आगरा के डीएम अजय चौहान को रिश्वत में पचास लाख रुपये चाहिए!

पुण्य प्रसून बाजपेयी: आगरा का ताजमहल, जूता और कलेक्टर : ताजमहल ने अगर आगरा को पहचान दिलायी तो आगरा के जूतों ने आगरा के कलेक्टर को। और आगरा के कलेक्टर का एक मतलब है स्टाम्प ड्यूटी का ऐसा खेल, जिसके शिकंजे में जूतो का जो उघोगपति फंसा तो या तो उसका धंधा चौपट हुआ या फिर करोड़ों रुपये का हार कलेक्टर को पहनाया गया।

राजीव बने उपजा के अध्‍यक्ष, विवेक महामंत्री

उत्‍तर प्रदेश जर्नलिस्‍ट एसोसिएशन, आगरा इकाई का चुनाव टूरिस्‍ट बंगला में हुआ. चुनाव पर्यवेक्षक उपजा के प्रदेश सचिव एके ताऊ तथा चुनाव अधिकारी वरिष्‍ठ पत्रकार रमाशंकर शर्मा थे. इन दोनों लोगों के नेतृत्‍व में शांतिपूर्वक चुनाव सम्‍पन्‍न कराया गया. जिसमें राजीव सक्‍सेना अध्‍यक्ष तथा विवेक कुमार जैन महामंत्री चुने गए.

कवि संतोषानंद को माइक छोड़ने के लिए मजबूर किया गया

: …और आगरा में कविता की मौत हो गई : इस मौत पर सूरसदन में शोक नहीं खेमों में बंटा कोलाहल था : बाजारवाद के दौर में कविता का यह हश्र जब बर्दाश्त नहीं हुआ तो वरिष्ठतम कवि विश्वेश्वर शर्मा को अंतत: कहना पड़ा कि जिसके बेहूदी के समय के गीत सर आंखों पर बैठाए उस अलमस्त फकीर की बेखुदी बर्दाश्त नहीं हुई : आगरा। एक प्यार का नगमा है, मौजों की रवानी है… इस कालजयी गीत के रचयिता मंच पर थे लेकिन ना प्यार का नगमा गाया जा सका ना ही रवानी बन सकी।

आगरा में उपजा जिलाध्‍यक्ष एके ताऊ ने पत्रकार को पीटा!

: बेसिक शिक्षा कार्यालय के कर्मचारियों भी मारपीट में शामिल : पुलिस ने दर्ज किया एनसीआर : आगरा में जिला बेसिक शिक्षा कार्यालय में पूछताछ करने गए एक पत्रकार से कार्यालय के कर्मचारी एवं उपजा के जिलाध्‍यक्ष ने मारपीट की. अग्रभारत समाचार पत्र के पत्रकार बृजेश कुमार गौतम ने आरोप लगाया कि 15 फरवरी को वे जिला बेसिक शिक्षा कार्यालय में कुछ पूछताछ करने गए थे. कार्यालय में तैनात लिपिक अरुण कुमार, अरुण कुमार शर्मा, कप्‍यूटर आपरेटर अमित कुमार और उपजा के जिलाध्‍यक्ष अशोक कुमार अग्निहोत्री उर्फ एके ताऊ ने उनसे मारपीट की.