सुब्रत राय सहारा, आपके मीडियाकर्मियों को भी फोर्स की जरूरत है

सुब्रत राय बड़ा दाव खेलना जानते हैं. वे छोटे मोटे दाव नही लगाते. इसी कारण उन्हें अपने छोटे-मोटे तनख्वाह पाने वाले मीडियाकर्मी याद नहीं रहते. और जिन पर इन मीडियाकर्मियों को याद रखने का दायित्व है, उन स्वतंत्र मिश्रा जैसे लोगों के पास फुर्सत नहीं है कि वे अपनी साजिशों-तिकड़मों से टाइम निकालकर आम सहाराकर्मियों का भला करने के बारे में सोच सकें. इसी कारण मारे जाते हैं बेचारे आम कर्मी.

सहारा ने अपनी ही खबर का खंडन क्यों छापा? शिवराज ने गद्दार सिंधिया को क्यों बचाया??

आज दो अखबारों में दो ध्यान देने वाली खबरें छपी हैं. राष्ट्रीय सहारा में प्रथम पेज पर जोरदार खंडन व खबर है. यह खंडन व खबर उन अफसरों को खुश करने के लिए प्रकाशित किया गया है जिससे उपेंद्र राय के राज में सीधे-सीधे पंगा लिया गया था. तब भड़ास4मीडिया ने संबंधित दो खबरें प्रकाशित की थीं, जिन्हें इन शीर्षकों पर क्लिक कर पढ़ सकते हैं- एक आईपीएस को निपटाने में जुटा राष्ट्रीय सहारा और सहारा से भिड़े राजकेश्वर की बहन हैं मीनाक्षी.

स्वतंत्र मिश्रा ने आते ही सहारा में फेरबदल शुरू किया

सहारा मीडिया से खबर है कि स्वतंत्र मिश्रा ने मीडिया डिवीजन का हेड बनते ही फेरबदल शुरू कर दिया है. सहारा नोएडा कैंपस के सर्विस डिविजन के सर्वेसर्वा विजय वर्मा, ट्रांसपोर्ट डिविजन के हेड सैफुद्दीन, सहारा टीवी के ट्रांसपोर्ट इंचार्ज वली और सहारा के नोएडा कैंपस के सिक्योरिटी इंचार्ज कुलदीप शर्मा को तत्काल प्रभाव से एचआर डिपार्टमेंट से अटैच कर दिया गया है. सहारा में एचआर से अटैच किए जाने को डिमोशन और पनिशमेंट के तौर पर लिया जाता है.

सहारा से स्वतंत्र मिश्रा और अनिल अब्राहम सस्पेंड

: उपेंद्र राय एंड कंपनी की ताकत बढ़ी : सहारा ग्रुप से दो बड़ी खबरें हैं. स्वतंत्र मिश्रा और अनिल अब्राहम को सस्पेंड कर दिया गया है. स्वतंत्र मिश्रा के बारे में पता चला है कि उन्हें 19 मई को ही सस्पेंड कर दिया गया था. उनके सहारा के किसी भी आफिस में प्रवेश करने पर पाबंदी लगा दी गई है. स्वतंत्र के पास कंपनी का जो कुछ सामान था, सभी ले लिया गया है.

स्वतंत्र मिश्रा का नोएडा से लखनऊ तबादला

सहारा मीडिया से खबर है कि स्वतंत्र मिश्रा का तबादला नोएडा से लखनऊ कर दिया गया है. उनसे समूह संपादक (वेब पोर्टल) का भी काम ले लिया गया है.