जागरण, आगरा में पानी के लिए कर्मचारियों से वसूली

देश का नम्‍बर एक अखबार दैनिक जागरण बहुत सारे अभियान चलाता है. अखबार के सरोकारों में जल संरक्षण अभियान भी शामिल है. हर साल इसको लेकर अभियान भी चलाया जाता है और लोकल लेवल पर भी ऐसी खबरों को प्रमुखता से प्रकाशित किया जाता है. दैनिक जागरण की आगरा यूनिट ने तो इसे इतनी गंभीरता से ले लिया है कि अपने कर्मचारियों को पानी भी नहीं पिलाता.

तीन चार महीनों से यहां के कर्मचारी जब ऑफिस जाते हैं तो अपने लिए पानी का इंतजाम करके जाते हैं. भीषण गर्मी में भी जागरण कर्मी प्‍यास से मरते रहे लेकिन जागरण ने पानी का कोई इंतजाम नहीं किया. कुछ लोगों ने सवाल उठाया कि भीषण गर्मी में शासन-प्रशासन और सु‍धिजन लोगों को पानी पिलाने के लिए प्‍याउ लगवाते हैं लेकिन उसकी खबर छापने वाले देश के सबसे बड़े अखबार में उसके कर्मचारियों को पानी पीने के लिए अपना इंतजाम खुद करना पड़ता है. पर कोई असर नहीं हुआ. लोग अक्‍सर मजाक भी करते हैं कि जागरण आपके काम का पैसा देता है, पानी आप खुद पीजिए. इन मजाकों के बाद रिजल्‍ट यह निकला कि बाहर से पानी की बीस लीटर वाली बोतल मंगाई जाने लगी, लेकिन जागरण कर्मियों को धक्‍का तब लगा जब कुछ दिन बाद उनसे पानी के नाम पर पैसे की वसूली हुई.

एक तो जागरण, आगरा यूनिट में दो संपादकों की लड़ाई ने वैसे ही जागरण कर्मियों को परेशान कर रखा है, उस पर इस घटना पर सवाल उठाने की हिम्‍मत किसी की नहीं होती. क्‍या पता नौकरी पर तलवार लटक जाए. पानी के नाम पर वसूली अब भी जारी है. जागरणकर्मियों की कामना है कि भगवान संपादकों को सद्बबुद्धि दें ये सोचने की कि किसी को पानी कोई ऐसे ही पिला देता है, जागरण कम से कम अपने कर्मियों के लिए तो पानी की व्‍यवस्‍था कर दे. अब देखिए भगवान इन प्‍यासे कर्मचारियों की आवाज कब सुनता है.

अपने मोबाइल पर भड़ास की खबरें पाएं. इसके लिए Telegram एप्प इंस्टाल कर यहां क्लिक करें : https://t.me/BhadasMedia

Comments on “जागरण, आगरा में पानी के लिए कर्मचारियों से वसूली

  • sharm aanee chahiye pooran baboo ke natee – poton ko ki ve apne aadmiyon ko pyasa mar rahe hain. L A A NAT HAI..

    Reply
  • agra office me pani ab kuan p rha h, vhan to beer or sharab pine valo ka bolbala h. saroj bhai or anand babu ki jai…..jise pina h beer pye ya fir sharab vo b neet. chahe to soda le lo. khaberdar jo pani manga. saroj or anand pani nhi mangte h.

    Reply
  • kaun sala vha pani mang rha h, vha to soda chelta h. vese beer k sath b pani ki jarurt nhi padti, jai ho saroj babu or anand bhaiya ki. sub ko dubo do sharab or shabab me

    Reply
  • media me ho rahi halchalo ko janane ke bhadas khola ye khabar padkar bahut aashcharya hua ki Dainik Jagran jaise akhabaar mien aisa bhi hota hoga. kaun hai vaha ka sampadak? Jagran mein kaam karne wale logo ko eski jagran management se karni chahiye. Management aise Dust aur Nirdayi logo ko charge kyo deta hai. aaj tak ki patrkarita maine aisa kabhi nahi dekha kisi sansthan mein pani ke liye tarsana pade.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.