सुभारती ग्रुप के चैनल से कर्मियों की छुट्टी, अब नवम्‍बर में होगा लांच

पिछले दो सालों से राष्‍ट्रीय टीवी चैनल लाने तैयारी कर रहे सुभारती ग्रुप का चैनल अब लटक गया है.  सुभारती ग्रुप से खबर है कि फिलहाल उन्‍होंने अपना प्रोजेक्‍ट ठण्‍डे बस्‍ते में डाल दिया है. एक दर्जन से ज्‍यादा भर्ती किए गए कर्मचारियों को भी कई दिनों पहले हटा दिया गया है. प्रबंधन का कहना है कि अब इस चैनल को नवम्‍बर में लांच किया जाएगा.

सुभारती नहीं लांच करेगा अपना चैनल, कर्मचारियों की छुट्टी

पिछले दो सालों से राष्‍ट्रीय टीवी चैनल लाने का ढोल पीट रहे सुभारती ग्रुप से खबर है कि अब वे अपना चैनल लांच नहीं करेंगे. शुरू होने से पहले ही चैनल बंद हो गया है. ग्रुप अब अपना चैनल लाने नहीं जा रहा है. टीवी चैनल के लिए भर्ती किए गए तमाम कर्मचारियों की छुट्टी कर दी गई है तथा कई को नया ठौर ढूंढने का फरमान सुना दिया गया है.

जागरण वाले मेरे पीछे पड़े हैं : डा. अतुल कृष्ण

[caption id="attachment_20020" align="alignleft" width="94"]डा. अतुल कृष्णडा. अतुल कृष्ण[/caption]सुभारती समूह के सर्वेसर्वा हैं डा. अतुल भटनागर. अब इन्होंने अपना नाम बदल लिया है. हो गए हैं डा. अतुल कृष्ण. मेरठ में मुख्यालय और ठिकाना है इनका. अस्पताल, अखबार, ट्रस्ट, समाजसेवा… जाने क्या क्या काम धंधे हैं इनके. अरबों-खरबों का कारोबार, समाज-व्यापार है. दैनिक प्रभात नाम से हिंदी अखबार कई शहरों से निकालते हैं.

सुभारती को झटका, अमित ने दिया इस्‍तीफा

सर, मेरठ से लांच होने जा रहे सुभारती ग्रुप के सेटेलाइट चैनल चैनल के ऑन एयर होने से पहले ही झटका लग गया है. सीनियर प्रोड्यूसर अमित शर्मा ने इस्‍तीफा दे दिया है. उनके इस्‍तीफा देने का कारण है सुभारती मीडिया के मालिक मुक्ति भटनागर की मनमानी. अमित अभी कहां ज्‍वाइन करने वाले हैं इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है. लेकिन उनके जाने से कंपनी के सभी कर्मचारी परेशान हैं और जल्‍द ही अपना नया ठिकाना ढूंढने में लग गए हैं.

जल्‍द लांच होगा सुभारती ग्रुप का चैनल

चैनलों के क्षेत्र में जल्‍द ही एक नया चैनल अव‍तरित होने वाला है. केन्‍द्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने सुभारती मीडिया लिमिटेड, मेरठ को सेटेलाइट चैलन ‘सुभारती’ के प्रसारण लाइसेंस को मंजूरी दे दी है. यह नोएडा के बाहर से प्रसारित होने वाला पश्चिमी उत्‍तर प्रदेश का पहला राष्‍ट्रीय सेटेलाइट चैनल होगा. इस सेटेलाइट चैनल की मंजूरी मिलने के बाद सुभारती मीडिया लिमिटेड पश्चिमी उत्‍तर प्रदेश की पहली ऐसी कंपनी बन गई है, जो चैनल के चलाने के अलावा सुबह एवं शाम हिंदी के समाचार पत्रों के अलावा उर्दू तथा पंजाबी के समाचार पत्रों का प्रकाशन करती है.

हत्यारा है सुभारती वाला डा. अतुल कृष्ण : सीबीआई

आखिरकार सुभारती ग्रुप के सर्वेसर्वा और दैनिक प्रभात अखबार के मालिक डा. अतुल कृष्ण फंस ही गए. सुभारती के एकाउंटेंट निर्मल शर्मा की हत्या में सीबीआई जांच पूरी हो गई है और सीबीआई ने हत्या के लिए जिम्मेदार डा. अतुल कृष्ण समेत कइयों को माना है. कुल छह के खिलाफ गाजियाबाद की अदालत में सीबीआई ने चार्जशीट दायर की है. इन छह में डा. अतुल के अलावा तेजवीर, कुलदीप, मुकेश, कुसुम व इरफान शामिल हैं. इनके खिलाफ 302 और 120 (बी) का मामला बनाया गया है. फिलहाल डा. अतुल कोर्ट आदेश के कारण गिरफ्तारी से बचे हुए हैं. हत्याकांड की जांच के सिलसिले में सीबीआई ने अतुल से कई बार लंबी पूछताछ की थी.

बाजार के बीच जनसरोकार की जगह बनानी होगी : मुकेश

अगर आपके अंदर पत्रकारिता करने का जुनून नहीं है तो बतौर पत्रकार आप सफल नहीं हो पाएंगे. ये जरूरी है कि पत्रकारिता के पूरे अंदाज को समझें. इसके लिए दृष्टि यानी विजन जरूरी है. उक्‍त विचार वरिष्‍ठ पत्रकार मौर्या टीवी के पूर्व चैनल हेड मुकेश कुमार ने स्‍वामी विवेकानंद सुभारती विश्‍वविद्यालय के पत्रकारिता एवं जनसंचार कॉलेज में ‘पत्रकारिता के वर्तमान परिदृश्‍य एवं चुनौतियां तथा सरोकार’ विषय पर विशेष व्‍याख्‍यान में व्‍यक्‍त किए.

डा. अतुल के पास दो अरब की अघोषित संपत्ति!

: सुभारती के 21 ठिकानों पर आयकर छापे : मेरठ : करीब दो अरब की अघोषित चल और अचल संपत्ति की तलाश में आयकर विभाग की अन्वेषण शाखा ने स्वामी विवेकानंद सुभारती ट्रस्ट, उससे जुड़े पांच अन्य ट्रस्टों और 15 अन्य संस्थानों पर शुक्रवार को एक साथ छापे मारे। मेरठ के अलावा बुलंदशहर में भी छापे की कार्रवाई देर रात तक जारी रही। अन्वेषण शाखा के अपर निदेशक रतन सिंह के नेतृत्व में दिल्ली, देहरादून, कानपुर, नोएडा से आए अफसरों ने शुक्रवार की सुबह आठ बजे से कार्रवाई शुरू हुई। मेरठ में सहायक आयकर निदेशक यशवेंद्र सिंह व अन्य अधिकारियों के नेतृत्व में गठित टीमों ने सर्वप्रथम बाईपास स्थित सुभारती पुरम में छापा मारा। दो मिनट के अंदर ही अन्य 20 ठिकानों पर भी छापेमारी की गई।