फैजाबाद के पत्रकारों ने सिखाया रवि किशन को सबक

भोजपुरी फिल्मों के सुपर स्टार और बेहतरीन कलाकार रवि किशन इस उक्ति से रूबरू हुए फैजाबाद में. हुआ यूं कि रवि किशन ने आज फैजाबाद में प्रेस कांफ्रेंस का आयोजन किया. फोन द्वारा उनके पीए ने पत्रकारों को दो बजे का वक़्त देते हुए प्रेस कांफ्रेंस की सूचना दे दी. दो बजे तक प्रिंट व इलेक्ट्रानिक के लगभग सभी संवाददाता प्रेस कांफ्रेंस के लिए सुनिश्चित जगह होटल कृष्णा पैलेस पहुँच गए.

दसवां राष्‍ट्रीय विश्‍व भोजपुरी सम्‍मेलन 23 से

10वें राष्ट्रीय विश्व भोजपुरी सम्मलेन का आयोजन 23 -25  अप्रैल को त्रिवेणी घाट, ऋषिकेश (उतराखंड ) में किया जा रहा है,  जिसमें देश व देश के बाहर से हज़ारों की संख्या में साहित्यकार, कलाकार, गायक और भोजपुरी प्रेमी भाग लेंगे. सम्मलेन का उद्घाटन माननीय मुख्यमंत्री, उतराखंड रमेश पोखरियाल निशंक करेंगे. मुख्य अतिथि वरिष्ठ नेता कलराज मिश्र होंगे.

भोजपुरी सिनेमा के स्‍वर्णिम वर्ष पर कई फिल्‍मी हस्तियां सम्‍मानित

भोजपुरी सिनेमा के 50 वर्षों की यात्रा में भोजपुरी फिल्मों ने उल्लेखनीय मानक स्थापित किया है और भोजपुरी फिल्मों ने देश-विदेश में शूटिंग कर के दर्शकों को अच्छी फ़िल्में दी है. उक्त विचार था मशहूर पार्श्‍व गायक उदित नारायण का.  उदित नारायण ने यह बातें दिल्ली में पूर्वांचल एकता मंच द्वारा आयोजित दो दिवसीय विश्व भोजपुरी सम्मलेन के समापन सत्र पर भोजपुरी सिनेमा के पचास वर्ष पर आयोजित सम्मान समारोह को संबोधित करते हुए कही.

अश्‍लीलता ने भोजपुरी से दर्शकों को दूर किया

एफएमसीसीए के स्वर्णिम भोजपुरी समारोह के अंतिम दिन भोजपुरी सिनेमा में भाषा और महिलाओं की स्थिति विषय पर सेमिनार आयोजित किया गया। सेमिनार का संचालन भोजपुरी के सुप्रसिद्ध कवि व फिल्म समीक्षक मनोज भावुक ने किया। सेमिनार में पद्मश्री शारदा सिन्हा, मालिनी अवस्थी, बीएन तिवारी, निर्माता अभय सिन्हा, टीपी अग्रवाल, निर्देशक अजय सिन्हा, विनोद अनुपम, लाल बहादुर ओझा और युवा निर्देशक नितिन चंद्रा ने अपने विचार रखे। सेमिनार में भोजपुरी सिनेमा के सुपर स्टार मनोज तिवारी और रवि किशन ने भी अपनी बात रखी.

भारत में अपनी जड़ें खोजेंगे मारीशस के पूर्व मंत्री जगदीश गोवर्धन

भोजपुरीसाउथ एक्स दिल्ली में इन्डियन डायास्पोरा सेंटर मारीशस और विश्व भोजपुरी सम्मलेन, दिल्ली के संयुक्त तत्वाधान में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया. जिसमें दोनों देशों में चल रही भोजपुरी की गतिविधियों, चुनौतियों और संभावनाओं पर व्यापक चर्चा किया गया. इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि थे इन्डियन डायास्पोरा सेंटर, मारीशस के संयोजक व मारीशस के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री जगदीश गोवर्धन और विशिष्ट अतिथि थीं मारीशस की चर्चित गायिका व अभिनेत्री होसिला देवी.

कव‍ि मनोज भावुक जमशेदपुर में सम्‍मानित

जमशेदपुर के ऐतिहासिक गोपाल मैदान में आस्था संस्था द्वारा आयोजित फ़ूड एंड फोक फेस्टिवल में फिल्म, पत्रकारिता एवं समाज सेवा के क्षेत्र में सक्रिय तमाम हस्तियों को सम्‍मानित किया गया. पत्रकारिता एवं साहित्‍य में योगदान के लिए हमार टीवी के क्रिएटिव हेड एवं विश्व भोजपुरी सम्मलेन, दिल्ली के अध्यक्ष ख्यातिलब्ध भोजपुरी कवि मनोज भावुक को भी सम्मानित किया गया. भावुक को यह सम्‍मान टाटा मोटर्स के डीजीएम एवं आस्था के चीफ एडवाइजर सुमंत सिन्हा ने प्रदान किया .

भोजपुरिया जनता ने कहा निरहुआ सर्वश्रेष्‍ठ

: भोजपुरी सिनेमा पर अब तक का सबसे बड़ा जन सर्वेक्षण : भोजपुरी सिनेमा 50 सालों का सफर पूरा कर चुका है. इस लंबी पारी में अब तक लगभग 475 फिल्में प्रदर्शित हो चुकी हैं. बदलते वक्त के साथ-साथ भोजपुरी फिल्मों का मिजाज भी लगातार बदल रहा है. यह बदलाव कितना सकारात्मक है और कितना नकारात्मक और इसमें अपने-अपने क्षेत्र में किन लोगों ने सबसे श्रेष्ठ काम किया है.

भोजपुरी सिनेमा को नहीं मिल रहा उसका हक

: द संडे इंडियन और आईसीएमआर ने किया भोजपुरी सिनेमा पर सर्वे :  भारतीय सिनेमा के क्षितिज पर भोजपुरी सिनेमा का उदय हुए 50 साल गुजर गये. पर आज भी भोजपुरी सिनेमा कई प्रकार के संघर्षों के दौर से गुजर रहा है. भोजपुरी में दर्शक हैं, यानी बाजार है. एक बड़ा बाजार. कई राज्यों में फैला हुआ. कई देशों में पसरा हुआ. बिहार-यूपी को छोड़िये, दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और गुवाहाटी से लेकर पंजाब तक भोजपुरी फिल्मों के दर्शक हैं. भारत के अलावा नेपाल, मॉरीशस, नीदरलैंड्स, फिजी, सूरीनाम, गुयाना आदि देशों में भी पर्याप्त दर्शक हैं. इतना बड़ा बाजार भोजपुरी के अलावा केवल हिंदी का है.

रांची में देर रात तक गूंजी भोजपुरिया आवाज

: मनोज भावुक विश्व भोजपुरी सम्मलेन,दिल्ली के अध्यक्ष बने : विश्व भोजपुरी सम्मलेन की झारखंड इकाई द्वारा गत २६-२७ सितम्बर को विरसामुंडा की पावन भूमि रांची में सम्मलेन की कार्यकारिणी के राष्ट्रीय अधिकारियों की एक महत्वपूर्ण बैठक हुई जिसमें सर्वसम्मति से युवा कवि मनोज भावुक को विश्व भोजपुरी सम्मलेन की दिल्ली इकाई का अध्यक्ष नियुक्त किया गया. मनोज विश्व भोजपुरी सम्मलेन, ब्रिटेन इकाई के अध्यक्ष रह चुके हैं.

पत्रकार की भोजपुरी फिल्म को पांच एवार्ड

मुंबई : लंबे समय बाद किसी भोजपुरी फिल्म के लिए अपना स्वर देने वाली स्वर सम्राज्ञी लता मंगेशकर को पांचवें भोजपुरी फिल्म अवार्ड में सर्वश्रेष्ठ पार्श्व गायिका का पुरस्कार मिला है. लता को यह पुरस्कार मुंबई से प्रकाशित सामना (हिंदी) के उप संपादक आदित्य दुबे की भोजपुरी फिल्म ‘उमरिया कइली तोहरे नाम’ के लिए मिला है.