बनारस में अखबारों के बीच प्राइस वार तेज

: अमर उजाला ने 75 रुपये में महीने भर अखबार देने की घोषणा की : दाम व कमीशन घटाकर कांपैक्ट से पिछड़ा आई-नेक्स्ट : वाराणसी में अखबारों के बीच प्राइस वार तेज हो गई है. शनिवार के दिन अमर उजाला ने वाराणसी में पूरे एक पेज का विज्ञापन छापकर ग्राहकों को यह सूचना दी है कि अब यह अखबार पूरे माह एक सौ पांच रुपये के बजाए महज 75 रुपये में मिलेगा. इस तरह अमर उजाला खरीदने पर ग्राहकों को 30 रुपये का माहवारी फायदा होगा.

इस अखबार के नगर संस्करण के पेज नंबर पांच पर लिखा है-‘एक मीठा सच हमारी ओर से’, ‘अमर उजाला 75 रुपये का आफर’, ‘अमर उजाला अब केवल मासिक रु. 75 में’. दरअसल वाराणसी में सहारा के धमकने के बाद से ही सभी अखबारों को एक तरह से समय-असमय स्कीम घोषित करने को मजबूर होना पड़ रहा है. सूत्रों के मुताबिक राष्ट्रीय सहारा ने अमर उजाला की पांच हजार, जागरण की तीन और हिंदुस्तान की चार हजार कापियों पर हाथ साफ कर दिया है. जागरण को स्कीम लाकर एक्टिवा, फ्रिज आदि देने की घोषणा करनी पड़ी है. यही नहीं, उसे अपने दाम साढ़े तीन रुपये फी कापी पर एक तरह से पूरे हफ्ते मिलाकर वितरकों को एक रुपया बीस पैसा कमीशन भी देना पड़ रहा है. अमर उजाला को कुछ दिनों से दस कापी लेने पर दो कापियां फ्री देनी पड़ रही हैं.

हिंदुस्तान पहले से ही दस पर एक काफी फ्री दे रहा है. आई नेक्स्ट का दाम घटाकर डेढ़ रुपये से एक रुपया और कमीशन 75 पैसे से घटाकर पचास पैसे कर दिया गया है. इस तरह आई नेक्स्ट की उठान वितरकों ने कम कर दी है. आई नेक्स्ट की अब काम्पैक्ट 15 हजार के मुकाबले महज 12 हजार कापियां शहर में रह गयी हैं. अमर उजाला को प्रति कापी एक रुपया पांच पैसा कमीशन तो देना ही पड़ रहा है, ढाई रुपया हो जाने पर वितरक कमीशन बढ़ाकर 41 प्रतिशत देना पड़ रहा है. देखिए सहारा अपने अति कमजोर संपादकीय कंटेंट के बावजूद सिर्फ प्रसार विभाग के जोर पर आगे आगे क्या नया गुल खिलाता है?  (इनपुट पूर्वांचलदीप डॉट कॉम से)

अपने मोबाइल पर भड़ास की खबरें पाएं. इसके लिए Telegram एप्प इंस्टाल कर यहां क्लिक करें : https://t.me/BhadasMedia

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *