अरविंद कुमार सिंह की मां का मुंबई में निधन

वरिष्ठ पत्रकार अरविंद कुमार सिंह की मां प्रेम कुमारी सिंह का आज सबेरे मुंबई के एक निजी हास्पिटल में निधन हो गया. उनकी उम्र 76 साल थी.

बस्ती जिले के निवासी अरविंद पिछले 10-12 दिनों से मुंबई में मां की इलाज में लगे हुए थे. मुंबई में अरविंद कुमार सिंह के छोटे भाई धर्मेंद्र कुमार सिंह रहते हैं जो बतौर इंजीनियर कार्यरत हैं. सर्दियों में ठंड से और सांस की तकलीफ से बचाने के लिए मां को बस्ती से मुंबई ले जाया गया था. कुछ रोज पहले हार्ट अटैक के कारण तबीयत बिगड़ी तो उन्हें मुंबई के ज्यूपिटर हास्पिटल में भर्ती कराया गया. पर मां प्रेम कुमारी जी अस्पताल से सकुशल घर न लौट सकीं.

अरविंद कुमार सिंह के पिता ठाकुर शरण सिंह का पहले ही (वर्ष 1996 में) निधन हो चुका है. उनकी मौत कैंसर से हुई. वे शिक्षा अधिकारी के पद पर कार्यरत रहे.  अरविंद की छोटी बहन सड़क हादसे में 26 साल की उम्र में चल बसी थीं. परिवार में अब अरविंद और उनके छोटे भाई धर्मेंद्र हैं. बताया जा रहा है कि मां का अंतिम संस्कार मुंबई में ही आज शाम तक किया जाएगा. उसके बाद उनके अस्थिकलश को सरयू और गंगा नदी में विसर्जित किया जाएगा. अमर उजाला समेत कई अखबारों में वरिष्ठ पदों पर कार्यरत रहे अरविंद कुमार सिंह इन दिनों रेल मंत्रालय की मैग्जीन ‘भारतीय रेल’ में सलाहकार के रूप में अपनी सेवाएं दे रहे हैं.

अपने मोबाइल पर भड़ास की खबरें पाएं. इसके लिए Telegram एप्प इंस्टाल कर यहां क्लिक करें : https://t.me/BhadasMedia

Comments on “अरविंद कुमार सिंह की मां का मुंबई में निधन

  • This is irreparable loss Arvindji. I wish God give you strength and courage to tolerate this. MAta ji ko meri shrahanjali.
    JP Gupta

    Reply
  • dhirendra pratap singh says:

    eswar mata ji ki aatma ko shanti pradan kare aur pariwar ko yah dukh sahne ki himmat de.. mata ji ko asrupurn srdhhanjali—dhirendra pratap singh hindusthan samachar dehradun uttrakhand

    Reply
  • raj kaushik says:

    arvind ji, ishwar apki mata ji ki aatma ko shanti aur apko ye dukh sahne ki himmat den, aisi prarthna hai.
    -Raj Kaushik
    R.E. DLA
    ghaziabad
    9811449246

    Reply
  • chaitanyabhatt says:

    भाई अरविंद जी
    अभी अभी भडास से जानकारी मिली कि आपकी पूजनीय माताजी का मुम्‍बई में दुखद निधन हो गया दो तीन दिन पहले ही आपसे चर्चा हुई थी उस वक्‍त यह जानकारी नही थी निश्चित तौर पर मां का अकेले छोड जाना बेहद ही पीडादायकहोता है क्‍योंकि मां का स्‍थान किसी भी व्‍‍यक्ति के जीवन में सबसे उँचा होता है आप और आपके परिवार पर आई इस दुखद घडी में हम आपको संवेदना ही दे सकतें है और आपके दुख को महसूस भी कर सकते हैं ईश्‍वर आपकी माताजी की आत्‍मा को वह अपने चरणों मे स्‍थान दे और आपको तथा आपके परिवार को इस पीडा को सहने की शक्ति प्रदान करे
    आपका
    चैतन्‍य भट्रट

    Reply
  • pramod sharma says:

    अभी अभी भडास से जानकारी मिली कि आपकी पूजनीय माताजी का मुम्‍बई में दुखद निधन हो गया दो तीन दिन पहले ही आपसे चर्चा हुई थी उस वक्‍त यह जानकारी नही थी निश्चित तौर पर मां का अकेले छोड जाना बेहद ही पीडादायकहोता है क्‍योंकि मां का स्‍थान किसी भी व्‍‍यक्ति के जीवन में सबसे उँचा होता है आप और आपके परिवार पर आई इस दुखद घडी में हम आपको संवेदना ही दे सकतें है और आपके दुख को महसूस भी कर सकते हैं ईश्‍वर आपकी माताजी की आत्‍मा को वह अपने चरणों मे स्‍थान दे और आपको तथा आपके परिवार को इस पीडा को सहने की शक्ति प्रदान करे
    pramod sharma
    CNEB

    Reply
  • bhagvan dukh ki es ghadi me apko shakti de.aur mata ji ki aatma ko shanti mile yahi meri prathana hai. dukh ki es gadi me mai kisi kam aa saku mere liye kushi ki bat hogi.
    AApka
    S.K.Singh ,Gorakhpur

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *