आरोपों पर पंवार ने चुप्पी तोड़ी

डीएनए में छपी सूचनालखनऊ और इलाहाबाद से प्रकाशित हिंदी दैनिक ‘डेली न्यूज एक्टिविस्ट’ (डीएनए) के ग्रुप एडिटर पद से प्रबंधन द्वारा बर्खास्त किए गए देशपाल सिंह पंवार ने अपने उपर लगे आरोपों का जवाब भड़ास4मीडिया को एक पत्र लिखकर दिया है. उनका पत्र इस प्रकार है- प्रिय यशवंत, एक सिद्धांत की वजह से झूठे और घटिया आरोपों का जवाब नहीं देना चाहता था.

डीएनए कर्मियों को 50 फीसदी तक इनक्रीमेंट

समाचार संपादक अनिल भारद्वाज, समूह संपादक देशपाल सिंह पंवार, प्रबंध संपादक डा. निशीथ राय और संपादक अरविंद चतुर्वेदी

डेली न्यूज़ ऐक्टिविस्ट ने रखा तीसरे साल में कदम : दर्जनों पत्रकारों को तरक्की : उत्तर प्रदेश की पत्रकारिता में दो साल पहले धमाकेदार मौजूदगी दर्ज कराने वाला राजधानी लखनऊ से प्रकाशित राष्ट्रीय हिंदी दैनिक डेली न्यूज ऐक्टिविस्ट इसी 13 अक्टूबर को तीसरे साल में प्रवेश कर गया। सच्चाई के लिए संघर्ष करने वाली हिंदी पत्रकारिता की गौरवशाली परम्परा से प्रेरित इस अखबार ने बिना किसी लम्बे-चौडे़ तामझाम के, जन सरोकारों से अपने को संजीदगी से जोड़कर बहुत थोड़े ही समय में जो पहचान और पाठकों में पैठ बनाई है, वह खुद में आज एक मिसाल है। इस अखबार ने साबित किया है कि अगर निहित स्वार्थ और बाजारूपन की चालबाजियों के समानांतर जन समस्याओं को लगातार समाधानकर्ताओं के सामने लाया जाए, भ्रष्टाचार को निर्भीकता पूर्वक उजागर किया जाए तो पाठकों का विश्वास और लोकप्रियता दोनों हासिल किए जा सकते हैं।