…they are the sons-daughters of corrupt officers…

Good evening Sir, Just finished reading your article on Bhadas4media about top business schools ranking survey by some magazine. I agree  with the fact that today advertisers decide the content of  news and dominate media more then anything else. But I  should admit one thing more that these days the readers are not that fool that they will blindly follow what some magazine or newspaper will write.

‘बड़े ब्रांड को गाली देना सबसे आसान काम’

यशवंत जी, आखिर आपने मुझे लिखने के लिए मजबूर कर दिया. भड़ास4मीडिया पर जिस सज्जन ने आरोप लगाया है कि इंडिया टुडे ग्रुप पैसे लेकर फर्जी सर्वे छापता है, वह यह बात साबित करें अन्यथा भड़ास4मीडिया पर वे माफ़ी मांगें क्योंकि मैं इस समूह में पिछले 3 वर्षों से विज्ञापन विभाग से जुड़ा हूं और दावे के साथ कह सकता हूं कि श्रीमान आरोपी के सारे आरोप गलत हैं. कृपया भड़ास4मीडिया पर बिना सिर पैर के आरोप न छापें या फिर आप साबित करें कि आप के आरोप सही हैं.

बिजनेस टुडे का सर्वे और एमिटी बिजनेस स्कूल

टीओआई में छपा विज्ञापन

शेष भइया, आपने जो लिखा, वही हुआ। एमिटी वाले टाप टेन में आने का ढिंढोरा पीटने लगे हैं। यहां-वहां नहीं, सीधे टाइम्स आफ इंडिया के फ्रंट पेज पर एक चौथाई पेज का विज्ञापन देकर। आपने तो बता ही दिया था कि ये लोग किस तरह सेटिंग-गेटिंग करके टाप टेन में आने लगे हैं। भोले-भाले लोगों को मूरख बनाने लगे हैं।

नामी पत्रिका ने पैसे लेकर डाले टाप टेन में नाम!

[caption id="attachment_15225" align="alignleft"]शेष नारायण सिंहशेष नारायण सिंह[/caption]इस तरह के फर्जी सर्वे से मीडिया को बाज आना चाहिए : पिछले दिनों देश की एक नामी पत्रिका में बेस्ट बिज़नस स्कूलों का सर्वे आया है. इसने आईआईएम, अहमदाबाद, बंगलोर, कलकत्ता और लखनऊ को तो टॉप बिज़नस स्कूलों में नाम दिया है लेकिन बाकी के चोटी के दस बिज़नस स्कूलों में जिन संस्थाओं का नाम दिया है वे बहुत सारे सवाल उठा देती हैं. इस लिस्ट में एफएमएस दिल्ली, आईआईएम इंदौर, आईआईएम कोजीकोड, आईएसबी हैदराबाद, एमडीआई गुडगाँव, आईआईटी दिल्ली, टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ़ सोशल साइंसेस, मुंबई को टॉप टेन के लायक नहीं समझा गया है जबकि सबसे जादा विज्ञापन देने वाले एमिटी बिज़नस स्कूल को टॉप टेन में जगह दी गयी है.