सपाई नहीं मिले तो बच्‍चे को ही सपा कार्यकर्ता बनाया पुलिस ने

: पुलिस के इस कमीनेपन पर भड़क उठे सिटी मजिस्‍ट्रेट : उत्तर प्रदेश की बसपा सरकार के कुशासन के खिलाफ गुरूवार को गोरखपुर में समाजवादी पार्टी द्वारा आयोजित विरोध प्रदर्शन को असफल बनाने के लिए पुलिस प्रशासन की तैयारियां कारगर साबित हुईं हैं, पर केवल शहरों एवं कस्बों में। इस बार सपाईयों ने पहले की तरह सीनाजोरी नहीं दिखाई बल्कि लुकाछिपी का खेल खेला। गांवों में सपा का कार्यक्रम पूरी तरह सफल होने का दावा किया गया है।

गोरखपुर के डीएम को किसी बड़े हादसे का इंतजार है

गोरखपुर के जिलाधिकारी खुद किसी बड़े हादसे का इंतजार कर रहे हैं या उन्‍हें धरना-प्रदर्शन करने वालों से चिढ़ हो गई है. यह कोई आरोप नहीं बल्कि सच्‍चाई है. यदि ऐसा नहीं होता तो उनके कार्यालय के सामने स्थित जर्जर इमली के पेड़ को सिर्फ एक नोटिस बोर्ड लगाकर नहीं छोड़ दिया जाता, जबकि पूरा मामला डीएम साहब की संज्ञान में है.

अखबार में खबर बाद में छपती है, मुझे पता पहले चल जाता है

समाजवादी पार्टी का सातवां राज्य सम्मेलन 10 से 12 फरवरी तक गोरखपुर के ऐतिहासिक रामगढ़ ताल के किनारे जीडीए पार्क में हो रहा है। सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव और उनके पुत्र एवं पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अखिलेश यादव, आजम खान, संगठन मंत्री ओम प्रकाश सिंह, राष्‍ट्रीय महसचिव प्रो. राम गोपाल यादव सहित पार्टी के तमाम दिग्गज नेता बुधवार की रात तक गोरखपुर पहुंच चुके हैं।