ये हैं ‘कैट’ के काटने से पैदल 25 रिपोर्टर एंकर

एक केन्‍द्रीय मंत्री की पुत्री को प्रसार भारती में नियुक्ति दिलाने की कोशिश के चलते जिन अन्य न्‍यूज एंकरों तथा रिपोर्टरों की नियुक्ति निरस्त की गई, उन सभी के नाम भड़ास4मीडिया के पास हैं. दरअसल, ये सभी नाम उस आदेश पत्र में दर्ज हैं, जिसे केंद्रीय प्रशासनिक न्यायाधिकरण (कैट) ने सुनवाई-जांच के बाद पारित किया. केन्‍द्रीय मंत्री कृष्‍णा तीरथ की पुत्री यशवी तीरथ को प्रसार भारती में नियुक्ति दिलवाने के लिए नियमों में हेरफेर के खिलाफ कैट में अर्जी लगाई गई थी. घपले-गड़बड़ी की शिकायत को सही पाने के बाद केन्‍द्रीय प्रशासनिक न्‍यायाधिकरण (कैट) की तरफ से नियुक्तियां रद्द किए जाने संबंधी आदेश जारी किया गया.

जिन कुल 25 एंकरों-रिपोर्टरों की नियुक्तियां रद की गई हैं, उनको कैट की तरफ से सूचित कर दिया गया है. इन सभी को फैसले की एक-एक प्रति भेजी गई है. इन 25 रिपोर्टरों एंकरों के नाम नीचे दिए गए हैं. इनमें से दो यशवी तीरथ और अनिका कालरा काल्हा की नियुक्ति नियमों को ताक पर रखकर की गई थी. इन्हीं दो के केस के विश्लेषण के बाद कैट ने पूरी नियुक्ति प्रक्रिया को संदिग्ध मानते हुए संपूर्ण सेलेक्शन को रद कर दिया. इस तरह दो के चक्कर में 23 जेनुइन लोगों को भी नौकरी से हाथ धोना पड़ा.

  1. Mamta Chopra

  2. Jaya Sinha

  3. Tejinder Singh

  4. Chandra Shekhar Joshi

  5. Sakal Bhatt

  6. Priyanka Agarwal Chaudhary

  7. Aryendra Pratap Singh

  8. Om Prakash Das

  9. Nikhil Kumar Singh

  10. Rahul Gupta

  11. Anika Kalra Kalha

  12. Ashutosh Pandey

  13. Hindol Basu

  14. Swati Bakshi

  15. Preeti Kaur

  16. Ramaa Tyaagi

  17. Rajani Sen

  18. Piyushi Sharman

  19. Nadeem Akhtar Ansari

  20. Suhail Akram Rathore

  21. Asim Kumar

  22. Ashwini Kumar

  23. Yashvi Tirath

  24. Manoj Tibrewal Aakash

  25. Aamir Rizvi

पूरे मामले को जानने के लिए इसे भी पढ़ सकते हैं- प्रसार भारती में 25 एंकरों-रिपोर्टरों की नियुक्तियां रद

Comments on “ये हैं ‘कैट’ के काटने से पैदल 25 रिपोर्टर एंकर

  • It was urged that the number of persons for interview was increased to favour some candidates, which, among others, included Mr. Manoj Kumar Tiberwal, roll number 3075, who ranked 27th in the merit before interview for Grade I, as seen at page 149 of the paper book in the evaluation sheet for Senior Anchor-cum- Correspondent Grade I after written examination, audition test and reporting skills test……..this para contradicts your claim that इस तरह दो के चक्कर में 23 जेनुइन लोगों को भी नौकरी से हाथ धोना पड़ा….

    Reply
  • ए. कुमार says:

    श्रीमान यशवंत सिंह जी, नमस्कार, महोदय आज प्रथम बार मैं भड़ास4मीडिया से रूबरू हुआ। सर्वप्रथम आपको खबर ‘ये है कैट के काटने से पैदल 25 रिपोर्टर’ पर आपको धन्यवाद ज्ञापित कर रहा हूं। आज मेरी भी आपके भड़ास4मीडिया के माध्यम से भड़ास निकालने की इच्छा हुई है । आशा है आप उसे अपना प्रकाश देंगे। मेरा आपसे निम्नलिखित निवेदन है:-

    1- उपरोक्त प्रकरण मे यदि कैट द्वारा शेष रिपोर्टरो के सम्बन्ध में भी जॉंच होती तो उसमें भी घपला व गड़बड़ी पायी जाती। मनोज टिबड़ेवाल आकाश ने भी मनमाने ढंग से सिफारिश कराकर प्रसार भारती मे नियुक्ति पायी थी। उसने माननीय अशोक गहलोत तथा एक केन्द्रीय मंत्री से मनमाने ढंग से सिफारिश करायी थी। माननीय अशोक गहलोत द्वारा मनोज टिबड़ेवाल आकाश को भेजे गए पत्र की छाया प्रति साथ में संल्गन कर मेल से आपको भेजा है।

    2- मनोज टिबड़ेवाल आकाश ने महराजगंज में वर्ष 2002 से दुर्गा फार्मा के नाम से दवा की दुकान खोल रखी है जिसका स्वामी वह स्वयं है तथा आज भी उसका प्रोपराइटर है। उसने वर्ष 2009 में अपने पहुंच का दुरूपयोग करके, गलत तरीके तथा मनमाने ढंग से सिफारिश कराकर उसने भारत संचार निगम लिमिटेड से बीएसएनएल प्रोडक्ट फ्रेंचाइजी प्राप्त की है। यह व्यवसाय भी खुद उसके नाम से है। इससे सम्बन्धित साक्ष्य की छाया प्रति संल्गनक संख्या 2,3,4 मेल से आपको भेजा है।

    3- मनोज टिबड़ेवाल आकाश वर्ष 2006 तक जनसत्ता एक्सप्रेस का संवाददाता था। इसके पूर्व या बाद मे दूरदर्शन के अलावा उसने कभी भी किसी इलेक्ट्रानिक मीडिया में काम नहीं किया है। जनसत्ता एक्सप्रेस एक पूर्व केन्द्रीय मंत्री का समाचार पत्र है। साक्ष्य की छाया प्रति संल्गनक सख्या 5,6 मेल से आपको भेजा है।

    4- मनोज टिबड़ेवाल आकाश प्रसार भारती में बतौर संवाददाता काम करते हुए, पहले पूर्व सांसद माननीय बनवारी लाल कंछल के दिल्ली स्थित आवास पर रहता था और अब पूर्व सांसद माननीय सुरेन्द्र प्रकाश गोयल के मकान मे रहता रहा है।

    5- मनोज टिबड़ेवाल आकाश ने अपने महराजगंज (उप्र) स्थित मकान पर दूरदर्शन न्यूज, डीडी न्यूज, वायस आफ लखनऊ, पीटीआई, जनसत्ता एक्सप्रेस, इंडिया टुडे के ब्यूरो कार्यालय का बोर्ड लगा कर, अपने भाई तथा पिता के माध्यम से लोगों का काम करवाने के नाम पर भारी धन लेकर काम कराया है। उसने पत्रकारिता जैसे पवित्र काम को कलंकित किया है। ब्यूरो कार्यालय के बोर्ड की छाया प्रति संल्गनक सख्या 7 मेल से आपको भेजा है। इस प्रकरण की जॉंच जिलाधिकारी महराजगंज (उप्र) द्वारा करायी गयी जिसमें दोष सिद्ध होने के बाद भी मनोज ने अपने पावर का प्रयोग कर कोई कार्यवाही नहीं होने दी। जिलाधिकारी द्वारा करायी गयी जॉंच रिपोर्ट की छाया प्रति मेल से आपको भेजा है।

    6- मनोज टिबड़ेवाल आकाश ने अपनी पहुंच का दुरूपयोग कर अपने पिता श्री सुशील टिबड़ेवाल को दूरदर्शन केन्द्र लखनऊ के स्ट्रिंगर पैनल में जिला महराजगंज में समाचार कवरेज हेतु नियुक्ति कराया, जिसमें भी मनमाने ढंग से सिफारिश करायी गयी थी। नियुक्ति पत्र की छाया प्रति साथ में संल्गन(9) है ।

    आपसे अनुरोध है कि कृपया इस पर भी नजर डालने की कृपा करें ।

    आपका आभारी
    ए. कुमार

    Reply
  • डी0 त्रिपाठी, महराजगंज says:

    manoj tibrewal ka agar pichla record chek karaya jaye to usse bada frod shyad hi koi mile, uske CV ke sare record jhothe hain, aur usne maharajganj ki patrkarita ko kitna badnam kiya hai, koi bhi wahan ke kisi patrakar ko phone karke puch sakta hai.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *