कैंटीन विवाद ने ली जागरण, बरेली के संपादक की बलि

दैनिक जागरण, बरेली में कैंटीन विवाद के कारण संपादक कल्याण कुमार की बलि चढ़ गई है. कल्याण को दैनिक जागरण की दूसरी पारी रास नहीं आई. उन्हें कुछ महीनों पहले नोएडा आफिस में ज्वाइन कराकर बरेली का संपादक बनाकर भेजा गया. कल्याण के बरेली जागरण का हिस्सा बनने से अखबार ने काफी तरक्की भी की. लेकिन पिछले कुछ दिनों से कैंटीन विवाद का जो साया कल्याण कुमार पर पड़ा उसका अंत उनके इस्तीफे से हुआ. कल्याण कुमार की पत्नी ने बरेली कालेज के कैंटीन के लिए प्लाई किया था और उन्हें इस कैंटीन के संचालन की जिम्मेदारी भी मिली लेकिन इस प्रकरण को जागरण प्रबंधन के सामने इस रूप में पेश किया गया कि जैसे कोई बहुत बड़ा अपराध हो गया है.

जागरण के प्रसार विभाग के दो कर्मी गिरफ्तार

: जागरण, देहरादून के चीफ सब ओंकार प्रमोट : अमर उजाला, गोरखपुर से दो गए : दैनिक जागरण, बरेली से सूचना है कि प्रसार विभाग में कार्यरत गौरव मिश्रा और निशांत भदौरिया के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया. इन लोगों पर शराब पीकर बरेली के रेलवे स्टेशन पर हंगामा करने का आरोप है. सूत्रों के मुताबिक जीआरपी के लोगों ने इन दोनों का मेडिकल टेस्ट कराया और फिर मुकदमा दर्ज कर हिरासत में ले लिया. गौरव प्रसार विभाग में बतौर सिटी चीफ कार्यरत हैं जबकि निशांत सीनियर एक्जीक्यूटिव हैं. घटना कल रात बारह बजे के आसपास की है.

बरेली में जागरण-उजाला महंगे हुए

[caption id="attachment_17231" align="alignleft"]हिंदुस्तान, बरेली में जारी है आधे दाम वाली स्कीमहिंदुस्तान, बरेली में जारी है आधे दाम वाली स्कीम[/caption]बरेली में अखबारों की आपसी लड़ाई में नया मोड़ आ गया है. हिंदुस्तान आधे दाम में पहले की तरह बिक रहा है पर अमर उजाला व दैनिक जागरण अपने पाठकों से ज्यादा पैसे वसूलने लगे हैं.