अंतत: उपेंद्र राय पर गिरी गाज, स्‍वतंत्र मिश्रा को सहारा मीडिया का प्रभार

: अपडेट : सहारा से बड़ी खबर आ रही है कि उपेंद्र राय की जगह स्‍वतंत्र मिश्रा को सहारा मीडिया का हेड बना दिया गया है. अब से वो सहारा मीडिया का पूरा कामकाज देखेंगे. उपेंद्र राय को सहारा मीडिया के ग्‍लोबल मीडिया का हेड बना दिया गया है. माना जा रहा है कि प्रबंधन अब उपेंद्र राय को साइड लाइन करने की कोशिश में जुट गया है. इसी के तहत उन्‍हें नए सृजित पद का मुखिया बनाया गया है, जहां करने के लिए कुछ भी नहीं है. गोविंद दीक्षित को पूरे नोएडा कार्यालय का प्रभार सौंपे जाने की भी चर्चा है.

सहारा ग्रुप की माया भी अजब है. कुछ दिन पहले जिस स्‍वतंत्र मिश्रा को सस्‍पेंड करते हुए कार्यालय में आने पर पाबंदी लगा दी गई थी, उन्‍हें सहारा के पूरे मीडिया का प्रभार सौंप दिया गया है. स्‍वतंत्र मिश्रा के सस्‍पेंशन के बाद माना जा रहा था कि उपेंद्र राय एंड कंपनी अब सहारा में सबसे मजबूत होगई है, परन्‍तु स्‍वतंत्र मिश्रा ने जबर्दस्‍त वापसी करते हुए उपेंद्र राय को न सिर्फ तरीके से किनारे करवाया है, बल्कि खुद को मजबूत भी कर लिया है.  अभी तक जो काम उपेंद्र राय देखते थे, वो काम अब स्‍वतंत्र मिश्र संभालेंगे.

इधर,  प्रबंधन ने उपेंद्र राय को एक झटके से बाहर न करते हुए नए कारपोरेट पॉलिसी के तहत बिना काम के बड़ा पद थमा दिया है. माना जा रहा है कि प्रबंधन अब उपेंद्र राय से मुक्ति पाने की दिशा में एक कदम आगे बढ़ा दिया है. उपेंद्र राय को जिस कथित बड़े पद पर भेजा गया है, वहां करने के लिए कुछ खास नहीं है. सहारा में सबसे मजबूत माने जा रहे उपेंद्र राय के कमजोर होने की कहानी उस समय ही चर्चा में आ गई थी, जब उनके खासमखास माने जाने वाले सहारा के नार्थ हेड अजय शर्मा को बंगलुरू भेज दिया गया था. उपेंद्र राय चाह कर भी इस आदेश को रुकवा नहीं पाए थे.

सहारा समूह का जिस तरह का इतिहास रहा है,  उसको देखते हुए किसी का भी सहारा में लम्‍बे समय तक टिक पाना मुश्किल है. उपेंद्र राय को लेकर इसके पहले यह खबर भी आई थी कि प्रबंधन ने उनका डिमोशन करते हुए सहारा श्री के एमसीसी यानी मैनेंजिंग वर्कर्स कारपोरेट कोर से सम्‍बद्ध कर दिया है. इस एमसीसी में सहाराश्री के प्रबंधन से जुड़े कोर कमेटी के लोग सदस्‍य होते हैं. एमसीसी का मुख्‍यालय लखनऊ में है.  दिल्‍ली, मुंबई और लखनऊ में इसके कैम्‍प कार्यालय भी हैं.

सूत्रों का कहना है कि सहारा प्रबंधन उपेंद्र राय को बाहर का रास्‍ता दिखाकर नाराज नहीं करना चाहता. इसलिए उन्‍हें ऐसे बड़े पद पर बिठाया गया है, जहां करने के लिए कोई काम न हो. सहारा के कई राज जानने वाले उपेंद्र राय को प्रबंधन एक झटके में हटाना प्रबंधन के लिए सुविधाजनक नहीं है. लिहाजा उन्‍हें ग्‍लोबल मीडिया का हेड बना दिया गया है. इसके पीछे माना जा रहा है कि विनीत मित्‍तल मामले को जिस तरह से हैंडिल किया गया, उससे सहारा प्रबंधन खुश नहीं था. साथ ही कई मामलों में विवादित हो जाने के बाद सहारा प्रबंधन उपेंद्र से छुटकारा पाना चाहता है.

सूत्रों का कहना है कि उपेंद्र राय का नाम 2जी स्कैम मामले में जांच प्रभावित करने के लिए प्रवर्तन निदेशालय के एक अधिकारी राजेश्वर सिंह को रिश्वत देने, नीरा राडिया से बात करने और 2जी प्रकरण में नाम आने के बाद प्रबंधन उपेंद्र राय से ज्‍यादा खुश नहीं था. लगातार उपेंद्र राय को लेकर तमाम चर्चाएं चल रही थीं. कई लोगों को रन आउट कराने वाले उपेंद्र राय से जुड़े विवादों को सहारा प्रबंधन अपनी सरदर्दी नहीं बनाना चाहता है. सूत्रों का कहना है अपने ही कई परेशानियों से जूझ रहा सहारा ग्रुप उपेंद्र के पक्ष में खड़ा होने की स्थिति में नहीं था, जिसके चलते उन्‍हें बड़े पद का लालीपाप पकड़ा दिया गया, जिसमें मिठास नहीं है.

इधर, गोविंद दीक्षित को पूरे नोएडा का प्रभार सौंपे जाने की चर्चा है. इस खबर की पूरी तरह पुष्टि नहीं हो पाई है. पर अंदरखाने इसकी तेज चर्चा है. बताया जा रहा है कि स्‍वतंत्र मिश्रा के हाथ में प्रभार आने के बाद आने वाले कुछ समय में उलटफेर देखने को मिल सकता है. उपेंद्र राय के नजदीकी लोगों को निपटाया भी जा सकता है. हालांकि सहारा मीडिया का ट्रैक रिकार्ड देखते हुए कुछ भी अनुमान लगा पाना मुश्किल है. पता नहीं कल किसका विकेट गिर जाए और कौन छक्‍का मार दे.

ये खबर सूत्रों से मिली जानकारियों के आधार पर है. खबर पक्‍की है पर इसमें कुछ तथ्‍य अपूर्ण या गलत हो सकते हैं. जिस किसी को इस बारे में अपनी बात कहनी हो या भड़ास को जानकारी देनी हो वो अपनी बात नीचे कमेंट बाक्‍स में या bhadas4media@gmail.com के जरिए कह सकता है.

Comments on “अंतत: उपेंद्र राय पर गिरी गाज, स्‍वतंत्र मिश्रा को सहारा मीडिया का प्रभार

  • sushil kumar says:

    yah to hona hi taha, waqt hai ki upendra bhai mouka dekh kar khisk lay nahi to shahra may logo ka kay hota hai yhe mittal or sumit roy ko dekh kar jan lena chahiye.

    Reply
  • Haresh Kumar says:

    सहारा के कई राज जानने वाले उपेंद्र राय को प्रबंधन एक झटके में हटाना प्रबंधन के लिए सुविधाजनक नहीं है।
    कृप्या इस लाइन को एडिट करें।
    सहारा मीडिया सदा से विवादों में घिरा रहा है। विवाद और सहारा का चोली-दामन का साथ रहा है। जिस पुण्य प्रसून बाजपेयी को सहारा से एक झटके में हटा दिया गया वहीं उपेंद्र राय न सिर्फ इतने दिनों तक जमें रहे बल्कि मनमाना साम्राज्य स्थापित कर लिया सहारा में।

    Reply
  • Vishal Pandey says:

    Upendra ji is very good person, He handled sahara tv as a father of a son. His behavior is very good. I think sahara tv should takes back to upendra as a post of news director.

    Reply
  • vivek vikram singh sultanpur says:

    wah janaab kamaal ho gaya
    ab unnao waley rajesh bajpai ki waley waley
    ab tera kya hoga rajendra dwivedi kaha chipayga too
    vivekvikram singh sultanpur

    Reply
  • । जिस पुण्य प्रसून बाजपेयी को सहारा से hi nhi balki Sanjiv Srivastav ko bhi एक झटके में हटा दिया गया वहीं उपेंद्र राय न सिर्फ इतने दिनों तक जमें रहे बल्कि मनमाना साम्राज्य स्थापित कर लिया सहारा में। karad ki Upendr Rai Ek patrkar nhi dalall hai sahahra ke prasun aur Sanjiv patrkar the…………….
    vishal pandey kahate hai ki Sahara TV ko handle kiya
    are Upendr nhi the to esase better sahahra chal rha tha

    Reply
  • अब राजेश कोशिश को तुरंत हटा दिया जाना चाहिए…क्योंकि इस व्यक्ति हैं। उपेंद्र राय के नाम पर सहारा के कई ईमानदारी लोगों को मां-बहन की गालियां दी और उन्हें नौकरी से निकाला…ऐसे आदमी को अगर अभी भी सहारा में रखा जाता हैं तो…लोग अब इस व्यक्ति को बक्सेगें नहीं….।

    Reply
  • Sahara media me do giddha baith gaye the. Inhe hatana sahara ke liye hitkar hai. Nahi to sahara ke aashiyane per khatra madra raha tha. akhir ab pata karne ki bat hai ki giddho ke rahte kise phaida hua hai.

    Reply
  • kumar kalpit says:

    SAHARA KO YAISE LOGOO KEE HE JAROORAT RAHTEE HAI..SWATANTRA MISRA KO SHSHPEND KEYA TUU AAROP TUU LAGAYA HEE HIGA..VAPAS LAYA. AB UN AAROAO KA KAYA HOGA. JAVAB HAI NIKALNE WALON KE PASH. BADI MOTI KHALL HAI. SAHARA WALOON KI.. THUNKKAR CHANTANA KOII INSE SEEKHE ..INSE BEHTAR TUU RANDII HOTI HAI VO PAYT KE LIYE HAMBISHTAR HOTI HAI.. VE KISHKE LIYE HOTE HAI.. KARMCHAREEE KO MARATE-PITATEN HAIN FHIR RAKH LETEN HAI. THOO-THOO:);):D;D>:(:(:o8):P:-*:'(

    Reply
  • upendra rai kudh apne hee rakhe bade logo ke politics ko samajhne ke liye…..ab kudh long distance jaa ke politics ko dekhenge….aur ye unka kudh ka faisala hain…….itni kum umar main upendra rai es jagah aise hee nahi pahuche hain……jo kachra wo kudh saaf nahi kar paa rahe thye ab wo saaf ho jayega…kyoki bure waqt main unke kuch apno ne hee jinko unhone upar bithaya tha….unke liye sajish kar rahe thye….ab wo tareeke se jayenge………………….

    Reply
  • pradeepkumardixit says:

    Realy im very happy to see this news that govihd dixit still in sahara delhi .i remember 20year ago time when we are work on hidi daily kanpur aj.unfortunitey i have beatn you . its a blender fauilt in my life.but tussi great ho umeed hai ke maaf kar diya hoga.tumrahay saat kai yaada hai.per eak croadh na sab kush kharab kar dia.maaf kar do yaar.lot of thak bhadas 4 .com,jo ke vastauv may patrkaro ka milan ka samgam hai.m n0 9839061536.

    Reply
  • VIVEKVIKRAM SINGH SULTANPUR says:

    yeh to hona hi taha bhaiye
    ab to unnao walay rajesh bajpai ki waley waley
    rajendra dwuvedi naukari dhoond lo tower ko bhool javo
    vivekvikram singh

    Reply
  • ashwini sharma says:

    आप आवाज़ उठाएंगे तो कुछ लोग तीर चलाएंगे ही…
    चाहे जिस दौर का मसीहा हो कुछ लोग शूली पर चढ़ाएंगे ही…

    ठीक इसी तर्ज पर उपेंद्रजी के विरोधी इनकी आलोचना कर रहे हैं…लेकिन आलोचकों को ये नहीं भूलना चाहिए …जिस उम्र में कई लोग ठीक से पत्रकारिता का कहकहा नहीं सीख पाते हैं ठीक उसी उम्र में इन्होंने सहारा जैसे बड़े मीडिया घराने की ना सिर्फ बागडोर संभाली बल्कि तेज़ी से अपनी चमक बिखरने में भी कामयाब हो रहे हैं…आरोप-प्रत्यारोप तो लगते हीं हैं…लेकिन जहां तक उपेंद्रजी की बात है …इन्होंने स्टार न्यूज में ही वो सब किया जो मुंबई पत्रकारिता के बड़े से बड़े शूरमा नहीं कर पाए…कई बड़ी स्टोरी ब्रैक कर इन्होंने मुंबई से लेकर देश में अपनी चमक बिखेर दी…जिसका परिणाम रहा कि इन्हें सहारा में काम करने का अवसर मिला…आज ये सहारा से जुड़े हैं …यकीनन कुशाग्र बुद्धि और खबर को लेकर बैचेनी के साथ मार्केटिंग की जो पकड़ इनमें है…एक साथ कम ही पत्रकारों में होती है….ऐसे में सहारा ही नहीं ये जिससे भी जुड़ेंगे वहां नाम करेंगे …दुनियावालों को जलना हो तो जले…

    अश्विनी शर्मा,मुंबई

    Reply
  • RAJESH VAJPAYEE IBN7 UNNAO says:

    no need 2 worry gentlemen’s, I m doing our job in renowned n reputed national news channel ‘ IBN7 ‘ for unnao district under the leadership of two brave, lenient n professional journalist mr salabhmani tripathi n mr manoj rajan tripathi . ok
    but this is true that mr swatantra mishra is my rolemodel.
    rajesh vajpayee ibn7 unnao 09415593777

    Reply
  • ramesh singh lucknow says:

    rajesh bajpai tum bhool kar bhi wapsi mat karna jaha ho theek ho sahara ko sirf chaploos chahiye patrakar nahi.ibn ek news channel hai aur sahara sdamay athawa rastriy sahara rajnitigo ka meena bazar.jaha kahnay ko adarshvadita ka paath padhaya jata hai aur haqeqat may chaploosi va gulami patrakasro say karai jati hai. ramesh singh lucknow

    Reply
  • Abhi sahara media ko Govin Dixit ji ki jarurat hai. ye imandar aur Sahara India Pariwar ke sath khud Saharasri ji ke sabse vishwashi hai. Inke samay men sansthan bulandiyo tak pahuncha. sansthan per koi ungali nahi uthi, jo hal ke dino me dekhane ko mila. kuchha beyiman log hai jo Govind ji se darte hain ki unke aane ke bad beyiman aur chor logon ki dal nahi galegi. Rashtriya sahara ki behtari ke liye Dr. Namwar Singh jaise nami girami logon ko jora. Sahi hai ek imandar hi imandar ki pahchan kar sakta hai. Govind ji vakta ki jarurat hain. Pichale dino Patna, Gorakhpur, Varanasi me aise logon ki bharti ki gayi jinhe kalam chalana nahi aata. Santosh kumar Singh (deputy news editor,patna) ka udahran dekh lijiye. sabse ayogya. Rashtriya sahara patna ka koi bhi reporter is bat ko bata sakta hai. khair aise logon ki nakamiyon ne Upendra Rai ko media se bahar ka rasta dikhane me madad ki hai. vishwas hai Swatantra Misra ji sab kuchha durusta kar denge.

    Reply
  • anurag bajpai unnao says:

    swatantra misra kabil managment guru hai wo sahara ko uchaiyo par le jaenge………..anurag jansandesh times unnao.

    Reply
  • ye to hona hi tha….
    sahara se bade adikari bade hi beabroo ho kare hi nikale jate hai…
    halaki u.rai ache patrkar hai par jab se wah sahara mai aaiye sirf dalalo aur catukaro ki hi bharti kar diya tha….
    sahaara ke mediya mai aab wah tewr bhi nahi raha….
    ye sirf rajneeti ka akahada hoo gaya hai…
    upendra rai ne gorakhpur ke ek aaise dalal ka sahara mai stafar bana diya jise patrkarita ke moolbhoot sidhtant bhi nahi aate hai.. uska naam Naveen lal suri hai… aappni ochi aadatoo ke hi karan usse gkp preess club se nikal diya gaya hai… wah paaka sarabi aur juaari hai…. frji tarike se usene ek bank se lon
    aabb agar yese he log unhe pand hai to sahara ka beda gark hua samjiye

    Reply
  • girishedi ka kay hoga. says:

    ab swatanra mishra ke nishane par honge ajeet bajpai. sahara me crime reporter aane vale ajeet bajpai ne swatantra mishra ko hi katne koshish ki ab jab swatantra vapas aa gaye hai to ajeet bajpai ka kya hoga. ajeet maliko ke khas hai unka kuch hone vala nahi lekin rajendra dwiv

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *