पत्रकारिता न तो द्रौपदी है और ना ही चौराहे पर खड़ी है : आशुतोष

‘सत्ता, दहशत और मीडिया’ का समाज और आम आदमी पर क्या प्रभाव पड़ता है, मीडिया अपने दायित्वों को कितना निभा रहा है और पत्रकारिता और राजनीति का घालमेल समाज को किस दिशा की ओर लेकर जा रहा है। इन तमाम पहलुओं पर शनिवार को पत्रकारिता जगत के वरिष्ठ लोगों ने बेबाकी से अपनी राय रखी और पत्रकारिता के युवा छात्रों के सवालों का जवाब दिया।

साहित्य मण्डल ने दिलीप यादव को सम्मानित किया

मथुरा। साहित्य मण्डल नाथद्वारा ने तीन दिवसीय हिन्दी दिवस समारोह आयोजित कर हिन्दी के क्षेत्र में योगदान देने वाले साहित्यकार, कवि एवं पत्रकारों को सम्मानित किया। कार्यक्रम में ब्रज से कल्पतरु एक्सप्रेस के उपसंपादक दिलीप कुमार यादव को एग्रीकल्चर एवं कल्चरल रिपोर्टिंग के लिए पत्रकार प्रवर सम्मान से सम्मानित किया।