बनारस में अखबारों के बीच प्राइस वार तेज

: अमर उजाला ने 75 रुपये में महीने भर अखबार देने की घोषणा की : दाम व कमीशन घटाकर कांपैक्ट से पिछड़ा आई-नेक्स्ट : वाराणसी में अखबारों के बीच प्राइस वार तेज हो गई है. शनिवार के दिन अमर उजाला ने वाराणसी में पूरे एक पेज का विज्ञापन छापकर ग्राहकों को यह सूचना दी है कि अब यह अखबार पूरे माह एक सौ पांच रुपये के बजाए महज 75 रुपये में मिलेगा. इस तरह अमर उजाला खरीदने पर ग्राहकों को 30 रुपये का माहवारी फायदा होगा.

फांकाकशी के शिकार सहारा के ब्यूरो आफिस

वाराणसी। राष्ट्रीय सहारा का प्रकाशन पूर्वांचल की सरजमीं वाराणसी से शुरू हुए एक माह से ज्यादा का वक्त गुजर चुका है लेकिन सहारा से जुड़े इसके ब्यूरो आफिसों और आफिस से जुड़े एक्जीक्यूटिवों की आर्थिक हालत बद से बदतर हो चली है। सूत्रों से ज्ञात हुआ है कि ब्यूरो आफिस में काम करने वाले एक्जीक्यूटिवों को वेतन तो दूर उनके आफिस खर्च भी नहीं भेजे जा रहे हैं। परिणास्वरुप अब सहारा कर्मी ही सहारा की आलोचना शुरू करने में पीछे नहीं हैं। पहले सहारा का प्रकाशन अगस्त महीने में होना था।

राष्ट्रीय सहारा के बनारस संस्करण का भव्य विमोचन

वाराणसी : हिन्दी दैनिक राष्ट्रीय सहारा के वाराणसी संस्करण का शुभारम्भ रविवार को नगर के गण्यमान्य जनों की उपस्थिति तथा भव्य सांस्कृतिक कार्यक्रमों के बीच संपन्न हुआ।

राहुल त्रिपाठी ने राष्ट्रीय सहारा, बनारस ज्वाइन किया

हिन्दुस्तान, बुलंदशहर के ब्यूरो चीफ पद से इस्तीफा देने वाले राहुल त्रिपाठी ने राष्ट्रीय सहारा, वाराणसी में सीनियर सब एडिटर की पोस्ट पर ज्वाइन किया है. बुलंदशहर में गर्ग नर्सिंग होम में डॉक्टरों की लापरवाही से हुई मां-बेटी की मौत की खबर को छापने का साहस दिखाने वाले राहुल त्रिपाठी ने अपने वरिष्ठों के अनैतिक …

राष्ट्रीय सहारा, कानपुर से 9 का बनारस ट्रांसफर

राष्ट्रीय सहारा, कानपुर से कई लोगों का तबादला बनारस से लांच होने जा रहे राष्ट्रीय सहारा के लिए कर दिया गया है. सूत्रों के मुताबिक जिन लोगों का तबादला किया गया है, उनके नाम हैं-  अभयानंद शुक्ला, रामेंद्र सिंह, जितेंद्र कुमार, बिपिन, राजेश द्विवेदी, वीरेंद्र सिंह (मार्केटिंग), मुकेश (सरकुलेशन), शोभाकांत और एसबी सिंह.

राष्ट्रीय सहारा में बड़े पैमाने पर बनारस के लिए तबादला

सहारा समूह ने बनारस में राष्ट्रीय सहारा अखबार के लांच करने की तैयारियां तेज कर दी हैं. इसी क्रम में विभिन्न यूनिटों से करीब दर्जन भर से ज्यादा लोगों का तबादला बनारस किया गया है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सबसे ज्यादा ट्रांसफर कानपुर यूनिट से किए गए हैं. पटना, लखनऊ, गोरखपुर से भी लोग बनारस भेजे गए हैं. सभी को हफ्ते भर के भीतर बनारस पहुंच कर ज्वाइन कर लेने के लिए कहा गया है.