लड़कीबाज टीवी पत्रकार स्टिंग का शिकार – (एक)

: वीडियो भड़ास4मीडिया के पास :  पत्रकार पर कबूतरबाजी, ब्लू फिल्म बना विदेश बेचने व अफसरों-लड़कियों को ब्लैकमेल करने के आरोप :  भड़ास4मीडिया के पास एक मेल के जरिए कुछ वीडियो भेजे गए हैं. इसमें एक टीवी जर्नलिस्ट का स्टिंग है. वह एक लड़की के साथ आपत्तिजनक अवस्था में है. मेल भेजने वाले का दावा है कि वो वही लड़की है जो वीडियो में टीवी जर्नलिस्ट के साथ सोते, बतियाते दिख रही है. आरोपी जर्नलिस्ट को हरियाणा के एक जिले का बताया है. मेल भेजने वाली कथित लड़की का लिखा पत्र इस प्रकार है-

”आदरणीय यशवंत जी, मैं अक्सर भड़ास4मीडिया पढ़ती हूं. मैं हरियाणा के …. जिले में …. चैनल में कार्यरत रिपोर्टर के हाथों वक्त की मारी हूं. इस रिपोर्टर के हाथों कई लड़कियां अपनी आबरू खो बैठी हैं और ब्लैकमेल हो रही हैं. इस रिपोर्टर के काले कारनामे प्रमाण के साथ …. चैनल के मालिक …. को व्यक्तिगत तौर पैर दिए जा चुके हैं. ये ड्राईवर से पत्रकार बना …. नाम का आदमी शहर में धड़ल्ले से लड़कियों को ब्लैकमेल करने के साथ दुकानदारों व अधिकारियों तक को ब्लैकमेल कर मन्थली ले रहा है. इसके प्रमाण भी सार्वजनिक हैं. मुझे पता है जब न्याय नहीं मिलता तो पत्रकारिता के नाम को काला करने वालों को आप ही उजागर करते हो. अब आपसे ही न्याय की उम्मीद है. इस आदमी ने पत्रकार बनाने के नाम पर मेरी आबरू लूटी थी. पत्रकार तो नहीं बनी पर इसकी वास्तविकता तो दुनिया को बताउंगी. इस मेल के साथ प्रमाण के लिए कुछ वीडियो भेजे जा रहे हैं. कृपया न्याय दिलाएं. कृपया अगर मुझ वक्त की मारी का नाम उजगर न करें तो बेहतर होगा. नोट करें, लड़कियों को ब्लैकमेल करने का छोटा सा प्रमाण सेंडस्पेस से भेजा जा रहा है, वीडियो के रूप में. नीचे वो पत्र है, जिसे मैंने …. चैनल के मालिको को दिया था.”


चैनल के मालिक को भेजा गया शिकायती पत्र

सेवा में

आदरणीय श्री …. जी

उम्मीद है कि आपको व्यक्तिगत तौर पर दिए गए प्रमाणों के बाद ….चैनल के ….जिले के ठगराज व ब्लैकमेलर रिपोर्टर ….के लिए और प्रमाणों की जरूरत नहीं पड़ेगी. पर यह बाज नहीं आ रहा है. दो दिन पहले भी दारू पीकर मेरे घर आया और हंगामा किया. हवस क़ी मांग करते हुए बदनाम करने क़ी धमकी दी. आदरणीय …. जी मैं, आपकी जानकारी में अब सभी प्रमाणों के साथ इस आदमी को देश क़ी सारी मीडिया में नंगा करुंगी. जो आदमी अपने ही घर में अपने बेड पर लड़कियों को नंगा कर हवस का खेल खेलता है, फिर ब्लैकमेल करता है, उसे छोड़ना नहीं चाहिए. उसे भडास4मीडिया पर प्रमाणों के साथ नंगा कर देना चाहिए. उम्मीद है कि इससे आप भी सहमत होंगे.  कुरुक्षेत्र के एसपी और डीसी को भी इसके प्रमाण देने जा रही हूं ताकि और लड़कियों क़ी आबरू न लूटे और बदनामी न हो. इसके द्वारा कबूतरबाजी के जरिए लाखों की ठगी व इनेलो नेता सहित शहर के दर्जनों लोगों के साथ ब्लैकमेलिंग और ठगी के मामले प्रशासनिक अधिकरियों सहित हर जगह सार्वजनिक हो चुके हैं. अब तक आपके कारण बचा है.

मैं माता वैष्णो देवी की दासी हूं पर पिछले कई दिनों से रिपोर्टरों के नाम पर कलंक एक आदमी के हाथों चढ़ गई जिसने असिस्टेंट रिपोर्टर बनाने के नाम पर मेरी आबरू के साथ जानवरों से भी बुरा हाल किया. कई दिनों से आग दिल में थी पर ड़र के मारे चुप थी. अब रिपोर्टर तो नहीं बनी पर यह आदमी मुझे कबूतरबाजी के नाम पर अफसरों के लिए यूज करना चाहता है. आपको बताना इसलिए भी जरूरी है क्योंकि आप के चैनल से जुड़ा यह आदमी मेरे इलावा कई लड़कियों क़ी नंगी तस्वीरें तथा ब्लू मूवी बना कर ब्लैकमेल कर रहा है. इसका प्रमाण आपके पास भेजा जा रहा है. आपके ऑफिस में दो बार आई पर मिलने नहीं दिया गया. इसके आदमी आपके ऑफिस में भी हैं.

आपके पास इस माध्यम से पहुँचने का मेल एड्रेस व ऍफ़टीपी एड्रेस लेने के लिए भी पिछले हफ्ते मुझे दो बार इस बूढ़े के नीचे आना पड़ा. आप को बता दूँ क यह बूढा ब्लू फिल्म बनाकर अमेरिका व इंग्लैण्ड भी भेजता है. एक लड़की को ब्लैकमेल करने क़े लिए इस आदमी द्वारा बनाई ब्लू फिल्म आपके पास भेजी जा रही है. अब माता रानी के नाम पर वक्त क़ी मारी लड़कियों को आप ही बूढ़े ….. से बचा सकते हैं. नहीं तो लोग इस आदमी के नाम पर आत्महत्या को मजबूर होंगे. 15 लोग पहले ऐसा कर भी चुके हैं.

इसका प्रमाण …… जिले के थाना में मुकदमा नम्बर  47 डेट 27 जनवरी 2009 धारा 309 में है. थाने में आपके रिपोर्टर के कारनामे दर्ज हैं.  इस लेटर के साथ प्रमाण अटैच हैं. यह आदमी रिश्वत से कमाए पैसे से 2 लाख क़ी रिश्वत देकर बचने का प्रयास कर चुका है. इसके मकान नम्बर …… में इसके परिवार का कोई आदमी नहीं रहता है. ये बूढा अकेला ही रहता है और लड़कियों को बुला कर गलत कामों में लगा है. यह आदमी अपनी कार ……. इंडिका और …… इंडिगो में लड़कियों क़ी सप्लाई देता है और मोबाइल नम्बर ……. व …….. से ब्लैकमेल करता है. अब ….. जी आप ही माता वैष्णो देवी का ध्यान कर लोगों को आत्महत्या करने से बचा सकते हैं.

आपसे न्याय क़ी उम्मीद लगाये बैठी

एक बेटी समान

कमजोर वक्त क़ी मारी लड़की

प्रति

प्रेषित पुलिस महानिरीक्षक हरियाणा

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग


भड़ास4मीडिया की तरफ से लड़की को भेजा गया जवाब

आपका मेल मिला. वीडियो देखे. आपका पत्र पढ़ा.

आपके पहचान का खुलासा नहीं किया जाएगा.

लेकिन मैं निजी तौर पर गारंटी करना चाहता हूं कि आप महिला ही हैं और इनसे पीड़ित हैं.

आप अपना मोबाइल नंबर तस्वीर पता आदि भेजें, प्रकाशन के लिए नहीं, सिर्फ इस बात की तसल्ली के लिए कि आपकी आड़ में कोई दूसरा तो चरित्र हनन का खेल नहीं खेल रहा है.

भड़ास4मीडिया


लड़की की तरफ से भड़ास4मीडिया के पास आया जवाब

आदरणीय सर

आपका मेल मिला, सहयोग के लिए धन्यवाद. …..की हरकतों के कारण घर के लोगों ने मोबाइल लेकर तोड़ा है. अभी घर की इच्छा के बिना किसी हालत में फोन नंबर नहीं दे सकती. बाकी जैसे आप को उचित लगे. क्या मैं लड़की हूं, इस बात को चैनल से पूछ सकते हो. पत्रकारों से पता करवा सकते हैं. फोटो भी भेज रही हूं. सबसे बड़ा प्रमाण चार वीडियो फाइल हैं जो सेंडस्पेस से भेजी गई हैं. …..की हरकतें और आवाज देख सकते हैं. ….जिले में आप का बंदा हो तो पता करवा सकते हैं. कोई लड़की ऐसे बदनाम नहीं होती. फिर भी मेरा पूरा नाम व पता इस तरह है. …. पुत्री श्री ….. मकान नंबर …. वार्ड …, …. नगर, … रोड, …. ! मेरे घर की इज्जत का ख्याल रखें !

आशा के साथ

…..


भड़ास4मीडिया की तरफ से लड़की को फिर भेजा गया मेल

….. जी

आपका जवाब मिला. मुझे आपकी पहचान पर संदेह है. मुझे ऐसा लग रहा है कि कोई दूसरा रिपोर्टर आपके नाम के बिहाफ यह सब कर रहा है. आपकी तस्वीर व नाम से यह साबित नहीं हो पाता कि यह सब आपने लिखकर भेजा है. सवाल कई हैं. जैसे-

  1. स्टिंग किसने किया और कैसे हुआ.

  2. क्या कोई तीसरा शख्स था, जो वीडियो बना रहा था. या फिर हिडेन कैमरा पहले से लगा था.

  3. क्या वीडियो बनाए जाने में आपकी सहमति थी.

  4. पूरे वीडियो में आपकी मर्जी दिख रही है. पुरुष जो कुछ कर रहा है, उसमें आपकी सहमति और भागीदारी है. आपने तब विरोध क्यों नहीं किया.

  5. क्या आपको पता नहीं था कि आप जो कर रही हैं, वह गलत कर रही हैं.
  6. कैसे माना जाए कि वह रिपोर्टर आपको एक्सप्लायट कर रहा है.

  7. क्या आपने किसी थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है? तहरीर दी है?

  8. अगर वो आदमी आपके साथ कुछ जबरन कर रहा होता तो दरवाजे की घंटी बजने पर आप क्यूं ऐसे हो गईं जैसे कुछ हुआ ही न हो.

  9. मतलब यह हुआ कि आप दो लोगों ने अपनी सहमति से संबंध बनाए, रिश्ते रखे. फिर इसे कैसे गलत साबित किया जा सकता है.

  10. जो मेल आपने भेजे हैं, उससे कहीं यह नहीं जाहिर हो रहा है कि मेल भेजने वाली पीड़ित महिला ही है.

  11. ऐसा प्रतीत हो रहा है कि जो तीसरा शख्स है, जिसने यह सब रिकार्ड किया है, वे आपके बिहाफ पर मेल भेज रहे हैं.

  12. अगर ये वीडियो आरोपी पत्रकार ने बनाए हैं तो ये वीडियो आपके हाथ कैसे लगे.

  13. कहीं ऐसा तो नहीं कि कोई पत्रकार, जो आरोपी पत्रकार से खार खाए है, इस वीडियो को किसी तरह हालिस करने के बाद पीड़ित लड़की के नाम का आड़ लेकर आरोपी पत्रकार की शिकायत कर रहा हो.
  14. घरवालों द्वारा फोन तोड़ने की आपकी बात गलत लग रही है. जब आप ये मेल वगैरह भेज सकती हैं तो फोन क्यों नहीं कर सकतीं. आप इंटरनेट यूज कर सकती है, हिंदी में इतना कुछ टाइप कर सकती हैं, सेंडस्पेस पर वीडियो के कई टुकड़े अपलोड कर भेज सकती हैं तो मोबाइल फोन कैसे नहीं इस्तेमाल कर रहीं होंगी.

मेरी कोशिश केवल यह है कि खबर प्रकाशन से पहले बार-बार सत्यापित कर लूं. मैं फिर अनुरोध करूंगा कि आप मुझे खुद एक बार फोन करें या फिर अपना मोबाइल नंबर दें ताकि आपसे बात कर आपकी पहचान को लेकर मन में आए कनफ्यूजन को दूर कर सकूं.

यशवंत


तो ये थी मेलों की आवाजाही. मेरे इस मेल के बाद से अभी तक उस लड़की का कोई जवाब नहीं आया है. पूरे प्रकरण को लेकर जब भड़ास4मीडिया की टीम ने टीवी जर्नलिस्ट के जिले के कुछ लोगों से संपर्क कर सच्चाई जानने की कोशिश की तो पता चला कि जिसके बारे में कथित लड़की ने आरोप लगाए हैं, वह बदनाम किस्म का टीवी जर्नलिस्ट है. लड़कीबाजी और कबूतरबाजी में उसकी लिप्तता को लेकर किसी को कोई संदेह नहीं है. उसके द्वारा ब्लैकमेलिंग किए जाने को लेकर भी कोई शक नहीं है. लोगों ने बताया कि वह प्रलोभन देकर पहले लड़कियों को अपने साथ जोड़ता है फिर अपने उस कमरे में, जहां वह अकेले रहता है और गुप्त कैमरे लगा रखे हैं, वहां उनको वह शारीरिक संबंध के लिए राजी करता है. संभव है, जिस कथित लड़की ने यह शिकायती मेल भड़ास4मीडिया के पास भेजा हो, उसके हाथ अन्य लड़कियों के कुछ वीडियो लगे हों और उसमें से किसी एक के कुछ वीडियोज को भड़ास4मीडिया के पास इसलिए भेजा हो ताकि टीवी जर्नलिस्ट द्वारा लड़कियों को फंसाने व शोषण किए जाने की स्टोरी में किसी को कोई शक न हो.

उस वीडियो को हम यहां इसलिए नहीं दिखा रहे हैं क्योंकि उसमें लड़की की पहचान साफ-साफ उजागर हो रही है. वीडियो की कुछ तस्वीरें निगेटिव (invert) फार्मेट में, जिससे किसी शख्स की पहचान उजागर न हो, को अगली पोस्ट में प्रकाशित करने जा रहे हैं. कुछ लोगों का यह भी कहना है कि ये वीडियो दरअसल उसी पत्रकार ने बनाए हैं लेकिन किसी और के हाथ लग जाने से यह मार्केट में लीक होता जा रहा है. संभव है, उस जिले के कुछ ऐसे पत्रकार जो इस आरोपी पत्रकार से खफा हों, बदला चुकाने के लिए पास आए वीडियो को प्रकाशित कराने के लिए खुद नकली पीड़िता बन बैठे हों और भड़ास4मीडिया के पास भेज दिया हो. जाहिर है, उन पत्रकारों को ये तो पता ही होगा कि किस लड़की से इस पत्रकार का झगड़ा हुआ और वो कहां रहती है. तो इनका कहना है कि टीवी पत्रकार स्टिंग का शिकार नहीं हुआ बल्कि लड़कियों का स्टिंग करने वाला पत्रकार खुद अपने ही बनाए वीडियो से बदनामी के दलदल में गोता लगाने जा रहा है.

इस मामले पर आप पाठकों से सलाह चाहेंगे कि क्या लड़कीबाज टीवी जर्नलिस्ट को दोषी मानते हुए उसके नाम व पहचान का खुलासा कर देना चाहिए. वीडियो को भी अपलोड कर देना चाहिए या फिर आरोप लगाने वाली लड़की की पहचान की सत्यता के बाद ही खबर का प्रकाशन करना चाहिए. -यशवंत, एडिटर, भड़ास4मीडिया

….जारी…

इसके आगे के दो पार्ट पढ़ने के लिए क्लिक करें…

पार्ट दो

पार्ट तीन

अपने मोबाइल पर भड़ास की खबरें पाएं. इसके लिए Telegram एप्प इंस्टाल कर यहां क्लिक करें : https://t.me/BhadasMedia

Comments on “लड़कीबाज टीवी पत्रकार स्टिंग का शिकार – (एक)

  • यशवंत जी आपने स्टिंग की सच्चाई पर जो सवाल उठाये हैं वो वो वाजिब हैं , लेकिन साथ में एक बात ये भी साबित हो रही है कि पत्रकार चरित्रहीन है. ऐसे पत्रकार की पहचान को छुपाना मुझे सही नहीं लगता.यदि फूटेज सही हैं , उससे छेड़छाड़ नहीं की गयी है तो लड़की की पहचान को छुपाते हुए चरित्रहीन पत्रकार की पहचान को सार्वजनिक करना चाहिए. ये पत्रकारिता के हित में होगा और समाज के भी हित में. और ये दूसरे ऐसे पत्रकारों के लिए सीख भी होगी.

    Reply
  • CHANDAN SINGH says:

    Yashwant J

    aropi ke video ko blur kar reporter ke face ko flash kare taki koi or ladki es papi ke changul mai na fase…….

    Reply
  • श्रवण कुमार शुक्ल says:

    yaha jo photo diya gaye hai usme se sirf us kathit patrakaar ka chehra dikhaya jana jaruri ho gaya hai..nivedan hai chehra jarur dikhaaye…taaki or log uske jaal me na fase or pulice bhi uske khilaaf kaaryawaahi kare..yaha uski pahchan ko chhipana galat hai..ladki ki pahchaan ko saarvjanik na kare..

    Reply
  • Sushil kumar says:

    mere ko bahut dookh hota hai jab koi media ka person esa karta hai ,main ye kahna chhata hoon ki isko print media or elecronic media main jaroor dikhay or face ke saath dikhay.

    Reply
  • Neeru BHardwaj says:

    mujhe samajh nahi aata ki power milne ke baad koi aadmi yeh kyu bhool jata hai kai wo ek insaan hai aaj media mai jana waise hi hai jaise ki films mai jana media aaj desh ko jagrook banana se jayada glamour world mai chnage ho raha hai,wo jayada log is duniya ko apnana chahte hai or isse ka fayada uttha ki log aise gandi harkat kar jate hai mai sirf itna chahte hu ki har ek jemmader patarkar ko apne jemmedari samajhte hue in sabko rokna chahiye

    Reply
  • Satya Prakash says:

    aisey to bahut se patrakaar hai kuch samney aa rahey hai kuch mauz le rahey hai yeswant ji kuch cheeza aur haio hai jo kabhi milkar batengey. yaha tu kuch patrakaar aiase bhi hai jo sting ke naam par to kuch media ke naam par bach rahey hai insab cheezo ko dekh kar media se bahut dukh hota hai. mera ek dost aya jharkhand se wo bhi journalist hai humlko bahut jidd kar raha tha kji press club me janna hai par jab gaya to bola hai ye press club hai ki beer bar sayad kisi ko bura lagagey par kya karuy likna padd raha hai

    Reply
  • GAURAV GARG says:

    patrkaar toh doshi hai hi lekin woh ladki bhi doshi hai jisne yeh shortcut chuna patrkaar banane ke liye ,isliye aisi ladkiyon ko chahiye ki woh channels or papers se jodne ke liye e pehle videio ki jaanch sirf ya toh study kaare ya phir apne charitar ko upar uthate hue apne par sayam rakhate hue practice kare or is patrkaar par kisi karwahi se pehle is vedio ki jaanch jaroor karwa le kyon ki har jile mein patrkaar ki yeh chaha rahe hai ki yeh patrkaar badnaam ho or iska channel logon ko black mail karne ke liye mujhe mil jaaye

    Reply
  • GAURAV GARG says:

    Patrkaar toh doshi hai hi lekin who ladki usse bhi jayada doshi hai jisne patrkaar banne ke liye yeh short cut rasta chuna ,mein toh yeh sujhaw dena chahoonga patrkaar hone ke naate ki is patrkaar par kisi bhi tarah ki karwahi se pehle us vedio ki jaanch jaroor karwa le ,kyon ki aaj kal hamaari patrkaar biradri hi us khahawat ko sach karne mein jooti hai jisme kaha jata hai ki ( kutta hi kutte ka bairi hai ) who hi aaj kal patrkaron mein hogaya hai … or ladkiyoon se bhi se nivedaan karonga ki who patrkaar banne ke liye is tarah ka shortcut na apnaye[i][/i][i][/i][i][/i]

    Reply
  • Sanjeet Choudhary, Panipat says:

    यशवंत जी किस कानून में लिखा है कि यह गलत है. गलत तो विडियो बनाना है. यह पत्रकार इतना शातिर निकलेगा कि विडियो उपलोड करने वालों को फंसा देगा. इस पत्रकार की कहानी पढ़कर लगता है क़ि इसने घाट-घाट का पानी पिया है. आप इसमें अपने लीगल एड्वईजर से जरूर सलाह लें.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *