जैदी ने इंडिया न्यूज छोड़ा, जनसंदेश के एमई बने!

सयदैन जैदीखबर आ रही है कि इंडिया न्यूज के रेजीडेंट एडिटर, मुंबई सयदैन जैदी ने इस्तीफा दे दिया है। अपुष्ट सूचनाओं के अनुसार जैदी जनसंदेश चैनल ज्वाइन करने वाले हैं। एक जानकारी के मुताबिक जनसंदेश में उनका पद मैनेजिंग एडिटर का होगा। हालांकि अभी इस बात की पुष्टि नहीं हो पाई है। जैदी का इंडिया न्यूज में भले ही मुंबई के लिए रेजीडेंट एडिटर पद पर अप्वायंटमेंट हुआ था लेकिन वे अनुरंजन झा के इंडिया न्यूज से इस्तीफे के बाद से दिल्ली में ही आउटपुट का काम देख रहे थे। बाद में जब आउटपुट का काम इसरार को दिया गया तो जैदी मुंबई लौट गए। पर उनका उनका दिल्ली आना-जाना लगा हुआ था।

इसरार आउटपुट और अमित इनपुट देखेंगे

नदीम अख्तर ने हिंदुस्तान और भूपेंद्र ने राष्ट्रीय सहारा छोड़ा, नई पारी शुरू की : खबर है कि इंडिया न्यूज में आंतरिक कामकाज का बंटवारा फिर से किया गया है। आउटपुट की जिम्मेदारी इसरार अहमद शेख को दे दी गई है। वे अभी तक इनपुट हेड के बतौर काम देख रहे थे। खास बात ये है कि इसरार आउटपुट हेड के बतौर सीईओ और एडिटन इन चीफ हरीश गुप्ता को नहीं बल्कि मैनेजिंग डायरेक्टर कार्तिकेय शर्मा को रिपोर्ट करेंगे। अनुरंजन झा के जाने के बाद आउटपुट का काम सैयदेन अहमद जैदी देख रहे थे। सैयदेन इंडिया न्यूज के मुंबई के आरई हैं और आंतरिक व्यवस्था के तहत कुछ दिनों के लिए उन्हें दिल्ली बुलाया गया था। दूसरा बदलाव हुआ है इनपुट पर। इनपुट डेस्क का जिम्मा अमित आर्या को दे दिया गया है। वे एसाइनमेंट भी देखते रहेंगे। अमित आर्या इनपुट और एसाइनमेंट का काम हरीश गुप्ता की निगरानी में करेंगे। इन बदलावों के लोग तरह-तरह के निहितार्थ निकाल रहे हैं।

उठने से पहले ही शांत हो गईं ‘लहरें’

‘लहरें’ के चैनल हेड समेत 13 पत्रकारों का इस्तीफा,  इंडिया न्यूज से जुड़े : देश के पहले 24×7 बालीवुड न्यूज चैनल ‘लहरें’ ने लांच होने से पहले ही दम तोड़ दिया है। इस फिल्मी न्यूज चैनल के साथ दर्जनों लोग जुड़े लेकिन अब सभी इधर-उधर हो चुके हैं। ज्यादातर लोग अपने-अपने संस्थानों से इस्तीफा देकर इस नए न्यूज चैनल के साथ अपना भविष्य संवारने के लिए जुड़े थे। लेकिन मीडियाकर्मियों का भविष्य तब संवरता जब चैनल का अपना कोई भविष्य बन पाता। इस चैनल के साझीदारों के बीच झगड़े के चलते ‘लहरें’ की पूरी टीम को जाना पड़ा है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार ‘लहरें’ के ज्यादातर लोगों की छंटनी की जा चुकी है। जो लोग बचे, वे दो हिस्से में विभक्त हो गए हैं। करीब दर्जन भर लोग ‘लहरें’ की साझीदार कंपनी टीवी9 के साथ हो लिए हैं। वहीं एक दर्जन अन्य मीडियाकर्मी इंडिया न्यूज के साथ जुड़ चुके हैं।