कई अखबारों के पत्रकार पहुंचे राज एक्सप्रेस

भास्कर से कुलदीप व पीपुल्स से सत्यवीर ने दिया इस्तीफा : राज एक्सप्रेस को जबलपुर में रिपोर्टर चाहिए : मध्यप्रदेश के वरिष्ठ पत्रकार रवीन्द्र जैन के राज एक्सप्रेस के समूह संपादक बनने के बाद ग्वालियर में भास्कर, बीपीएन टाइम्स व पीपुल्स समाचार जैसे अखबारों से अच्छे पत्रकारों का राज एक्सप्रेस में आने का क्रम जारी है। 23 मई को भास्कर के डबरा ब्यूरो चीफ कुलदीप सारस्वत ने ग्वालियर में राज एक्सप्रेस का दामन थाम लिया है।

रविवार को कुलदीप सारस्वत ने राज एक्सप्रेस के ग्वालियर कार्यालय में आमद दे दी है, लेकिन राज एक्सप्रेस के समूह संपादक रवीन्द्र जैन उनका उपयोग इंदौर या भोपाल में करना चाहते हैं। 31 मई तक इस संबंध में निर्णय हो जाएगा। इसके पहले कौशल मुदगल ने भास्कर छोड़कर राज एक्सप्रेस ग्वालियर में समाचार संपादक के रुप में ज्वाइन कर लिया था।

पीपुल्स समाचार के क्राइम रिपोटर सत्यवीर सिंह कुशवाह ने भी दो दिन पहले राज एक्सप्रेस ज्वाइन कर लिया है। कुछ दिन पहले ही बीपीएन टाइम्स के सिटी चीफ अरविन्द श्रीवास्तव व सिटी रिपोटर आलोक श्रीवास्तव ने भी राज एक्सप्रेस ज्वाइन कर लिया है। राज एक्सप्रेस के संपादक रवीन्द्र जैन का कहना है कि उन्होंने पिछले दिनों जिस तरह से ग्वालियर एवं इंदौर में संपादकीय सहयोगियों का वेतन बढ़वाया, उससे ग्वालियर, इंदौर, जबलपुर, भोपाल में राज एक्सप्रेस के प्रति पत्रकारों का रुझान बढ़ा है। इसके अलावा जैन का दावा है कि – आज मप्र में राज एक्सप्रेस एक मात्र अखबार है जहां निष्पक्ष समाचार लिखने की पूरी स्वतंत्रता है। पिछले तीन माह से राज एक्सप्रेस के तीखे तेवर देखकर सभी हतप्रभ हैं।

इस बीच, सूचना है कि राज एक्सप्रेस इंदौर, ग्वालियर के बाद जबलपुर में भी अपनी टीम को मजबूत बनाने के लिए कुछ नए व ऊर्जावान पत्रकारों की भर्ती करने जा रहा है। इसी सप्ताह जबलपुर की टीम में कुछ नए व सक्रिय चेहरे दिखाई दे सकते हैं। अगर आप खुद को इस लायक मानते हैं तो राज एक्सप्रेस प्रबंधन से संपर्क कर सकते हैं।

अपने मोबाइल पर भड़ास की खबरें पाएं. इसके लिए Telegram एप्प इंस्टाल कर यहां क्लिक करें : https://t.me/BhadasMedia

Comments on “कई अखबारों के पत्रकार पहुंचे राज एक्सप्रेस

  • inder yadav says:

    sir….bhaskar jaipur se pardeep dewedi and manoj kasniwal ji ne bhaskar ko laat maar kar anil lodha ji k news paper sunhra rajasthan ko join kr liya h

    Reply
  • idrees ansari sub-editor (navbharat)bsp says:

    nispakch patrkarita hi ek ptrkar ki pahchan hoti hai.mai raj xprees ki patrkarita se sahmat hnu.agar mauka mile to mai kaam karna bhi chahunga..

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *