जो मुझे सही लगेगा, वो कहता करता रहूंगा : अमिताभ ठाकुर

अमिताभ ठाकुरक्रिमिनल गवरनेंस वाले समकालीन समय में यूपी में एक अफसर जनता-जनार्दन और पढ़े-लिखों के बीच बदलाव के उम्मीद की लौ जगाए-जलाए है. वे हैं अमिताभ ठाकुर. अपने लिखे, कहे और जनपक्षधरता के कारण समाज के सभी सेक्शन में तेजी से लोकप्रिय हो रहे हैं अमिताभ ठाकुर. और इसी कारण वे करप्ट सत्ताधारी नेताओं-अफसरों की आंखों की किरकिरी भी बने हुए हैं.

इस आईपीएस अफसर ने उन सब बातों को बहुत साफगोई से इसी भड़ास4मीडिया पर लिखा, कहा  जिसे आमतौर पर अफसर लोग बड़ी चालाकी से छुपा या दबा जाते हैं. अपने सस्पेंसन से लेकर अपने मन के अंदर चलने वाले द्वंद्व तक की बातों को समय-समय पर वे लिखते-बताते रहे, और इस प्रक्रिया में वे खुद को ज्यादा सहज और सरल बनाते रहे. सच बोलने वाले और सच को जीने वाले हर दौर में तात्कालिक तौर पर दुख उठाते हैं, प्रताड़ित किए जाते हैं, और यह सब अमिताभ के साथ भी हो रहा है. बानगी के तौर पर डेली न्यूज एक्टिविस्ट, लखनऊ में प्रकाशित एक खबर को पढ़िए जिसमें अमिताभ को लेकर चल रहे एक मामले का विस्तार से जिक्र किया गया है, क्लिक करें- …हद कर दी, सरकार!

अमिताभ कुछ वर्षों से आईआईएम, लखनऊ में पढ़ाई कर रहे थे. कुछ दिनों पहले ही उनकी पढ़ाई पूरी हुई. वे फिर से पुलिस की नौकरी ज्वाइन कर चुके हैं. आईआईएम, लखनऊ में पढ़ाई के दौरान पढ़ाकू अमिताभ ने एक किताब भी लिख डाला जो आईआईएम में पढ़े उन लड़कों पर केंद्रित है जिन्होंने किसी की चाकरी करने की जगह खुद के विजन से नया कुछ कर डाला, रच डाला और इस तरह अपने समकालीनों को इन अनोखे युवाओं ने प्रेरित-उत्प्रेरित किया. इसी किताब के लोकार्पण समारोह में शिरकत करने के लिए अमिताभ नोएडा आए थे. अमिताभ ठाकुर से भड़ास4मीडिया के एडिटर यशवंत की मुलाकात हुई तो दोनों ने कई मुद्दों पर बातचीत की, जिसे कैमरे में कैद कर लिया गया. अमिताभ ठाकुर ने एक सवाल के जवाब में कहा कि वे सच बोलना और जो सही लगता है, उसे करना नहीं छोड़ेंगे, चाहे जो परिणाम आए. अमिताभ ठाकुर ये पूरी बातचीत वीडियो फार्मेट में है, जिसे नीचे दिए गए तस्वीर पर क्लिक करके देख-सुन सकते हैं…

Comments on “जो मुझे सही लगेगा, वो कहता करता रहूंगा : अमिताभ ठाकुर

  • shravan shukla says:

    sach bolne wala shuru me bahut keemat chukata hai…jo ki amitabhi ji chukarahe hai..lekin jeet sachchai ki hoti hai..nice thought…plz keep it up..

    Reply
  • Pankaj Dixit says:

    प्रिय अमिताभ ठाकुर,
    आज देश को आपके जैसे हौसला पसंद अफसरों की जरुरत है| मैं ये दावा नहीं करता कि आप जैसी सच्चाई के राह पर आपके अलावा अन्य अफसर चलना नहीं चाहते| बहुत से ऐसे अफसर है जो दिन रात कुढ़ रहे है, अपने आपको कोस रहे है मगर फिर भी चुप चाप है| खुद इमानदार हैं मगर उनकी ईमानदारी किसी जनता के काम नहीं आ रही है क्यूंकि उनके अन्दर आपके जैसा हौसला नहीं है|

    आप हौसले के दम पर वो सब कुछ कर रहे है| बस यही एक बात है अपमे खास जो मैं आपको सैलूट करता हूँ| ईमानदारी से जीवन जीने का हौसला| यही बात आपको ख़ास बना रही है| लोगो को इसका अनुसरण करना चाहिए वर्ना कीड़े मकोड़ों की तरह मर जायेंगे इस धरती पर और कोई उन्हें जान भी नहीं पायेगा|

    पंकज दीक्षित
    सम्पादक जेएनआईलाइव डाट कॉम
    फर्रुखाबाद
    उत्तर प्रदेश

    Reply
  • मदन कुमार तिवारी says:

    बहुत अच्छा और बेबाक इन्टरव्यूव । अमिताभ जी दिल की बात कहते है बिना कोई लाग लपेट के। इनकी सादगी और साफ़गोई का कायल हो गया हूं । अधिकारियों से कभी लगाव नही रहा । कारण उनका अहमं। अमिताभ जी एक बहुत अच्छा इंसान बनने की प्रक्रिया से गुजर रहे हैं । इस तरह के लोगों की जरुरत है । सिस्टम में सुधार के लिये अमिताभ जी जैसे ५०-१०० अधिकारी काफ़ी हैं। सिस्टम का हिस्सा बनकर हीं सुधार किया जा सकता है । अमिताभ जी अपने कार्य में सफ़ल हों यही शुभकामना है और हां पति -पत्नी के बीच गहरा प्यार सबसे बडा गहना है बाकी सोना चांदी तो दुसरों को दिखाने के लिये होता है ।

    Reply
  • ayachak........ says:

    hampe illzam ye hai ki…chor ko kyo chor kaha…..
    kahe sahee bat kahi kahen na kuchh aur kaha……

    amitabh ji apko pata bhi nahi hoga ki apake sath kitane log hai….keep it up
    kyonki bahut logo sach bol nahi pate…..

    Reply
  • Ajay KumarTiwari says:

    Aaj hama desh bure daur se gujar raha hai jaha log pariwartan ki disha mai aas lagaye baithe hai , lekin vey aapne ko bebus pate hai , keyoki satta ki bagdor bhrast , chaploos aur charitraheen logo ki thathee bankar rah gayee hai , aise bure daur mai aap jase logo ki jaroorat hai jo system mai badlav la sakte hai. Mujhe yeh kahte huye garve ho raha ki aap ke bhubh chintak ki well wishes aapke har mission ko safalta ke shekhar tak lejayegi. Shubk kamnayo sahit , Jai Hind_Jai Bharat

    Reply
  • Abhimanyu Singh says:

    Amitabh ji ko mere taraf se dairsari subkaamnaye Sach kahane ki takat rakhane ke liye kyonki aaj ke daur me Sach kahana aur Sunnna do bahut kaam kar pate hai . aap ke baare me jaan kar laag ki is samay bhi duniya me aise log hai jo sach kahane ki takat rakhate hai ……..
    Mai ek navodi patrakar hoon jo bhopal me ek chooti se hindi magzine me kaam karta hoon…

    Reply
  • amitab ji hamare firozabad main s.pthe aur yahi se vo sabse jyada charchit hue main keval itna kah sakta hno ki amitabh thakur ji aap shayed muge n bhule hno par janta aap ko kitna pyar karti iska udaharan yahi bahut hai ki s.p apni jile ki charon seet haar gayi aue mudda ek hi tha amitab thakur ki bapsi amitabh ji aap ladte rahiye n keval firozabad barn poora u.p aapke saath hai

    Reply
  • amitab ji hamare firozabad main s.pthe aur yahi se vo sabse jyada charchit hue main keval itna kah sakta hno ki amitabh thakur ji aap shayed muge n bhule hno par janta aap ko kitna pyar karti iska udaharan yahi bahut hai ki s.p apni jile ki charon seet haar gayi aue mudda ek hi tha amitab thakur ki bapsi amitabh ji aap ladte rahiye n keval firozabad barn poora u.p aapke saath hai

    Reply
  • sushil shukla shahjahanpur up says:

    thakur ji aap bilkul sahi raaste per chal rahe hain kyunki aap sachai k raste per chal rahe hain.aur ye hi ek matrr aisa rasta hai jo jeet ki taraf jata hai.arthat aap ki jeet nischit hai .bus aap se ek request hai ki jis raste yani sachai per chal rahe hain aap kuch aisa karen ki lakhon log aap k peeche atomatic chal paden bus…………………….jis din aisa ho jayega samjho ki aap ne us din pure world ko jeet liya hai.kyunki sachai k raste per logon ko chalana bahut hi kathin kaam hai per namumkin nahi hai .aur baut kam hi aise aap jaise log hote hain jo sachai k raste ko chunte hain.mai aap ka verry-verry thanks karta hoon …………………..aap ka——-sushil shukla,shahjahanpur up news-24

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *