उसी तिहाड़ गईं कनी जहां एक ‘राजा’ रहता है

: ‘बेकार’ अमर पर शुरू हुआ सिस्टम का वार : कनिमोझी उसी तिहाड़ जेल गई हैं जहां राजा रहते हैं. कनी और राजा की प्रेम कहानी की पिछले दिनों खूब चर्चा हुई. नीरा राडिया ने रतन टाटा को फोन पर बताया था कि ए. राजा के सामने जब कनिमोझी का नाम लो तो वह शरमा जाता है. कनी-राजा के प्रेम के चर्चे उस जमाने में हर ओर थे. और कनी जो चाहती थी राजा से करा लेती थी.

आदेश सुन कनी सकपकाईं, समर्थक रोए-चिल्लाए

: धरा रह गया लाव-लश्कर : रुआंसी हुईं तो पति और राजा की पत्नी ने दिलासा दिया :  सीबीआई की स्पेशल कोर्ट के जज ओपी सैनी ने जब कनी और शरद को हिरासत में लेने के आदेश दिए तो कनीमोझी आदेश सुनकर सकपका गईं. वे असहाय सी दिखने लगीं. तब उनके परिवार के सदस्यों ने उन्हें ढांढस बंधाया. कनी के पति अरविन्दन ने तसल्ली दी. सीबीआई स्पेशल कोर्ट में द्रविण मुनेत्र कणगम (द्रमुक उर्फ डीएमके) के संसदीय दल के प्रमुख टीआर बालू भी मौजूद थे.

चैनल के मालिकों कनी-शरद को जेल, अमर भी जाएंगे जेल

: कलेंगनर टीवी के जरिए 2जी घोटाले का पैसा बटारने वालों की जमानत याचिका खारिज : अमर सिंह की काली कमाई की जांच और गिरफ्तारी के लिए रास्ता खुला :  दो अदालतों के फैसले से देश के करोड़ों दिलों में ठंड पहुंची : आज का दिन शुभ है. दो बड़ी मछलियां कानून के शिकंजे में आई हैं. तमिलनाडु में करुणानिधि के चुनाव हारते ही उनकी बेटी कनी जेल चली गईं.

2जी उर्फ राजा-राडिया घोटाला : एक चैनल के पास 206 करोड़ पहुंचे, जांच जारी…

टाइम्स आफ इंडिया में आज एक रिपोर्ट प्रकाशित हुई है जिसमें प्रवर्तन निदेशालय के सूत्रों के जरिए काफी सनसनीखेज खुलासा किया गया है. इस रिपोर्ट के अनुसार 2जी स्पेक्ट्रम स्कैम के दौरान आए-गए पैसे की जांच-पड़ताल के दौरान पता चल रहा है कि करीब 206 करोड़ रुपये दक्षिण भारत के एक टीवी चैनल के पास पहुंचाया गया.

पूर्व केंद्रीय मंत्री ए. राजा 2जी स्पेक्ट्रम घोटाले में गिरफ्तार

आखिरकार ए. राजा को गिरफ्तार कर ही लिया गया. भ्रष्टाचार के खिलाफ देश भर के लोगों के जाग खड़े होने से थरथराई कांग्रेस सरकार ने ए. राजा पर गाज गिरा दी. वैसे तो गिरफ्तारी सीबीआई ने की है लेकिन माना जा रहा है कि बिना शीर्ष राजनीतिक नेतृत्व की हरी झंडी के, ये गिरफ्तारी संभव नहीं थी. पिछले दिनों करुणानिधि और सोनिया गांधी की मुलाकात को भी इसी संदर्भ में देखा जा रहा है. गिरफ्तारी से पहले केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने 2जी स्पेक्ट्रम आवंटन घोटाला मामले में आज ही राजा से पूछताछ की.

ये टेप तो ‘दिमाग हिलाने’ वाला है : सुप्रीम कोर्ट

जैसे हमारे आपके दिमाग हिल गए नीरा राडिया के टेप सुनकर, उसी तरह सुप्रीम कोर्ट भी टेप सुनकर सकते में है. उच्चतम न्यायालय ने सुपर दलाल नीरा राडिया की पत्रकारों, नेताओं, उद्यमियों से वार्ता के टेपों से हुए खुलासे को ‘दिमाग हिलाने’ वाला करार दिया है. मामले की सुनवाई कर रहे न्यायमूर्ति जीएस सिंघवी  का कहना था-, ‘हम लोगों ने नदियों खासकर गंगा – यमुना के प्रदूषण के बारे में सुना है, लेकिन यह (टेप) प्रदूषण पर्यावरण वाले प्रदूषण से भी ज्यादा खतरनाक किस्म का है।’ सुप्रीम कोर्ट की बेंच ने नीरा राडिया की बातचीत वाले टेप को सीलबंद कवर में सुप्रीम कोर्ट में जमा करने का आदेश दिया है. टेप जमा कराने का अनुरोध सीपीआईएल के वकील प्रशांत भूषण ने किया था.

वीर-बरखा जाएंगे तिहाड़?

बरखा दत्त और वीर सांघवीबड़ा ही अजीब सवाल है। वीर यानी वीर सांघवी- ‘हिंदुस्तान टाइम्स’ के संपादकीय निदेशक, बेहद ऊंचा पद। बरखा यानी बरखा दत्त- ‘एनडीटीवी 24/7 की समूह संपादक, बेहद रसूखदार पद। सवाल यह उठता है कि इन दोनों का तिहाड़ जेल से क्या मतलब। मतलब है, मतलब ही नहीं बल्कि बहुत बड़ा मक़सद है! दरअसल, 2-जी स्पेक्रट्रम घोटाले के सूत्रधारों में इनकी शुमारी काफ़ी मायने रखती है। कथित रूप से दुनिया की सबसे बड़ी दलाल नीरा राडिया की ये दोनों दाएं-बाएं हाथ सरीखे हैं, जो राजनीति के गलियारे में नीरा राडिया की बेलाग इंट्री करवाते हैं।