for your complements to me in the message or comments on my photo page in Panoramio. Wish you for more prizes in the contest………..

    Reply
  • unnippillai says:

    [b]Congratulations,Joshiji[/b], for your Prize in the Competition and Thank you very much for the complements given to me in your message in the comments in my Photopage in Panoramio. Wish you more Prizes in future contests…..

    Reply
  • Reetesh Sah says:

    Congratulations, Navin Bhai,
    You had real potential of doing this……..kudos… to your multi-facilitate personality. .
    Keep it up……
    Reetesh

    Reply
  • Reetesh Sah says:

    Congratulation Navin Bhai,
    You had real potential of doing this……..kudos to your multi-facilitate personality .
    Keep it up……
    Reetesh

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *