अनिल उस दिन आफिस में थे ही नहीं : एचटी प्रबंधन

शैलबाला प्रकरण में एचटी के एडमिन डिपार्टमेंट से जुड़े रहे अनिल कुमार तिवारी ने पुलिस कमिश्नर को जो पत्र लिखा, उस पत्र के भड़ास4मीडिया पर प्रकाशित होने के बाद एचटी प्रबंधन हरकत में आ गया। ग्रुप के लीगल डिपार्टमेंट की तरफ से एक जवाबी पत्र पुलिस कमिश्नर, दिल्ली को भेजा गया है। इस पत्र में दो बातें प्रमुख हैं- शैलबाला-प्रमोद जोशी विवाद के वक्त अनिल मौके पर थे ही नहीं और अनिल कुमार तिवारी 23 जनवरी को एचटी की सेवा से हटाए जा चुके हैं। पत्र के मुताबिक सेवा से हटाए जाने के कारण अनिल पूर्वाग्रह ग्रस्त होकर और ‘फ्रस्टेशन’ के चलते गलत बातें बोल रहे हैं। पुलिस कमिश्नर से अनुरोध किया गया है कि वे अनिल के पत्र पर ध्यान न दें। एचटी प्रबंधन की तरफ से पुलिस कमिश्नर को भेजा गया पत्र इस प्रकार है-

हां, प्रमोद जोशी ने शैलबाला को धक्का दिया : अनिल

Anil Kumar Tiwariशैलबाला-प्रमोद जोशी प्रकरण में नया मोड़ तब आया जब एचटी के एडमिन डिपार्टमेंट में 20 वर्षों से कार्यरत अनिल कुमार तिवारी ने दिल्ली के पुलिस आयुक्त को पत्र देकर प्रमोद जोशी द्वारा शैलबाला को धक्का देने की पुष्टि की। पत्र में अनिल ने आशंका जताई है कि एचटी प्रबंधन कोशिश में है कि शैलबाला मामले में एफआईआर दर्ज न हो। अनिल ने प्रबंधन की पहुंच के बारे में पत्र में लिखा है-‘एचटी मीडिया का प्रबंधक अगर किसी की हत्या करा देंगे तो पता  तक नहीं चलेगा।’  पूरा पत्र इस प्रकार है-

शैलबाला के थाने जाने की आशंका प्रबंधन को थी!

शैलबाला द्वारा प्रमोद जोशी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराने से पहले ही एचटी प्रबंधन ने बारहखंभा रोड थाने में एक लिखित अर्जी दायर कर प्रबंधन के लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराए जाने की आशंका जाहिर करते हुए पुलिस को आगाह कर दिया था। एचटी के सीनियर एक्जीक्यूटिव (लीगल) शुवन दास द्वारा थाने में दिए गए पत्र की एक प्रति भड़ास4मीडिया के पास भी है, जिसे नीचे हू-ब-हू प्रकाशित किया जा रहा है। पत्र में कहा गया है कि एचटी प्रबंधन प्रशासनिक आधार पर कुछ कर्मचारियों को संस्थान से बाहर कर रहा है। ऐसे कमर्चारियों की तरफ से प्रबंधन के लोगों के खिलाफ झूठी शिकायत दर्ज कराए जाने की आशंका है। पत्र में शैलबाला के नाम का उल्लेख करते हुए कहा गया है कि इन्होंने प्रबंधन के कई लोगों को मुकदमें में फंसाने की धमकी दी है।

प्रमोद जोशी के खिलाफ थाने पहुंचीं शैलबाला

दैनिक हिंदुस्तान, दिल्ली के वरिष्ठ स्थानीय संपादक प्रमोद जोशी के खिलाफ शैलबाला ने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है। शैलबाला ने प्रमोद जोशी पर शारीरिक दुर्व्यवहार करने और साजिश रचने का आरोप लगाया है। दिल्ली के बारह खंभा रोड पुलिस थाने में दर्ज कराई गई शिकायत में शैलबाला ने कहा है कि वे जब कल आफिस पहुंचीं तो प्रमोद जोशी ने उन्हें इस्तीफे के पत्र पर हस्ताक्षर करने को कहा। हस्ताक्षर करने के बाद जब अपना सामान लेने के लिए सीट की तरफ लौटने लगीं तो प्रमोद जोशी ने धक्का देकर और बांह पकड़कर बाहर जाने वाले रास्ते की ओर बढ़ने को कहा। शैलबाला के मुताबिक प्रमोद जोशी को यह कतई अधिकार नहीं है कि वे किसी स्त्री के शरीर को टच करें। उन्हें इसके लिए महिला गार्ड को बुलाना चाहिए था।